सर्वाधिक पढ़ी गईं

देश में 16 करोड़ लोग पीते हैं शराब, 38 में से 1 का होता है इलाज; डिटेल में जानिए सर्वे के नतीजे

देश में करीब 3.1 करोड से ज्यादा लोगों ने पिछले 1 साल में कभी ना कभी गांजा, चरस या भांग का सेवन किया है.

February 19, 2019 5:04 PM
six crore indians use cannabis drugs ganja charas afeem liquorदेशी में 30 फीसदी लोग शराब का सेवन करते हैं

सरकार की ओर से कराए गए एक हालिया सर्वेक्षण के अनुसार, 10 से 75 साल के आयु वर्ग के 14.6 फीसदी लोग (16 करोड़) शराब पीते हैं. छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, पंजाब, अरूणाचल प्रदेश तथा गोवा में शराब का सर्वाधिक इस्तेमाल होता है. सर्वे में यह पता चला है कि शराब के बाद देश भर में भांग और अन्य नशीले पदार्थों का सर्वाधिक इस्तेमाल होता है. शराब पर निर्भर लोगों में से 38 में से एक ने किसी न किसी उपचार की सूचना दी, जबकि 180 में से एक ने रोगी के तौर पर या अस्पताल में भर्ती होने की सूचना दी.

देशी शराब की सबसे ज्यादा बिक्री

सर्वे के मुताबिक भारत में लगभग 30 फीसदी देशी शराब पीते हैं और 30 फीसदी लोग अंग्रेजी शराब पीते हैं. जिसे मिलाकर कुल 60 फीसदी लोग देश में शराब का सेवन करते हैं. सर्वे के अनुसार छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, पंजाब, अरुणाचल प्रदेश और गोवा में शराब के इस्तेमाल का प्रचलन सबसे अधिक पाया गया.

3.1 करोड़ लोगों ने किया गांजा, चरस या भांग का सेवन

देश में करीब 3.1 करोड से ज्यादा लोगों ने पिछले 1 साल में कभी ना कभी गांजा, चरस या भांग का सेवन किया है. करीब 2.2 करोड़ लोगों ने भांग, 1.3 करोड़ लोगों ने गांजा और चरस का सेवन किया है. करीब 72 लाख लोगों को अपनी इस लत से छूटकारा चाहिए.
हालांकि भांग का इस्तेमाल गांजा और चरस के मुकाबले ज्यादा है, लेकिन लोगों को गांजा और चरस की ज्यादा लत लगी है. गांजा, भांग और चरस का सेवन उत्तर प्रदेश, पंजाब, सिक्किम, छत्तीसगढ़ और दिल्ली जैसे राज्यों में सबसे ज्यादा किया जाता है.

60 लाख लोग अफीम और हेराइन की आदत के शिकार

पूरे देश में अफीम के बाद सबसे ज्यादा हेरोइन का इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन हेरोइन, अफीम से ज्यादा नुकसान पहुंचाती है. देश में लगभग 60 लाख लोग हेरोइन और अफीम का इस्तेमाल करते हैं. इनके इस्तेमाल करने वालों की संख्या उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान, आंध्र प्रदेश और गुजरात में सबसे ज्यादा है.

38 में से केवल एक व्यक्ति का होता है इलाज

शराब पीने वाले प्रत्येक 38 में से एक व्यक्ति को उपचार मिल पाता है और 180 में से एक को अस्पताल में भर्ती कराया जाता है. इससे इस समस्या के उपचार में भारी कमी का पता चलता है. सर्वे के अनुसार, देश में लोग सबसे अधिक शराब का इस्तेमाल करते हैं . महिलाओं की तुलना में पुरूषों में यह आदत 17 गुनी अधिक है. सर्वे में संकेत दिया गया है कि देश में एक बड़ी आबादी ऐसी है जो नशीले पदार्थ के इस्तेमाल से प्रभावित है और उनलोगों को तत्काल मदद की आवश्यकता है . इसमें कहा गया है कि सभी जनसंख्या समूहों में नशीले पदार्थ का सेवन किया जाता है लेकिन वयस्क पुरुष ज्यादातर इसका उपयोग करने का खामियाजा भुगतते हैं.

किस तरह किया गया सर्वे

‘‘भारत में मादक पदार्थों के उपयोग का चलन और व्यापकता’’ शीर्षक से यह सर्वे किया गया. केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने AIIMS के साथ मिलकर यह सर्वेक्षण किया. यह सर्वेक्षण सभी 36 राज्यों और संघ शासित प्रदेशों में किया गया. इसमें कहा गया है कि राष्ट्रीय स्तर पर 186 जिलों के 2,00,111 घरों से संपर्क किया गया और चार लाख 73 हजार 569 लोगों से इस बारे में बातचीत की गयी. इस सर्वे में नशीली दवाओं के सेवन में शामिल लोगों को राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर आंकड़े एकत्रित किए गये .

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. देश में 16 करोड़ लोग पीते हैं शराब, 38 में से 1 का होता है इलाज; डिटेल में जानिए सर्वे के नतीजे

Go to Top