मुख्य समाचार:
  1. Vande Bharat Express: दिल्ली-अमृतसर के बीच चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस की अगली ट्रेन

Vande Bharat Express: दिल्ली-अमृतसर के बीच चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस की अगली ट्रेन

Vande Bharat Express: फिलहाल नई रैक का इस्तेमाल दिल्ली-वाराणसी के बीच चल रही पहली वंदे भारत की स्पेयर रैक के तौर पर किया जाएगा.

May 25, 2019 5:22 PM
Vande Bharat Express new rake to operate on Delhi-Amritsar route Indian Railways modifies Train 18वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन दिल्ली से वाराणसी का सफर 8 घंटे में पूरा करती है.

Vande Bharat Express: देश की पहली हाई स्पीड बिना इंजन की ट्रेन 18-‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ की दूसरी खेप दिल्ली से अमृतसर के बीच चल सकती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वंदे भारत एक्सप्रेस’ की दूसरी रैक चेन्नई के इंटीग्रल कोच फैक्टरी (ICF) से दिल्ली पहुंच चुकी है. आईसीएफ में ही वंदे भारत एक्सप्रेस का निर्माण हुआ है. जब तक इस नई ट्रेन को दिल्ली और अमृतसर के बीच में नहीं चलाया जाएगा तब तक इसका उपयोग दिल्ली-वाराणसी के बीच चल रही पहली वंदे भारत की स्पेयर खेप के तौर पर किया जाएगा. बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने फरवरी में मेक इन इंडिया के तहत वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन किया था.

Vande bharat express: फिलहाल स्पेयर की तरह होगी इस्तेमाल

वंदे भारत एक्सप्रेस की इस खेप को तुगलकाबाद स्टेशन पर रखा गया है. इस खेप में कई बदलाव किए गए हैं इसलिए इसे नियमित रूप से चलाने का फैसला परीक्षण संचालनों के बाद किया जाएगा. रेलवे बोर्ड के अधिकारी इस खेप के रूट को लेकर किसी भी तरह का बयान देने से बच रहे हैं. उनके मुताबिक फिलहाल इसका उपयोग मौजूदा वंदे भारत के स्पेयर खेप के रूप में ही किया जाएगा. हालांकि, एक वरिष्ठ अधिकारी की मानें तो इसका इस्तेमाल दिल्ली-अमृतसर मार्ग पर नई वंदे भारत एक्सप्रेस के रूप में किया जाएगा.

Vande bharat express/Train 18 : नई ट्रेन में क्या होगा खास?

नई वंदे भारत एक्सप्रेस की खिड़की में स्पेशल कांच लगाया जाएगा जो जल्दी से टूट ना सके. हाल ही में दिल्ली से वाराणसी के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस पर पत्थर बरसाने की खबरें आई थी जिसके कारण ट्रेन के कांच की खिड़कियां टूट गई थी. नई वंदे भारत में पहले के मुकाबले बड़ी पैंट्री होगी क्योंकि यह ट्रेन अब लंबे रास्तों पर भी चल सकती है. ऐसे में यात्रियों को दो बार खाना देना होगा जिस वजह से पेंट्री में ज्यादा जगह की जरूरत पड़ेगी. इसकी इलेक्ट्रिक वायरिंग भी पहले के मुकाबले ज्यादा तापरोधी है. वॉशबेसिन और बॉटल होल्डर की डिजाइन को भी अधिक सुविधाजनक बनाया गया है.

वंदे भारत की खासियत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 फरवरी 2019 को भारत की पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) -Train18- को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था. यह ट्रेन दिल्ली से वाराणसी का सफर 8 घंटे में पूरा करती है. मेक इन इंडिया के तहत बनी यह ट्रेन देश की पहली इंजनलेस ट्रेन है और हफ्ते में 5 दिन चलती है. दिल्ली से वाराणसी जाने वाली इस ट्रेन की रफ्तार 160kmph है. 16 कोच वाली इस ट्रेन को केवल 18 महीनों में चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री ने तैयार किया है. इसकी लागत 97 करोड़ रुपये आई थी.

(स्टोरी – निकिता प्रसाद)

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop