सर्वाधिक पढ़ी गईं

महज 10 सेकंड की वीडियो क्लिप 48 करोड़ रुपये में बिकी, जानिए क्या है इसकी खासियत

निवेशकों का रुझान ऐसी चीजों पर खर्च करने को लेकर बढ़ा है जो सिर्फ और सिर्फ ऑनलाइन ही उपलब्ध है और यूनिक है.

March 2, 2021 2:38 PM
10-second video clip sold for 48 crore know here new king of digital asset nft non fungible tokenएनएफटी के एक मार्केटप्लेस ओपनसी के मुताबिक एनएफटी की बिक्री में बढ़ोतरी हो रही है.

दुनिया तेजी से डिजिटाइज हो रही है. इसी क्रम में निवेशकों का रुझान ऐसी चीजों पर खर्च करने को लेकर बढ़ा है जो सिर्फ और सिर्फ ऑनलाइन ही उपलब्ध है और यूनिक है. एक 10 सेकंड की वीडियो क्लिप 66 लाख डॉलर (48.44 करोड़ रुपये) में बिकी है. पिछले साल अक्टूबर 2020 में मियामी के एक आर्ट कलेक्टर पाब्लो रोड्रिगूज फ्रेले ने 10 सेकंड के आर्टवर्क पर 67 हजार डॉलर (49.17 लाख रुपये) खर्च किए और अब उसने इसे पिछले हफ्ते 66 लाख डॉलर (48.44 करोड़ रुपये) में बेच दिया. कंप्यूटर जेनेरेटेड इस वीडियो में डोनाल्ड ट्रंप को जमीन पर गिरते हुए दिखाया गया है और उनके शरीर पर ढेर सारे स्लोगन्स हैं.

इस वीडियो को एक डिजिटल आर्टिस्ट बीपल ने तैयार किया है जिसका वास्तविक नाम माइक विंकलमन है. इस वीडियो को ब्लॉकचेन द्वारा प्रमाणित किया गया जो एक तरह से डिजिटल सिग्नेचर है और प्रमाणित करता है कि इस पर किसका स्वामित्व है और यह किसी की कॉपी नहीं है.

नए प्रकार का डिजिटल एसेट है NFT

यह वीडियो एक नए प्रकार का डिजिटल एसेट है जिसे Non-Fungible Token (NFT) है. ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के जरिए इस प्रकार के एसेट को प्रमाणित किया जाता है कि यह यूनिक है जबकि अन्य प्रकार के ऑनलाइन ऑब्जेक्ट्स को कितनी भी बार तैयार किया जा सकता है. फ्रेले ने इसकी खासियत बताते हुए कहा कि आप मोनालिसा पेंटिंग की तस्वीर खींच सकते हैं लेकिन इसकी कोई वैल्यू नहीं होगी क्योंकि इसमें उसकी उत्पत्ति या वर्क हिस्ट्री नहीं होगी.

नॉन-फंजिबल का मतलब ऐसे एसेट्स से है जिसे एक्सचेंज नहीं किया जा सकता है और हर एसेट अपने-आप में यूनिक है जबकि फंजिबल एसेट्स के तहत डॉलर्स, स्टॉक्स या गोल्ड बार्स को रख सकते हैं. एनएफटी के तहत डिजिटल ऑर्टवर्क्स और स्पोर्ट्स कार्ड्स से लेकर वर्चुअल एनवायरमेंट्स में जमीन के टुकड़े को शामिल किया जाता है. इसके अलावा क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट नाम का एक्सक्लूसिव यूज भी एनएफटी के तहत आता है.

SBI Mega E-Auction: सस्ते में मकान, दुकान, प्लॉट, गाड़ियां खरीदने का मौका; 5 मार्च से मेगा नीलामी

NFT के प्रति बढ़ रहा रूझान

एनएफटी के एक मार्केटप्लेस ओपनसी के मुताबिक एनएफटी की बिक्री में बढ़ोतरी हो रही है और पिछले महीने फरवरी में इसने 8.63 करोड़ डॉलर का भी स्तर पार कर लिया जबकि जनवरी में 8 करोड़ डॉलर (633.32 करोड़ रुपये) मूल्य के एनएफटी की बिक्री हुई थी. एक साल पहले यह आंकड़ा महज 15 लाख डॉलर (11 करोड़ रुपये) का ही था. ओपनसी के को-फाउंडर एलेक्स एटला के मुताबिक अगर आप कंप्यूटर पर 8-10 घंटे हर दिन बिताते हैं तो डिजिटल आर्ट बहुत बड़ी भूमिका में है क्योंकि यह एक पूरा संसार है.

बीपल के एक और आर्ट की हो रही नीलामी

ऑक्शन हाउस क्रिस्टी अपने पहले डिजिटल आर्ट की बिक्री कर रहा है. यह 500 तस्वीरों को एक कोलॉज है और इसे भी बीपल ने तैयार किया है जो एनएफटी के तौर पर एग्जिस्ट करता है यानी कि यह यूनिक है और इसे एक्सचेंज नहीं किया जा सकता है. अब तक इसके लिए 30 लाख डॉलर (22 करोड़ रुपये) तक की बोली लग चुकी है और इसकी बिक्री 11 मार्च को होगी. क्रिस्टी के एक विशेषज्ञ नूह डेविस के मुताबिक नीलामी शुरू होने के शुरुआती 10 मिनट के भीतर ही 21 बिडर्स की तरफ से एक सौ से अधिक बोली लग चुकी है. डेविस के मुताबिक इसके लिए पेमेंट ट्रेडीशनल करेंसी या डिजिटल क्वाइन ईथर में लिया जाएगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. महज 10 सेकंड की वीडियो क्लिप 48 करोड़ रुपये में बिकी, जानिए क्या है इसकी खासियत

Go to Top