मुख्य समाचार:

अब 10 साल से कम सर्विस वाले सैनिकों को भी मिलेगी इनवैलिड पेंशन, केन्द्र सरकार ने बदला नियम

अभी सशस्त्र सेना के उन जवानों को इनवैलिड पेंशन दिए जाने का प्रावधान है, जिन्होंने 10 साल से अधिक की सेवा दी हो और जो किन्हीं ऐसे कारणों से आगे सैन्य सेवा के लिए अमान्य करार दिए जा चुके हैं जो सैन्य सेवा से संबद्ध नहीं हैं.

Updated: Jul 16, 2020 12:27 PM
The defence ministry has allowed invalid pension to those armed forces personnel who have less than 10 years of qualifying service10 साल से कम सेवा वाले सैनिकों को अभी केवल इनवैलिड ग्रेच्युटी मिलती है. Image: PTI

रक्षा मंत्रालय ने सशस्त्र सेना के उन जवानों को भी अशक्त पेंशन invalid pension देने की अनुमति दे दी है, जिन्होंने 10 साल से कम सेवा दी है. अभी सशस्त्र सेना के उन जवानों को इनवैलिड पेंशन दिए जाने का प्रावधान है, जिन्होंने 10 साल से अधिक की सेवा दी हो और जो किन्हीं ऐसे कारणों से आगे सैन्य सेवा के लिए अमान्य करार दिए जा चुके हैं जो सैन्य सेवा से संबद्ध नहीं हैं. 10 साल से कम सेवा वाले सैनिकों को अभी केवल इनवैलिड ग्रेच्युटी मिलती है.

मंत्रालय की ओर से कहा गया कि सरकार ने सशस्त्र सेना में दस साल से कम सेवा देने वाले जवानों को भी इनवैलिड पेंशन देने का फैसला किया है. आगे कहा गया कि ऐसे सैनिक, जिनकी सेवा 10 साल से कम की है और जिनके जख्मी होने या मानसिक कमजोरी के कारण उनकी सेवा आगे नहीं बढ़ाई गई हो या अमान्य किए गए हों और जिस कारण उसे स्थायी रूप से सैन्य सेवाओं एवं असैन्य पुनर्नियुक्ति से हटा दिया गया है, उन्हें इस फैसले से लाभ मिलेगा. मंत्रालय ने कहा है कि रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. इस फैसले का लाभ उन सभी जवानों को मिलेगा, जो 4 जनवरी 2019 या उसके बाद सशस्त्र सेना में सेवा में थे.

देश में 18 साल बाद ट्रेड सरप्लस, एक्सपोर्ट-इंपोर्ट दोनों में लगातार चौथे माह गिरावट

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. अब 10 साल से कम सर्विस वाले सैनिकों को भी मिलेगी इनवैलिड पेंशन, केन्द्र सरकार ने बदला नियम

Go to Top