मुख्य समाचार:

कोरोना लॉकडाउन बिगाड़ देना ​भारतीय अर्थव्यवस्था की सेहत! FY21 में 5% गिरेगी ग्रोथ, S&P ने जताया अनुमान

इससे पहले इस सप्ताह रेटिंग एजेंसी फिच और क्रिसिल ने भी भारतीय अर्थव्यवस्था में 5 फीसदी निगेटिव ग्रोथ का अनुमान जताया था.

Published: May 28, 2020 1:08 PM
S&P Global Ratings projects Indian economy to contract 5 pc in FY21S&P का कहना है कि महामारी का प्रकोप तीसरी तिमाही में चरम पर होगा.

Lockdown effect: S&P ग्लोबल रेटिंग्स ने गुरुवार को कहा कि COVID-19 महामारी की रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन से आर्थिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुई हैं, जिससे भारतीय अर्थव्यवस्था चालू वित्त वर्ष में 5 फीसदी घट सकती है. एसएंडपी ने एक बयान में कहा, ‘‘हमने मार्च 2021 में समाप्त हो रहे वित्त वर्ष के लिए अपने ग्रोथ पूर्वानुमान को घटाकर नकारात्मक 5 फीसदी कर दिया है… इस समय हमारा मानना है कि (महामारी का) प्रकोप तीसरी तिमाही में चरम पर होगा.’’ इससे पहले इस सप्ताह रेटिंग एजेंसी फिच और क्रिसिल ने भी भारतीय अर्थव्यवस्था में 5 फीसदी संकुचन का अनुमान जताया था.

लॉकडाउन: अर्थव्यवस्था में अचानक आई रुकावट

एसएंडपी ने एक बयान में कहा, ‘‘भारत में कोविड-19 के प्रकोप और दो महीने के लॉकडाउन – कुछ क्षेत्रों में इससे भी लंबे समय तक- ने अर्थव्यवस्था में अचानक रुकावट पैदा कर दी है. इसका मतलब है कि इस वित्त वर्ष में वृद्धि तेजी से गिरावट होगी. आर्थिक गतिविधियां अगले एक साल तक व्यवधान का सामना करेंगी.’’ भारत में अभी तक कोविड-19 पर काबू नहीं पाया जा सका है. पिछले एक सप्ताह में नए मामले नए मामले प्रतिदिन 6,000 से अधिक रहे हैं. सरकार ने लॉकडाउन के प्रतिबंधों में कमी की है, जिससे संक्रमण के मामले बढ़े हैं.

सर्विस सेक्टर गंभीर रूप से प्रभावित

सरकार ने संक्रमण के मामलों के आधार पर देश को रेड, आरेंज और ग्रीन जोन में विभाजित किया है. ज्यादातर औद्योगिक महत्व के शहर रेड जोन में हैं. एसएंडपी ने कहा, ‘‘हम मानते हैं कि इन स्थानों (लाल क्षेत्र) में आर्थिक गतिविधियों के सामान्य होने में अधिक समय लगेगा. इससे पूरे देश में सप्लाई चेन पर असर पड़ेगा और सुधार की रफ्तार धीमी हो जाएगी… हमारा मानना है कि इस दौरान पूरे देश में आर्थिक बहाली की स्थिति अलग अलग रहेगी.’’ बयान में कहा गया कि सबसे अधिक रोजगार देने वाला सर्विस सेक्टर गंभीर रूप से प्रभावित हुआ है. श्रमिक भौगोलिक रूप से विस्थापित हो गए हैं और उन्हें लॉकडाउन से उबरने में वक्त लगेगा. एसएंडपी के मुताबिक इस दौरान रोजगार की स्थिति नाजुक बनी रहेगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कोरोना लॉकडाउन बिगाड़ देना ​भारतीय अर्थव्यवस्था की सेहत! FY21 में 5% गिरेगी ग्रोथ, S&P ने जताया अनुमान

Go to Top