सर्वाधिक पढ़ी गईं

Rail Fare hike: ट्रेन से कम दूरी का सफर हुआ महंगा, रेलवे ने किराया बढ़ाने की बताई वजह

कोविड-19 लॉकडाउन में छूट के बाद से रेलवे सिर्फ स्पेशल ट्रेनें चला रहा है. शुरुआत में सिर्फ लंबी दूरी की ट्रेनों का संचालन हो रहा था, लेकिन धीरे-धीरे कम दूरी की पैसेंजर ट्रेनों का भी परिचालन हो रहा है.

February 25, 2021 11:53 AM
Indian Railways, train fare hikes, discourage unnecessary travel, covid19 pandemic, covid19 lockdown, COVID-19 pandemic, railway ministry, mail trains, express trainsरेलवे प्री-कोविड दौर के मुकाबले मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों का 65 फीसदी और सबअर्बन सर्विसेज का 90 फीसदी परिचालन कर रहा है.

Rail Fare hike: भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने कम दूरी की यात्रा के लिए ट्रेनों का किराया बढ़ा दिया है. इस पर लोगों की तरफ से जब ​सवाल उठाए गए तो रेलवे ने सफाई जारी कर किराया बढ़ोतरी की वजह बताई है. भारतीय रेलवे ने कहा है कि अनावश्यक यात्राओं में कमी लाने के मकसद से किराये में मामूली इजाफा किया गया है. कोविड-19 लॉकडाउन (COVID-19 Lockdown) में छूट के बाद से रेलवे सिर्फ स्पेशल ट्रेनें चला रहा है. शुरुआत में सिर्फ लंबी दूरी की ट्रेनों का संचालन हो रहा था, लेकिन धीरे-धीरे कम दूरी की पैसेंजर ट्रेनों का भी परिचालन हो रहा है.

रेल मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर विशेष प्रावधान के तहत इन ट्रेनों का किराया इतनी ही दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में अनारक्षित टिकट जितना तय किया गया है. यात्री और लोकल ट्रेन सेवा फिर से शुरू करने के बाद रेलवे को किराए में वृद्धि को लेकर दैनिक यात्रियों की आलोचना झेलनी पड़ी थी. उदाहरण के लिए अमृतसर से पठानकोट का किराया अब 55 रुपये है जो पहले 25 रुपये था. इसी तरह जालंधर से फिरोजपुर तक डीएमयू का किराया 30 रुपये से बढ़कर 60 रुपये हो गया है.

कोविड-19 रोकने की ओर रेलवे के प्रयास

रेलवे के अनुसार, ‘‘रेलवे बताना चाहता है कि यात्री और कम दूरी की अन्य ट्रेनों के किराए में यह मामूली बढ़ोतरी लोगों को अनावश्यक यात्राएं करने से रोकने के लिए किया गया है.’’ बयान में कहा गया है, ‘‘कोविड-19 अभी भी है और कुछ राज्यों में स्थिति बिगड़ रही है. कई राज्यों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है और उन्हें यात्रा करने के लिए हतोत्साहित किया जा रहा है. किराये में मामूली वृद्धि को ट्रेनों में भीड़ होने से और कोविड-19 को फैलने से रोकने के रेलवे के प्रयास के रूप में देखा जाना चाहिए.’’

ये भी पढ़ें… देश में फिर बढ़ रहा है कोरोना वायरस का डर, मिले 2 और स्ट्रेन

65% ही मेल, एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन

मालूम हो, कोविड-19 के कारण भारतीय रेल ने 22 मार्च, 2020 को ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह बंद कर दिया था. रेलवे धीरे-धीरे चरणबद्ध तरीके से यात्री टेनें की संख्या बढ़ा रहा है. कोविड के पहले की स्थिति में अभी ट्रेनों का पूरी तरह परिचालन का निणर्य परिस्थितियों को देखते हुए किया जाएगा. फिलहाल, रेलवे प्री-कोविड दौर के मुकाबले मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों का 65 फीसदी और सबअर्बन सर्विसेज का 90 फीसदी परिचालन कर रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Rail Fare hike: ट्रेन से कम दूरी का सफर हुआ महंगा, रेलवे ने किराया बढ़ाने की बताई वजह

Go to Top