सर्वाधिक पढ़ी गईं

दूसरी लहर के चलते घटे रोजगार, 11 महीने बाद मई 2021 में दोहरे अंकों में पहुंची बेरोजगारी दर

पिछले साल अप्रैल, मई और जून 2020 को छोड़कर जनवरी 2016 के बाद से कभी भी किसी महीने में बेरोजगारी दर दोहरे अंकों में नहीं रही थी.

June 2, 2021 8:20 AM
Unemployment rate soars in May 10 million jobs seen lost in the monthदूसरी लहर के चलते पिछले महीने मई 2021 में बेरोजगारी दर 11.9 फीसदी हो गई जबकि उसके पिछले महीने अप्रैल 2021 में यह 7.97 फीसदी पर थी.

कोरोना की दूसरी लहर अधिक खतरनाक साबित हो रही है और इसके चलते बेरोजगारी की दर में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है. दूसरी लहर के चलते पिछले महीने मई 2021 में बेरोजगारी दर 11.9 फीसदी हो गई जबकि उसके पिछले महीने अप्रैल 2021 में यह 7.97 फीसदी पर थी. इसके पहले बेरोजगारी दर पिछले साल जून 2020 में दोहरे अंकों में थी जब यह दर 10.18 फीसदी पर थी. सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) के आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल अप्रैल, मई और जून 2020 को छोड़कर जनवरी 2016 के बाद से कभी भी किसी महीने में बेरोजगारी दर दोहरे अंकों में नहीं रही थी.

पिछले साल अप्रैल में कोरोना महामारी के चलते देश भर में लगाए गए लॉकडाउन के दौरान सबसे अधिक बेरोजगारी दर थी जब इसकी दर 23.52 फीसदी थी. हालांकि इसके बाद इस दर में अगले ही महीने से गिरावट आने लगी और मई 2020 में देश की बेरोजगारी दर 21.73 फीसदी पर पहुंच गई. सीएमआईई के मुताबिक शहरी बेरोजगारी दर मई 2021 में 14.73 फीसदी पर पहुंच गई जो कि मई 2020 में 23.14 के बाद से सबसे अधिक है. इसके अलावा पिछले महीने गांवों में भी बेरोजगारी दर 10.63 फीसदी पर थी जो कि पिछले साल मई 2020 में 21.11 फीसदी के बाद से सबसे अधिक है.

Auto Sales: मई में सभी बड़ी कार कंपनियों की बिक्री में भारी गिरावट, कोविड-19 की दूसरी लहर वजह

संक्रमित होने के डर और लचर वैक्सीनेशन के चलते बढ़ी दर

सूत्रों के मुताबिक संक्रमित होने का डर और लचर वैक्सीनेशन के चलते कई कर्मियों के मन में काम को लेकर डर बढ़ा जिसके चलते लेबर फोर्स पार्टिसिपेशन रेट (LFPR) में गिरावट आई. एलएफपीआर किसी खास आयु-वर्ग के लोगों द्वारा काम करने वाले या सक्रिय रूप से काम की तलाश कर रहे लोगों और उस खास आयु-वर्ग की कुल जनसंख्या का अनुपात है. इस रेट में आमतौर पर 15 वर्ष और इससे ऊपर के लोगों को शामिल किया जाता है. वहीं बेरोजगारी दर सक्रिय रूप से काम की तलाश कर रहे बेरोजगारों और कुल श्रमिक बल (लेबर फोर्स) के बीच का अनुपात है.

जनवरी 2021 से ही रोजगार में आ रही गिरावट

सीएमआईई के एमडी और सीईओ महेश व्यास ने हाल ही लिखा था कि मई 2021 में लगातार रोजगार में गिरावट रही. अप्रैल 2021 में रोजगार दर 36.8 फीसदी था, जबकि 30 दिनों का मूविंग एवरेज एंप्लॉयमेंट रेट 23 मई तक लुढ़ककर 35.8 फीसदी रह गया यानी 1 फीसदी की गिरावट हुई जिसका मतलब है कि रोजगार में 1 करोड़ की कमी आई. इसकी तुलना में अप्रैल में 73.5 लाख रोजगार कम हुए थे. व्यास के मुताबिक इस साल जनवरी 2021 से ही रोजगार में गिरावट आ रही है. मई 2021 में भी ऐसी ही गिरावट देखने को मिल सकती है.
(Article: Surya Sarathi Ray)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. दूसरी लहर के चलते घटे रोजगार, 11 महीने बाद मई 2021 में दोहरे अंकों में पहुंची बेरोजगारी दर

Go to Top