सर्वाधिक पढ़ी गईं

कोरोना से जंग: ब्रिटेन से भारत पहुंचा वेंटीलेटर और Oxygen Concentrator, इन देशों ने भी शुरू की मदद

देश के कई हिस्सों में ऑक्सीजन और वेंटिलेटर बेड की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में दुनिया के कई देश भारत की मदद को सामने आए हैं.

Updated: Apr 27, 2021 1:40 PM
world countries with india in this covid pandemic time oxygen supply crisis time us germany russia china pakistan etc offers help know here in detailsब्रिटेन से आज सुबह 100 वेंटिलेटर्स और 95 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स भारत पहुंचा. (Image- ANI)

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अधिक खतरनाक साबित हो रही है. हर दिन रिकॉर्ड संख्या में नए केसेज सामने आ रहे हैं. इसके अलावा देश के कई हिस्सों में ऑक्सीजन और वेंटिलेटर बेड की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में दुनिया के कई देश भारत की मदद को सामने आए हैं. इसी कड़ी में आज मंगलवार 27 अप्रैल की सुबह ब्रिटेन से मेडिकल सप्लाई भारत पहुंचा है. Lufthansa फ्लाईट मंगलवार की सुबह 100 वेंटिलेटर्स और 95 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स लेकर भारत पहुंचा है. विदेशी मामलों के मंत्रालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. ऐसे मुश्किल समय में भारत की मदद करने के लिए अमेरिका, सऊदी अरब, रूस, ऑस्ट्रेलिया आगे आए हैं.

कोरोना का खौफ: ऑस्ट्रेलिया ने 15 मई तक भारत से फ्लाइट पर लगाई रोक, ये देश भी लगा चुके हैं पाबंदी

इन देशों ने मुश्किल हालात में भारत को दिया सहारा

  • ब्रिटेन से Lufthansa फ्लाईट मंगलवार की सुबह 100 वेंटिलेटर्स और 95 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स लेकर भारत पहुंचा है.
  • अमेरिका ने वैक्सीन के निर्माण के लिए कच्चे माल के निर्यात पर पाबंदी हटा दिया है. कच्चे माल की किल्लत के चलते वैक्सीन की उपलब्धता पर संकट के बादल मंडरा रहे थे. अब उम्मीद जताई जा रही है कि 1 मई से युवाओं को भी वैक्सीनेशन कार्यक्रम से जोड़ने पर जल्द ही महामारी पर अंकुश लगाया जा सकेगा क्योंकि कच्चा माल मिलने पर वैक्सीन उपलब्ध हो सकेगा. इसके अलावा सोमवार 26 अप्रैल को अमेरिका से 318 ऑक्सीजन कंसेट्रेटर्स भारत पहुंच चुका है.
  • ऑस्ट्रेलिया ने एक दिन पहले भारत को तत्काल सहायता के रूप में ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और पीपीई किट भेजने की बात कही है.
    फ्रांस ने भी सोमवार 26 अप्रैल को भारत के मदद की पेशकश की है. फ्रेंच मिनिस्ट्री फॉर यूरोप एंड फॉरेन अफेयर्स भारतीयों के लिए एक सॉलिडेरिटी मिशन भेजेगा. फ्रांस भारत में 8 उच्च क्षमता के ऑक्सीजन जेनेरेटर्स, 5 दिन के लिए 2 हजार मरीजों के लिए लिक्विड ऑक्सीजन और 28 वेंटिलेटर्स भेजेगा.
  • सऊदी अरब से भारत को 80 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है. यह ऑक्सीजन अडाणी समूह और लिंडे कंपनी के सहयोग से भारत में शिपमेंट हो रही है. इसके अलावा 4 क्रॉयोजेनिक टैंक भी आ रहे हैं. लिंडे कंपनी भारत को जल्द ही 5 हजार ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध कराएगी.
  • हर मुश्किल समय में भारत के साथ खड़े रहने वाले रूस ने भी भारत की मदद की पेशकश की है. रूस से ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स और ऑक्सीजन टैंक की आपूर्ति हो सकती है.
  • दक्षिण एशिया में भारत के मुख्य प्रतिद्वंद्वी देश चीन ने भी भारत को मदद की पेशकश की है. चीन भारत को मेडिकल सप्लाई करने के लिए तैयार है. श्रीलंका में चीनी एंबेसी द्वारा जारी ट्वीट के मुताबिक दो दिन पहले 25 अप्रैल को हांगकांग से नई दिल्ली के लिए 800 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स एयरलिफ्ट किया गया. इसके अलावा एक हफ्ते में 10 हजार ऑक्सीजन कंसेट्रेटर्स और भेजने की तैयारी हो रही है. भारत की किसी भी आपात जरूरत के लिए चीन संपर्क बनाए हुए है.
  • जर्मनी भी ऐसे समय में भारत को मोबाइल ऑक्सीजन जेनेरेटर और अन्य मेडिकल सप्लाई भेजने की तैयारी में है.
  • सिंगापुर ने भारत को 500 बाईपैप्स, 250 ऑक्सीजन कंसेट्रेटर और अन्य मेडिकल सप्लाई भेजा है जो सोमवार 26 अप्रैल को भारत पहुंच गया.
  • संयुक्त अरब अमीरात ने भारत की मदद के लिए उच्च क्षमता के क्रॉयोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर भेजे हैं.
  • भारत के एक और पड़ोसी देश पाकिस्तान ने ऐसे समय में भारत के मदद की पेशकश की है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ट्वीट कर कहा कि उसने आधिकारिक तौर पर भारत को मदद की पेशकश की है. इसके तहत पाकिस्तान भारत को वेंटिलेटर्स, बाईपैप, डिजिटल एक्स-रे मशीन्स, पीपीई और अन्य संबंधित चीजें भेज सकता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कोरोना से जंग: ब्रिटेन से भारत पहुंचा वेंटीलेटर और Oxygen Concentrator, इन देशों ने भी शुरू की मदद

Go to Top