सर्वाधिक पढ़ी गईं

Remdesivir के नक्कालों से सावधान! Zydus Cadila की नई पैकिंग कराएगी असली-नकली की पहचान

Zydus Cadila ने जानकारी दी कि उसने क्रिटिकल ड्रग्स की पैकेजिंग में एक नया फीचर जोड़ा है, जिससे यह आसानी से पता चल जाएगा कि खरीदी गई दवा असली है या नहीं.

Updated: May 28, 2021 5:25 PM
Zydus Cadila introduces scratch code in critical drug packs to fight counterfeit menace

कोरोना महामारी के दौरान रेमडेसिविर इंजेक्शन की बहुत किल्लत हुई थी और कुछ आपराधिक तत्वों ने नकली इंजेक्शन के जरिए लोगों को ठगा था. अब दवा कंपनी Zydus Cadila ने रेमडेसिविर समेत अपनी कुछ महत्वपूर्ण दवाओं की पैकेजिंग में एक नया फीचर जोड़ा है, जिससे असली दवा की पहचान करना बेहद आसान हो जाएगा. मरीज या उनके परिजन दवा की पैकिंग के इस फीचर की जांच करके ही जान लेंगे कि उन्होंने जो दवा खरीदी है, वह असली है या नकली.

Zydus Cadila ने अपनी दवाओं की पैकिंग में जोड़े जा रहे इस खास फीचर की जानकारी शुक्रवार 28 मई को दी है. कंपनी ने बताया है कि उसकी बेहद अहम दवाओं Remdac (Remdesivir) और Virafin Injection (Pegylated Interpheron Alpha 2b) की पैंकिंग में इस नई तकनीक का इस्तेमाल किया है. नई खूबियों वाली यह पैकिंग जून के तीसरे हफ्ते तक बाजार में दिखने लगेगी. कंपनी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इस फीचर का इस्तेमाल सिर्फ इन्हीं दोनों दवाइयों के लिए नहीं किया जाएगा, बल्कि कंपनी के अन्य प्रॉडक्ट्स पर भी किया जाएगा.

Infosys के को-फाउंडर शिबूलाल ने इस हफ्ते दूसरी बार बढ़ाई कंपनी में हिस्सेदारी, मई में अब तक पत्नी से खरीदे 400 करोड़ के शेयर्स

इस तरह कर सकेंगे असली दवा की पहचान

कंपनी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इसके लिए एक स्क्रैच कोड बनाया गया है जिस किसी स्क्रैचेबेल सर्फेस पर प्रिंट किया जाएगा. मरीजों के परिजनों को खरीदी गई दवा असली है या नकली, इसका पता लगाने के लिए इस स्क्रैच कोड को खुरचना होगा. इसके बाद उसमें जो कोड मिलेगा, उसे ऐप या वेबसाइट के जरिए वेरिफाई करना होगा. कैडिला हेल्थकेयर के मैनेजिंग डायरेक्टर शर्विल पटेल ने कहा कि दवाइयों को खरीदने के लिए जितनी मेहनत की जाती है, वह उस समय बहुत तकलीफदेह हो जाती है जब पता चलता है कि जो दवा खरीदी गई है, वह नकली है.

1400 वैज्ञानिक समेत 25 हजार कर्मी हैं कैडिला हेल्थकेयर में

पटेल ने कहा कि फर्जी दवाइयां नुकसान भी कर सकती है क्योंकि जरूरी नहीं है कि उससे वांछित परिणाम निकले और कभी-कभी कुछ मरीजों के लिए यह जानलेवा भी साबित हो सकती है. पटेल ने कहा कि इस खतरे को खत्म करने के लिए कंपनी ने एक ऐसा यूजर-फ्रेंडली सॉल्यूशन पेश किया है जिससे आसानी से पता लगाया जा सकेगा कि प्रॉडक्ट जेनुइन और सुरक्षित है.
कैडिला हेल्थकेयर अहमदाबाद स्थित जायडस कैडिल ग्रुप की लिस्टेड कंपनी है, इस कंपनी में दुनिया भर में 25 हजार के करीब कर्मी काम करते हैं जिसमें कंपनी के रिसर्च एंड डेवलपमेंट में कार्यरत 1400 वैज्ञानिक भी शामिल हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Remdesivir के नक्कालों से सावधान! Zydus Cadila की नई पैकिंग कराएगी असली-नकली की पहचान

Go to Top