मुख्य समाचार:
  1. दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन.

July 20, 2019 7:47 PM
Sheila Dixit death news Former Delhi Chief Minister & Congress leader Sheila Dikshit passes away in Delhi at the age of 81 yearsदिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन.

Sheila Dixit: राजधानी दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की बड़ी नेता शीला दीक्षित का आज यानी 20 जुलाई को निधन हो गया. 81 वर्ष की उम्र में शीला दीक्षित का निधन हो गया. शीला दीक्षित तबियत खराब होने की वजह से एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती हुई थी. उनके पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि उन्हें शुक्रवार सुबह सीने में जकड़न की शिकायत के बाद एस्कार्ट्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बता दें कि लगातार 3 बार 1998 से लेकर 2013 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं.

पीएम मोदी ने जताया शोक

शीला दीक्षित के निधन पर देश के प्रधानमंत्री ने भी शोक जताया. उन्हें ट्वीट कर कहा कि “शीला दीक्षित जी के निधन से गहरा दुख हुआ. वह एक मिलनसार व्यक्ति थी. उनका दिल्ली के विकास में उल्लेखनीय योगदान रहा. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना. ओम शांति.”

कोई बहुत अपना चला गया: राहुल गांधी

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी शीला दीक्षित के निधन पर खेद जताया. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि “मुझे कांग्रेस पार्टी की एक प्यारी बेटी शीला दीक्षित जी के निधन के बारे में सुनकर बहुत बुरा लगा, जिनके साथ मैंने एक करीबी व्यक्तिगत बंधन साझा किया था.

इस दुख की घड़ी में उनके परिवार और दिल्ली के नागरिकों के प्रति मेरी संवेदना, जिन्हें उन्होंने निस्वार्थ भाव से 3 बार सीएम के रूप में सेवा दी.”

दिल्ली की मुख्यमंत्री थी यूपी की बहु

शीला दीक्षित का जन्म पंजाब के कपूरथला 31 मार्च 1983 में हुआ था.  दिल्ली के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से शुरुआती शिक्षा ली. शीला दीक्षित ने दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस से इतिहास में मास्टर्स किया था.मिरांडा हाउस से पढ़ाई के दौरान ही उनकी राजनीति में दिलचस्पी थी. उनकी शादी यूपी के उन्नाव के आईएएस अधिकारी स्वर्गीय विनोद दीक्षित से हुआ था. विनोद दीक्षित बंगाल के पूर्व राज्यपाल स्वर्गीय उमाशंकर दीक्षित के बेटे और कांग्रेस के बड़े नेता थे. शीला दीक्षित के दो बच्चें हैं – एक बेटा और एक बेटी. उनके बेटे संदीप दीक्षित भी दिल्ली के सांसद रह चुके हैं.

शीला दीक्षित का सियासी सफर

  • शीला दीक्षित 1984 में यूपी के कन्नौज से पहली बार सांसद बनीं. वह 1984 से 1989 तक केन्द्रीय मंत्री भी रहीं.
  • 1998 में पार्टी ने दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष चुना गया. 1998 में ही वह कांग्रेस के टिकट पर पूर्वी दिल्ली से लोकसभा चुनाव हार गईं.
  • लगातार 3 बार 1998 से लेकर 2013 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं. वह लगातार पंद्रह सालों तक सीएम रहने वाली देश की पहली महिला नेता थीं.
  • 11 मार्च 2014 को केरल की राज्यपाल नियुक्त लेकिन अगस्त 2014 में उन्होंने इस पद से इस्तीफा दे दिया.
  • 2019 में दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त हुईं. वह बीजेपी के मनोज तिवारी के सामने कांग्रेस की उत्तर पूर्वी दिल्ली सीट से लोकसभा चुनाव हार गईं.

Go to Top