सर्वाधिक पढ़ी गईं

क्या RBI लगातार छठवीं बार घटाएगा ब्याज दरें? जानिए क्या कहते हैं अर्थशास्त्री

आइए जानते हैं कि अर्थशास्त्री आरबीआई की इस मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक से क्या उम्मीदें कर रहे हैं.

Updated: Dec 04, 2019 11:47 PM
will reserve bank of india cut repo rate for sixth time in a row know what economists say about rate cutआइए जानते हैं कि अर्थशास्त्री आरबीआई की इस मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक से क्या उम्मीदें कर रहे हैं.

रिजर्व बैंक की तीन दिन की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक ब्याज दर में कटौती की उम्मीदों के बीच चल रही है. यह बैठक उस समय जारी है जब अर्थव्यवस्था घरेलू और विदेशी दोनों चिंताओं की वजह से सुस्ती के दौर से गुजर रही है. रॉयटर्स के 70 अर्थशास्त्री के सर्वे में RBI की रेपो रेट में 25 बेसिस प्वॉइंट्स की कटौती का अनुमान लगाया गया है. वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही में जीडीपी गिरकर 4.5 फीसदी पर पहुंच गई है.

अक्टूबर में हुई नीति की समीक्षा में RBI ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिये भारत का ग्रोथ अनुमान 80 बेसिस प्वॉइंट्स घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया था. लेकिन ज्यादातर अर्थशास्त्रियों का मानना है कि इस बार इसमें और अधिक गिरावट की जाएगी क्योंकि आर्थिक मोर्चे पर चिंताएं बढ़ रही हैं. आइए जानते हैं कि अर्थशास्त्री RBI की इस मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक से क्या उम्मीदें कर रहे हैं…

ICRA

ICRA की प्रिंसिपल इकोनॉमिस्ट अदिति नैयर के मुताबिक कमेटी अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा में आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिये 25 बेसिस प्वॉइंट्स की कटौती कर सकती है. उनके मुताबिक अक्टूबर में खुदरा महंगाई दर में बढ़ोतरी पर भी आरबीआई की नजर है.

कोटक महिंद्रा AMC

कोटक महिंद्रा बैंक एसेट मैनेजमेंट कंपनी के लक्ष्मी अय्यर के मुताबिक मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक एक रोचक समय पर हो रही है जब खुदरा महंगाई दर बढ़ रही है और जीडीपी घट रही है. इस बीच में RBI द्वारा ब्याज दर में कटौती की उम्मीद है.

केयर रेटिंग

केयर रेटिंग्स के चीफ इकोनॉमिस्ट Madan Sabnavism ने कहा कि उनका मानना कि दिसंबर की बैठक में ब्याज दर में कटौती नहीं होनी चाहिये. हालांकि, ग्रोथ के अनुमान ज्यादा होने की वजह से इस बार भी 25 बेसिस प्वॉइंट्स की कटौती होने का अनुमान है. अर्थव्यवस्था में सुस्ती को देखते हुए RBI यह कर सकता है.

Indian Railways: रेलवे सिर्फ इन 2 क्लास के टिकट बेचकर कमा रही है मुनाफा

कोटक महिंद्रा बैंक

कोटक महंद्रा बैंक के कंज्यूमर बैंकिंग में प्रेजिडेंट Shanti Ekambaram ने कहा कि अक्टूबर में रिटेल महंगाई में बढ़ोतरी ने रिजर्व बैंक के टारगेट को पीछे छोड़ दिया और जीडीपी भी 6 साल में सबसे कम रही. इसके साथ ही सितंबर का IIP डेटा लगभग आठ साल के न्यूनतम स्तर पर आ गया. इन वजहों से आरबीआई के ब्याज दरों में 25 बेसिस प्वॉइंट्स तक की कटौती करने की उम्मीद है. उनके मुताबिक उन्हें उम्मीद है कि सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे सेक्टर्स में अपने खर्च को बढ़ाएगी. उन्होंने कहा कि आर्थिक विकास के लिये राजकोष और मॉनेटरी पॉलिसी के साथ में काम करने की जरूरत है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. क्या RBI लगातार छठवीं बार घटाएगा ब्याज दरें? जानिए क्या कहते हैं अर्थशास्त्री

Go to Top