UP Farmers Protest : संयुक्त किसान मोर्चा ने लखीमपुर खीरी में शुरू किया धरना, केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग

भारतीय किसान यूनियन (BKU) प्रवक्ता राकेश टिकैत समेत कई दिग्गज किसान नेता धरने में मौजूद, केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ के बेटे पर है किसानों को कुचलने का आरोप

farmer protest
किसानों ने फिर एक बार आंदोलन शुरू कर दिया है. (IE Photo by Raakhi Jagga)

उत्तर प्रदेश के किसान संगठनों ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ की बर्खास्तगी की मांग को लेकर लखीमपुर खीरी में 75 घंटे का धरना शुरू कर दिया है. संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) की अगुवाई में हो रहे इस आंदोलन में राकेश टिकैत सहित कई प्रमुख किसान नेता मौजूद हैं. धरने में शामिल किसान केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ को बर्खास्त किए जाने की मांग इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि उनका बेटा आशीष मिश्रा लखीमपुर खीरी में पिछले साल किसानों को गाड़ी से कुचलकर मारे जाने के मामले में आरोपी है.

किसानों का धरना लखीमपुर सिटी के करीब राजापुर मंडी समिति के पास हो रहा है. 20 सितंबर तक चलने वाले इस धरने में उत्तर प्रदेश के अलावा उत्तराखंड, पंजाब और हरियाणा के प्रमुख किसान नेता भी शामिल हैं. धरना स्थल पर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत, राष्ट्रीय सचिव भूदेव शर्मा समेत कई दिग्गज किसान नेता बुधवार को ही पहुंच गए थे.

SKM Rejects MSP Panel : संयुक्त किसान मोर्चा ने एमएसपी कमेटी को बताया ‘दिखावा’, 22 अगस्त की बैठक में शामिल होने से इनकार

भारतीय किसान यूनियन दोआबा (BKU Doaba) के अध्यक्ष मंजीत सिंह राय ने एनडीटीवी को बताया कि लखीमपुर खीरी में चल रहे आंदोलन में पंजाब के करीब 10 हजार किसान शामिल हो रहे हैं. ये किसान बुधवार को ही ट्रेन से यूपी के लिए रवाना हो गए थे. बड़ी संख्या में किसान अपने प्राइवेट वाहनों से भी वहां पहुंच रहे हैं.  

MSP Committee Meeting: 22 अगस्त को होगी कमेटी की पहली बैठक, संयुक्त किसान मोर्चा को शामिल होने के लिए मनाने की कोशिशें जारी

भारतीय किसान यूनियन लाखेवाल (BKU Lakhewal) के राज्य उपाध्यक्ष अवतार सिंह महलो ने बताया कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी के अलावा  किसान पिछले साल आंदोलन के दौरान बड़ी संख्या दर्ज किए गए मुकदमों को वापस लिए जाने की मांग भी कर रहे हैं. इसके साथ ही वे फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी भी चाहते हैं. उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के दौरान अपने परिजनों को गंवाने वाले परिवारों को मुआवजा दिलाना और इलेक्ट्रिसिटी बिल 2022 को वापस कराना भी किसानों की प्रमुख मांगों में शामिल है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News