मुख्य समाचार:
  1. कैश की कमी नहीं, कुछ जगहों पर मांग बढ़ जाने से दिक्कत आई: अरुण जेटली

कैश की कमी नहीं, कुछ जगहों पर मांग बढ़ जाने से दिक्कत आई: अरुण जेटली

कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के साथ दिल्ली के कुछ क्षेत्रों में भी एटीएम में कैश न होने की बात सामने आ रही है.

April 17, 2018 1:37 PM
cash crunch, cash crisis in india, silent demonetisation, narendra modi, when will cash crunch end, atm near me, how to know atm is with cash or not कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के साथ दिल्ली के कुछ क्षेत्रों में भी एटीएम में कैश न होने की बात सामने आ रही है.

एटीएम में कैश की किल्लत की रिपोर्ट कई जगहों से आ रही है. एएनआई के रिपोर्ट मुताबिक मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पिछले 15 दिनों से कैश को लेकर दिक्कतें आ रही हैं. बनारस में भी कैश की दिक्कत आ रही है, लोगों का कहना है कि, “उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि कैश की दिक्कत क्यों हो रही है.”

कैश की किल्लत की रिपोर्ट कई राज्यों से आ रही है. कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के साथ दिल्ली के कुछ क्षेत्रों में भी एटीएम में कैश न होने की बात सामने आ रही है. ट्विटर पर लोग कैश को लेकर हो रही दिक्कत को नोटबंदी 2.0 भी कह रहे हैं तो कुछ लोग डिमोनेटाईजेशन साइलेंट भी कह रहे हैं.

सरकार का क्या कहना है?

वित्त राज्यमंत्री एसपी शुक्ल ने कहा है कि. “3 दिन में कैश की दिक्कत दूर हो सकती है. उन्होंने कहा कि सरकार के पास अभी करीब 1.25 करोड़ रुपए की कैश करंसी पड़ी हुई है, लेकिन किसी राज्य में कैश कम है और किसी राज्य में ज्यादा है. सरकार ने कैश को एक राज्य से दूसरे राज्य में ट्रांसफर करने के लिए समिति का गठन किया है और कैश का ट्रांसफर 3 दिन में पूरा हो जाएगा.”

ट्वीट देखिए.

कांग्रेस पार्टी ने ट्वीट करके लोगों से पूछा है कि, समाचार रिपोर्टों का कहना है कि देश भर में एटीएम में नकद की कमी चल रहा है. क्या यह सिर्फ मोदी सरकार द्वारा कुप्रबंधन है या यह जानबूझकर उठाया गया कदम है? ट्वीट देखिए.

कैश के किल्लत को लेकर केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट करके कहा कि, “मैंने देश की कैश समस्या की समीक्षा की है. बाज़ार और बैंकों में पर्याप्त मात्रा में कैश मौजूद है. जो एकाएक दिक्कतें सामने आई हैं वो इसलिए है क्योंकि कुछ जगहों पर अचानक कैश की मांग बढ़ी है. कमी को जल्दी से निपटाने की कोशिश की जा रही है.”

  1. No Comments.

Go to Top