मुख्य समाचार:

श्रमिक स्पेशल: अबतक 3276 ट्रेनें चलीं, 42 लाख प्रवासी मजदूर ‘घर’ पहुंचे

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के चलाने में भारतीय रेलवे लागत का 85% वहन कर रही है जबकि 15% राशि राज्यों की तरफ से किराये के रूप में वहन किये जा रहे हैं. 

Published: May 26, 2020 2:01 PM
Shramik Special trains ferried around 42 lakh migrants since May 1 says indian railwaysएक मई से भारतीय रेलवे ने प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्यों में जाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलानी शुरू की.

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने एक मई से अबतक करीब 42 लाख प्रवासी मजदूरों (migrant workers) ने 3276 श्रमिक स्टेशल ट्रेनों के जरिए सफर किया है. अधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 2876 ट्रेनें अपने गंतव्य तक पहुंच चुकी हैं जबकि 401 ट्रेन सफर में हैं. पांच राज्य और केंद्र शासित शासित प्रदेश जहां से सबसे ज्यादा ट्रेनें चली हैं, उनमें गुजरात (897), महाराष्ट्र (590), पंजाब (358), उत्तर प्रदेश (232) और दिल्ली (200) हैं.

रेलवे के आंकड़ों के अनुसार, जिन राज्यों में प्रवासी मजदूरों को लेकर सबसे ज्यादा ट्रेनें पहुंची हैं, उनमें उत्तर प्रदेश (1,428), बिहार (1,178), झारखंड (164), ओडिशा (128) और मध्य प्रदेश (120) हैं. श्रमिक स्पेशल ट्रेनें शुरुआत में राज्यों की अनुरोध पर चलाई गई, जो अपने यहां से प्रवासी मजदूरों को उनके मूल स्थान पर भेजना चाहते थे. श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के चलाने में भारतीय रेलवे लागत का 85 फीसदी वहन कर रही है जबकि 15 फीसदी राशि राज्यों की तरफ से किराये के रूप में वहन किये जा रहे हैं.  भारतीय रेलवे ने कहा है कि रेल रूट पर भारी ट्रैफिक जो 23 और 24 मई को सबसे ज्यादा रहा, अब खत्म हो गया है.

लॉकडाउन का अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक असर

कोरोनावायरस के चलते लागू लॉकडाउन का अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक असर हुआ. इससे लाखों प्रवासी मजदूरों के सामने जीवन यापन का संकट खड़ा हो गया. तंगहाल मजदूर कई शहरों से पैदल ही अपने गांव की ओर चल दिए. कई मजदूर सैकड़ों किलोमीटर दो महीने पैदल चलकर अपने घर पहुंचे. इस बीच, कई मजदूरों की सड़क हादसे में मौत हो गई. वहीं, कई जगहों पर मजदूर रेल की पटरियों पर दुर्घटना के शिकार हो गए.

1 मई से शुरू हुईं श्रमिक स्पेशल

एक मई को भारतीय रेलवे ने प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्यों में जाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलानी शुरू की. पहले दिन सिर्फ 4 ट्रेनें चलाई गई. 20 मई तक यह संख्या बढ़कर 279 हो गई. पिछले चार दिन में रेलवे ने 260 ट्रेनें चलाई, जिसमें हर दिन औसतन एक लाख यात्रियों ने सफर किया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. श्रमिक स्पेशल: अबतक 3276 ट्रेनें चलीं, 42 लाख प्रवासी मजदूर ‘घर’ पहुंचे

Go to Top