rip georger fernandez, george fernandez death, former defence minister death, morarji desai, pm modi, narendra modi, atal bihari vajpayee, nda government, kargill war, kargil, pokran parmanu, pokhran, अटल सरकार में रक्षा मंत्री रहे जॉर्ज फर्नांडिस का निधन, इमरजेंसी में उड़ा दी थी सरकार की नींद - The Financial Express
सर्वाधिक पढ़ी गईं

अटल सरकार में रक्षा मंत्री रहे जॉर्ज फर्नांडिस का निधन, इमरजेंसी में उड़ा दी थी सरकार की नींद

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का मंगलवार को 88 साल की उम्र में निधन हो गया. जॉर्ज फर्नांडिस ने दिल्ली में अपनी आखिरी सांस ली. फर्नांडिस लंबे समय से बीमार चल रहे थे

Updated: Jan 30, 2019 11:36 AM
rip george fernandes, george fernandes death, former defence minister death, pm modi, narendra modi, atal bihari vajpayee, nda government, kargill war, kargil, pokhran parmanu, pokhranजॉर्ज फर्नांडिस ने दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में अपनी आखिरी सांस ली.

George Fernandes Death: अटल सरकार में रक्षा मंत्री रहे जॉर्ज फर्नांडिस का मंगलवार को 88 साल की उम्र में निधन हो गया. फर्नांडिस लंबे समय से बीमार चल रहे थे. वह अल्जाइमर से ग्रस्त थे, साथ ही उन्हें स्वाइन फ्लू भी था. उन्होंने मंगलवार सुबह 7 बजे दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में आखिरी सांस ली.

अटल बिहारी सरकार में रक्षा मंत्री रहे

जॉर्ज फर्नांडिस सबसे पहले साल 1967 में लोकसभा सांसद चुने गए. अटल बिहारी वाजपेयी के समय एनडीए सरकार में वह 1998 से 2004 के बीच रक्षा मंत्री रहे. उनके कार्यकाल के दौरान ही पोखरण में परमाणु टेस्टिंग और करगिल युद्ध हुआ था. 2004 में ताबूत घोटाला सामने आने के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया. बाद में दो अलग-अलग कमिशन ऑफ इन्क्वायरी में उन्हें निर्दोष करार दिया. आखिरी बार वो अगस्त 2009 से जुलाई 2010 के बीच तक राज्यसभा सांसद रहे थे.

ऐसे बन गए बड़े नेता

1974 की रेल हड़ताल के बाद वह कद्दावर नेता के तौर पर उभरे और उन्होंने बेबाकी के साथ इमर्जेंसी लगाए जाने का विरोध किया. 1975 में इंदिरा गांधी की ओर से लगाए गए आपातकाल के दौरान उन्हें जेल में डाल दिया गया था. उन पर सरकारी प्रतिष्ठानों और रेलवे पटरियों को उड़ाने के लिए ‘बड़ौदा डायनामाइट षड्यंत्र’ रचने का आरोप लगाया गया था.  इन सब के चलते जॉर्ज फर्नांडिस इमर्जेंसी के वक्त के हीरो के तौर पर उभरे. 1977 में उन्होंने जेल से चुनाव लड़ा और रिकॉर्ड वोटों से जीते.

जनता पार्टी की सरकार में बने मंत्री

जब 1977 में मोरारजी देसाई के नेतृत्व में जनता पार्टी की सरकार बनी तो उन्हें मंत्री बनाया गया. इस दौरान उनका सबसे बड़ा कदम था कि उन्होंने कोका कोला और आईबीएम को झुकने पर मजबूर कर दिया था. इन कंपनियों ने अपने भारतीय सहयोगियों में अपनी हिस्सेदारी कम करने से मना कर दिया था. कोक ने उस वक्त भारत छोड़ दिया था. उसके 20 साल बाद कंपनी ने वापस भारत में एंट्री की.

9 बार बने लोकसभा सदस्य

फर्नांडिस ने अपने राजनीतिक जीवन में कुल तीन मंत्रालयों का कार्यभार संभाला- उद्योग, रेल और रक्षा मंत्रालय. श्रमिक नेता के रूप में पहचान बनाने वाले फर्नांडिस 1967 से 2004 तक नौ बार लोकसभा के सदस्य बने. जॉर्ज फर्नांडिस ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के संयोजक का भी काम बखूबी निभाया था. जॉर्ज 1970 में समाजवादी आंदोलन के बड़े नेता थे. समता पार्टी बनाने से पहले जनता दल के वरिष्ठ नेताओं में उनकी गिनती होती थी.

किंग जॉर्ज V की फैन थी मां

3 जून, 1930 को जन्मे जॉर्ज फर्नांडिस 10 भाषाओं के जानकार थे- हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, मराठी, कन्नड़, उर्दू, मलयाली, तुलु, कोंकणी और लैटिन. उनकी मां किंग जॉर्ज पंचम की बड़ी प्रशंसक थीं. उन्हीं के नाम पर अपने छह बच्चों में से सबसे बड़े का नाम उन्होंने जॉर्ज रखा था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. अटल सरकार में रक्षा मंत्री रहे जॉर्ज फर्नांडिस का निधन, इमरजेंसी में उड़ा दी थी सरकार की नींद

Go to Top