मुख्य समाचार:
  1. SC से 21 विपक्षी दलों को बड़ा झटका, VVPAT-EVM मामले में दिए फैसले पर नहीं होगा पुनर्विचार

SC से 21 विपक्षी दलों को बड़ा झटका, VVPAT-EVM मामले में दिए फैसले पर नहीं होगा पुनर्विचार

सुप्रीम कोर्ट में आज EVM और VVPAT पर्चियों के मिलान को लेकर हुई सुनवाई में विपक्ष को तगड़ा झटका लगा है.

May 7, 2019 11:38 AM
SC dismisses plea seeking review of its order on random matching of VVPAT slips with EVMImage: PTI

सुप्रीम कोर्ट में आज EVM और VVPAT पर्चियों के मिलान को लेकर हुई सुनवाई में विपक्ष को तगड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनावों के दौरान VVPAT पर्चियों के EVM से औचक मिलान के अदालत के आदेश पर पुनर्विचार करने से मना कर दिया है.

इस पुनर्विचार याचिका को TDP और कांग्रेस सहित 21 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट में दायर किया था. पार्टियों की मांग थी कि सुप्रीम कोर्ट 50 फीसदी VVPAT पर्चियों के EVM से मिलान का आदेश चुनाव आयोग को दे. लेकिन कोर्ट ने इस याचिका को खारिज कर दिया. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि अदालत इस मामले को बार-बार क्यों सुने. वह इस मामले में दखल नहीं देना चाहते हैं.

पिछले महीने क्या दिया था फैसला

पिछले महीने 8 अप्रैल इस मामले में हुई सुनवाई के दोरान सुप्रीम कोर्ट ने हर विधानसभा क्षेत्र में पांच बूथ के EVM और VVPAT की पर्चियों के औचक मिलान का आदेश दिया था. चुनाव आयोग ने भी यह आदेश मान लिया था. लेकिन विपक्षी दल इससे संतुष्ट नहीं ​थे. वे इस आंकड़े में वृद्धि चाहते थे. इसलिए उन्होंने इस फैसले पर पुनर्विचार के लिए याचिका दायर की थी.

याचिका डालने वालों में ये नाम हैं प्रमुख

सुप्रीम कोर्ट में याचिका डालने वालों में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू (टीडीपी), शरद पवार (एनसीपी), फारूक अब्दुल्ला (एनसी), शरद यादव (एलजेडी), अरविंद केजरीवाल (आम आदमी पार्टी), अखिलेश यादव (सपा), डेरेक ओ’ब्रायन (टीएमसी) और एमके स्टालिन (डीएमके) प्रमुख हैं.

Go to Top