सर्वाधिक पढ़ी गईं

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के निर्माण का रास्ता साफ, सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई हरी झंडी

सुप्रीम कोर्ट ने महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के लिए रास्ता साफ कर दिया है.

January 5, 2021 5:12 PM
supreme court gives green signal to central vista project allows constructionसुप्रीम कोर्ट ने महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के लिए रास्ता साफ कर दिया है.

Central Vista Project: सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के लिए रास्ता साफ कर दिया है. इसमें लुटियंस दिल्ली का राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक का रास्ता शामिल है. शीर्ष अदालत ने पर्यावरण में मंजूरी और भूमि के इस्तेमाल के नोटिफिकेशन को बरकरार रखा है. सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का सितंबर 2019 में एलान किया गया था. इसमें नया संसद भवन शामिल है, जिसमें 900 से 1200 सांसदों के बैठने की क्षमता है और इसका निर्माण अगस्त 2022 तक किया जाना है, जब भारत अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाएगा.

तीन जज की बेंच ने बहुमत से सुनाया फैसला

प्रोजेक्ट के तहत, 2024 तक एक कॉमन केंद्रीय सचिवालय भी बनाया जाना है. जस्टिस ए एम खानविलकर तीन जज की बेंच ने यह फैसला एक के मुकाबले दो की बहुमत से लिया. बेंच ने माना कि पर्यावरण की मंजूरी और प्रोजेक्ट के लिए भूमि के इस्तेमाल में बदलाव का नोटिफिकेशन मान्य था. जस्टिस खानविलकर ने अपने खुद और जस्टिस महेश्वरी के लिए फैसला लिखते हुए कहा यह भी निर्देश दिया कि प्रोजेक्ट के लिए स्मॉग टावर स्थापित करने और निर्माण की जगह पर एंटी स्मॉग गन का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया है.

बेंच में तीसरे जज जस्टिस संजीव खन्ना ने भूमि का इस्तेमाल बदलने और प्रोजेक्ट के लिए पर्यावरण की मंजूरी पर फैसले में असहमति जताई. बहुमत के फैसले में शीर्ष अदालत ने कहा कि नई जगहों पर निर्माण शुरू करने से पहले हेरिटेज कंजर्वेशन कमेटी और दूसरी उपयुक्त अथॉरिटी से पहले मंजूरी लेनी होगी.

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी! 6 जनवरी से शुरू हो रही हैं कई रेलगाड़ियां, चेक कर लें अपना रूट

नए संसद भवन का निर्माण शुरू

भूमि के इस्तेमाल में बदलाव के मामले में जस्टिस खन्ना ने कगा कि यह कानून के तहत बुरा था और मुद्दे पर लोगों को कुछ बताया नहीं गया. यह फैसला मामले में दायर कई याचिकाओं पर आया है, जिसमें से एक कार्यकर्ता राजीव सूरी ने दायर की थी. प्रोजेक्ट के तहत, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 दिसंबर को नए संसद भवन के निर्माण के लिए आधारशिला रखी. संसद का नया भवन 64,500 वर्गमीटर क्षेत्र में होगा और इसके निर्माण पर कुल 971 करोड़ रुपये की लागत आने का अनुमान है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के निर्माण का रास्ता साफ, सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई हरी झंडी

Go to Top