मुख्य समाचार:

कौन हैं सीआर पाटिल? गुजरात बीजेपी अध्यक्ष पद की मिली जिम्मेदारी

CR Patil Gujarat BJP President: पाटिल नवसारी से तीसरी बार सांसद बने हैं.

Updated: Jul 20, 2020 6:25 PM
CR Patil, new BJP Gujarat Presidentसीआर पाटिल ने नवसारी लोकसभा सीट से सबसे बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी.

Who is C.R. Patil? भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने सोमवार को लोकसभा सांसद चंद्रकांत रघुनाथ (सीआर) पाटिल को गुजरात का पार्टी अध्यक्ष नियुक्त किया है. पाटिल नवसारी से तीसरी बार सांसद बने हैं. वे प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर जीतूभाई वाघाणी की जगह लेंगे, जिनका तीन साल का कार्यकाल पिछले साल ही समाप्त हो गया था. तभी से पार्टी नए अध्यक्ष की तलाश कर रही थी. पाटिल को पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह का करीबी माना जाता है.

तकनीक का इस्तेमाल करने में माहिर

65 वर्षीय पाटिल एक प्रभावकारी सांसद के रूप में माने जाते हैं. अपने संसदीय क्षेत्र में विकास के कार्यों को प्रमोट करने के लिए तकनीक का इस्तेमाल करने में माहिर है. इसके जरिए वो मतदाताओं तक आसानी से पहुंच बनाते हैं. पाटिल ऐसे इकलौते सांसद हैं, जिनका ऑफिस 2015 में ही आईएसओ: 2009 से प्रमाणित है. यह प्रमाणपत्र उन्हें सरकारी सुविधाओं के बेहतर प्रबंधन और निगरानी के लिए दिया गया.

सीआर पाटिल ने नवसारी लोकसभा सीट से सबसे बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी. उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी को 6.89 लाख वोटों से मात दी थी. गुजरात में आने वाले दिनों में 8 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं. ऐसे में बतौर प्रदेश अध्यक्ष पाटिल के सामने यह पहली चुनौती होगी.

वाराणसी में पीएम के चुनाव में रहा अहम रोल

सीआर पाटिल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पसंदीदा नेताओं में से हैं. पीएम ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी समन्वय की जिम्मेदारी पाटिल को ही सौंपी थी. वे वाराणसी में प्रधानमंत्री के चुनाव की ये जिम्मेदारी भी उठा चुके हैं. अहम बात यह है कि सीआर पाटिल गैर पाटीदार नेता हैं. पाटिल दो बार अपना चुनाव 5 लाख से ज्यादा मतों से जीत चुके हैं.

पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के गृह नगर में सर्वाधिक मतों के जीत का आंकड़ा है.  पाटिल का जन्म महाराष्ट्र के जलगांव में हुआ. उन्होंने आईटीआई, सूरत से टेक्निकल ट्रेनिंग हासिल की. 1989 में राजनीति में आने से पहले कृषि और कारोबार में सक्रिय रहे.

नामग्याल बने लद्दाख इकाई के अध्यक्ष

बीजेपी ने पार्टी सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल को लद्दाख इकाई का अध्यक्ष बनाया है. तीस वर्षीय नामग्याल पहली बार लद्दाख से चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे हैं. जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त करने संबंधित प्रस्ताव पर चर्चा के समय उन्होंने लोकसभा में प्रभावकारी ढंग से अपनी बात रखी थी. संसद में उनके प्रभावकारी भाषण की काफी चर्चा रही.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कौन हैं सीआर पाटिल? गुजरात बीजेपी अध्यक्ष पद की मिली जिम्मेदारी

Go to Top