scorecardresearch

WPI: अगस्त में थोक महंगाई बढ़कर 0.16% हुई, खाने-पीने की चीजों की कीमतें बढ़ी

इससे पहले पिछले लगातार 4 महीनों तक थोक महंगाई नकारात्मक दायरे यानी शून्य से नीचे रही थी.

WPI, wholesale inflation rises 0.16 pc in August; food, manufactured items turn costlier
Image: PTI

Wholesale Inflation: खाद्य और मैन्युफैक्चर्ड आइटम्स महंगे होने से अगस्त में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति (WPI) बढ़कर 0.16 फीसदी पर पहुंच गई. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी बयान में यह जानकारी दी गई है. इससे पहले पिछले लगातार 4 महीनों तक थोक महंगाई नकारात्मक दायरे यानी शून्य से नीचे रही थी. अप्रैल में यह -1.57 फीसदी, मई में -3.37 फीसदी, जून में -1.81 फीसदी और जुलाई में -0.58 फीसदी रही थी.

बयान में कहा गया है कि अगस्त 2020 में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 0.16 फीसदी (अस्थायी) रही है. अगस्त 2019 में यह 1.17 फीसदी थी. अगस्त में खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति 3.84 फीसदी रही. इस दौरान आलू के दाम 82.93 फीसदी बढ़े. सब्जियों की मुद्रास्फीति 7.03 फीसदी रही. इस दौरान प्याज हालांकि 34.48 फीसदी सस्ता हुआ.

घटने लगे पेट्रोल, डीजल के दाम! आज फिर मिली राहत, चेक करें अपने शहर का भाव

1.27% महंगे हुए मैन्युफैक्चर्ड आइटम्स

समीक्षाधीन महीने में ईंधन और बिजली की मुद्रास्फीति घटकर 9.68 फीसदी रह गई. इससे पिछले महीने यानी जुलाई में यह 9.84 फीसदी थी. हालांकि, इस दौरान मैन्युफैक्चर्ड आइटम्स की मुद्रास्फीति बढ़कर 1.27 फीसदी हो गई, जो जुलाई में 0.51 फीसदी थी. भारतीय रिजर्व बैंक ने पिछले महीने मौद्रिक समीक्षा में मुद्रास्फीति के ऊपर की ओर जाने के जोखिम की वजह से नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं किया था. RBI ने अक्टूबर-मार्च अवधि में महंगाई का रुख नरम रहने का अनुमान दिया है.

खुदरा महंगाई में मिलेगी राहत या लगेगा झटका

खुदरा महंगाई दर के भी आंकड़े आज जारी होंगे. SBI की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अगस्त में खुदरा महंगाई दर का आंकड़ा 7 फीसदी के पार भी जा सकता है और यह अब दिसंबर के बाद ही चार फीसदी से नीचे आएगी. वहीं देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) के वी सुब्रमण्यम ने भरोसा जताया है कि लॉकडाउन में ढील के बाद आगामी दिनों में खुदरा मुद्रास्फीति नीचे आएगी. आपूर्ति की दिक्कतों की वजह से मुद्रास्फीति बढ़ी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News