सर्वाधिक पढ़ी गईं

ASEAN-India समिट में PM मोदी: समुद्री सुरक्षा और जल आधारित अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के काफी अवसर

कारोबार के लिहाज से भारत में अब कई अवसर और सुविधाएं- PM

Updated: Nov 03, 2019 4:05 PM

This is the best time to be in India: PM narendra modi to investors in bangkok

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दक्षिण पूर्व एशियाई राष्ट्रों (ASEAN) के साथ भारत के बहु क्षेत्रीय संबंधों के विस्तार की रूपरेखा पेश की. आसियान को वैश्विक स्तर पर व्यापार और निवेश का प्रभावशाली समूह माना जाता है. भारत-आसियान शिखर बैठक में अपने उद्घाटन संबोधन में मोदी ने कहा कि भारत और दस देशों के ब्लॉक के बीच जमीनी, हवाई और समुद्री संपर्क बढ़ाने से क्षेत्रीय व्यापार और आर्थिक वृद्धि को उल्लेखनीय रूप से बढ़ाया जा सकेगा.

आसियान के दस देशों में इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलिपींस, सिंगाुपर, थाइलैंड, ब्रुनेई, वियतनाम, लाओस, म्यामां और कंबोडिया शामिल हैं. मोदी ने कहा कि समुद्री सुरक्षा और जल आधारित अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के काफी अवसर हैं. इसके अलावा भारत और आसियान कृषि, इंजीनियरिंग, डिजिटल प्रौद्योगिकी और वैज्ञानिक अनुसंधान के क्षेत्र में भी सहयोग का विस्तार कर सकते हैं. प्रधानमंत्री ने भारत और आसियान के बीच हिंद प्रशांत क्षेत्र में विचारों के मेल का स्वागत किया.

एक्ट ईस्ट पॉलिसी हमारे हिंद-प्रशांत दृष्टिकोण का महत्वपूर्ण हिस्सा: PM

मोदी ने आसियान देशों के नेताओं की उपस्थिति में कहा, ‘‘भारत की एक्ट ईस्ट पॉलिसी हमारे हिंद-प्रशांत दृष्टिकोण का महत्वपूर्ण हिस्सा है. आसियान इसका मुख्य हिस्सा है. एकीकृत और आर्थिक रूप से गतिशील आसियान भारत के हित में है.’’ दस देशों का आसियान समूह क्षेत्र के प्रभावशाली समूहों में से है. भारत और कई अन्य देश मसलन अमेरिका, चीन, जापान और आस्ट्रेलिया इसके वार्ता भागीदार हैं.

17 साल में भारत को आसियान से 70 अरब डॉलर का निवेश

भारत और आसियान के संबंध लगातार मजबूत हो रहे हैं. भारत को जोड़कर आसियान क्षेत्र की आबादी 1.85 अरब की है. यह दुनिया की आबादी का करीब 25 प्रतिशत बैठता है. इनका सामूहिक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) अनुमानत: 3,800 अरब डॉलर है. पिछले 17 साल में भारत को आसियान से करीब 70 अरब डॉलर का निवेश मिला है. देश में आए कुल प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का यह 17 प्रतिशत बैठता है.

भारत में निवेश के लिए अभी सबसे अच्छा समय

PM मोदी थाइलैंड की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं. वह शनिवार को आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए बैंकॉक पहुंचे. ASEAN-India समिट से इतर पीएम मोदी ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो से द्विपक्षीय वार्ता भी की. समिट से पहले PM मोदी ने आदित्य बिड़ला ग्रुप की थाइलैंड में मौजूदगी की गोल्डन जुबली होने के चलते आयोजित एक कार्यक्रम में बैंकॉक में निवशकों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत में निवेश के लिए अभी सबसे अच्छा समय है. उन्होंने निवेशकों से कहा, ‘‘भारत बदलाव के दौर से गुजर रहा है. देश ने नियमित और नौकरशाही वाली शैली में काम करना बंद कर दिया है. कारोबार के लिहाज से भारत में अब कई अवसर और सुविधाएं हैं.’’

प्रधानमंत्री ने निवेशकों को भारत में निवेश के लिए प्रोत्साहित करते हुए कहा कि भारत में निवेश के लिए यह सबसे बेहतर समय है. उन्होंने कहा, ‘‘निवेश के लिए भारत अब दुनिया की सबसे आकर्षक अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. भारत में व्यापार करना अब पहले से कहीं अधिक सुगम हो गया है.’’

करदाताओं के योगदान की सराहना

पीएम मने भारत में करदाताओं के महत्व को रेखांकित करते हुए उनके योगदान की भी सराहना की. उन्होंने कहा, ‘‘आज के भारत में परिश्रमी करदाताओं के योगदान को सराहा जाता है. एक क्षेत्र जहां हमने महत्वपूर्ण काम किया है वह है कराधान. भारत में सबसे अच्छी लोक अनुकूल कर व्यवस्था है.’’ उन्होंने कर व्यवस्था में किसी गड़बड़ी को रोकने और पारदर्शिता लाने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों का जिक्र किया.

फेसलेस टैक्स असेसमेंट हो रहा शुरू

पीएम ने कहा, ‘‘हम अब ‘फेसलेस’ टैक्स असेसमेंट शुरू कर रहे हैं, जिससे किसी तरह के उत्पीड़न या गड़बड़ी की गुंजाइश नहीं होगी.’’ बता दें कि फेसलेस टैक्स असेसमेंट में जांच के दायरे में आए करदाता और कर (असेसमेंट) अधिकारियों का आमना-सामना नहीं होता.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. ASEAN-India समिट में PM मोदी: समुद्री सुरक्षा और जल आधारित अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के काफी अवसर

Go to Top