मुख्य समाचार:

गणतंत्र दिवस 2020: वॉर मैमोरियल से लेकर चिनूक और अपाचे तक, पहली बार हुईं ये 6 चीजें

देश के 71वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर भारत की संस्कृति, विरासत, शौर्य, विविधता, साहस की बेहतरीन झलक दिखी.

January 26, 2020 10:52 PM

Republic Day 2020: these 6 things happened first time on 71st republic day india, homage to martyrs at national war memorial, stunts on bike by crpf women daredevils, apache and chinook, rafale, dhanush 

71st Republic Day: देश के 71वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर भारत की संस्कृति, विरासत, शौर्य, विविधता, साहस की बेहतरीन झलक दिखी. इस बात का गणतंत्र दिवस कई मायनों में खास रहा. इसकी वजह थी कि इस बार की गणतंत्र दिवस परेड में कई चीजें पहली बार देखने को मिलीं, जो कि देश को गौरवान्वित करती नजर आईं. आइए जानते हैं इनके बारे में डिटेल में…

राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर पहली बार इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति के बजाय राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी. इंडिया गेट परिसर में स्थित इस स्मारक का पिछले साल 25 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था.

पहली बार दिखाई गई धनुष तोप

राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह में पहली बार ‘धनुष’ तोप का प्रदर्शन किया गया. यह प्रदर्शन कैप्टन मृगांक भारद्वाज की कमान में किया गया. 155 एमएम/45 कैलीबर धनुष तोप को होवित्जर तोप की तरह डिजाइन किया गया है. यह आयुध निर्माणी बोर्ड द्वारा स्वदेश निर्मित है. अधिकतम 36.5 किलोमीटर दूरी की मारक क्षमता वाली इस तोप में स्वचालित बंदूक अलाइनमेंट और पोजिशनिंग की क्षमता है. इस तोप को सेना की भविष्य की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए बनाया गया है.

DRDO की ए-सैट हथियार प्रणाली

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की उपग्रह रोधी (ए-सैट) हथियार प्रणाली गणतंत्र दिवस की परेड का हिस्सा बनी. किसी भी देश की आर्थिक और सैन्य सर्वोच्चता के लिए अंतरिक्ष महत्वपूर्ण आयाम है और इसमें ए-सैट हथियार आवश्यक रणनीतिक प्रतिरोध प्रणाली में अहम भूमिका निभाता है. पिछले साल मार्च में डीआरडीओ ने भारत के पहले ए-सैट मिशन ‘मिशन शक्ति’ को लॉन्च किया था. यह भारत का पहला ए-सैट मिशन है, जो विरोधी उपग्रहों को मार गिराने की भारत की क्षमता का प्रदर्शन करता है. इसके लॉन्च के बाद इस क्षमता को रखने वाले अमेरिका, रूस और चीन जैसे देशों की सूची में भारत शामिल हो गया था.

राफेल लड़ाकू विमान की झांकी

इस बार की गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार राफेल के लड़ाकू विमान की झांकी भी राजपथ पर नजर आई.

बाइक पर महिला डेयरडेविल्स के करतब

ऐसा पहली बार हुआ, जब गणतंत्र दिवस परेड में केवल CRPF महिला बाइकर्स की टुकड़ी साहसी स्टंट दिखाती नजर आई. दल का नेतृत्व इंस्पेक्टर सीमा नाग कर रही थीं. हेड कॉन्स्टेबल मीना चौधरी ने बाइक पर अपने दोनों हाथों में पिस्टल के साथ फायरिंग की पोजिशन बनाए हुए थीं. हेड कॉन्स्टेबल आशा कुमारी ने 3 साथियों के साथ बीम रोल फॉर्मेशन बनाई. एएसआई अनीता कुमारी VV की अगुआई में 5 रॉयल एनफील्ड पर महिला जवानों ने ह्यूमन पिरामिड बनाया. वहीं, एएसआई सुजाता गोस्वामी के नेतृत्व में 5 महिला जवानों ने ऑलराउंड डिफेंस फॉर्मेशन बनाई.

चिनूक और अपाचे हेलीकॉप्टर

भारतीय वायु सेना में शामिल किए गए चिनूक और अपाचे युद्धक हेलीकॉप्टर गणतंत्र दिवस की भव्य सैन्य परेड में आकर्षण का मुख्य केंद्र रहे. चिनूक दूरदराज के स्थानों तक व्यापक स्तर पर सामग्री को पहुंचा सकता है. यह ट्विन रोटर वाला हेलीकॉप्टर है, जिससे भारतीय वायु सेना की सैन्य और आपदा संबंधी भार क्षमता बढ़ी है. वहीं अपाचे हवा से हवा और हवा से जमीन पर मार करने वाली मारक क्षमता वाला हेलीकॉप्टर है जो दुश्मनों पर कहर ढा सकता है. इससे भारतीय सशस्त्र बलों को दुश्मनों के खिलाफ युद्धक्षेत्र में महत्वपूर्ण बढ़त मिलती है.

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. गणतंत्र दिवस 2020: वॉर मैमोरियल से लेकर चिनूक और अपाचे तक, पहली बार हुईं ये 6 चीजें

Go to Top