सर्वाधिक पढ़ी गईं

Red Fort violence: ट्रैक्टर की बढ़ती बिक्री को दिल्ली पुलिस ने बताया साजिश, लाल किला पर कब्जे के लिए प्रदर्शनकारियों ने की थी खरीदारी?

Red Fort violence: दिल्ली पुलिस की चार्जशीट के मुताबिक ट्रैक्टरों की बिक्री में तेज उछाल सोची-समझी साजिश का हिस्सा थी और इसका एकमात्र लक्ष्य इन ट्रैक्टर्स को दिल्ली में विरोध प्रदर्शनों के लिए लेकर जाना था.

Updated: Sep 15, 2021 11:14 AM
Red Fort violence Delhi Police sees a conspiracy in rise of tractor salesइस साल गणतंत्र दिवस पर राजधानी दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे कुछ किसानों ने हिंसा की थी जिसे लेकर दिल्ली पुलिस का आरोप है कि यह सुनियोजित था.

Red Fort violence: इस साल गणतंत्र दिवस पर राजधानी दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे कुछ किसानों ने हिंसा की थी जिसे लेकर दिल्ली पुलिस का आरोप है कि यह सुनियोजित था. दिल्ली पुलिस ने अपने आरोपों को साबित करने के लिए नवंबर 2020 और जनवरी 2021 के बीच पंजाब और हरियाणा में ट्रैक्टर की बिक्री में उछाल का तर्क दिया है. दिल्ली पुलिस की चार्जशीट के मुताबिक ट्रैक्टरों की बिक्री में तेज उछाल सोची-समझी साजिश का हिस्सा थी और इसका एकमात्र लक्ष्य इन ट्रैक्टर्स को दिल्ली में विरोध प्रदर्शनों के लिए लेकर जाना था.

Top SIP Fund: एसआईपी में निवेश से इंवेस्टर्स हुए मालामाल, इन फंड से निवेशकों को मिला 30% से अधिक रिटर्न

चार्जशीट में लगाए गए ये आरोप

  • मई 2021 में पुलिस द्वारा फाइल किए गए चार्जशीट के मुताबिक गणतंत्र दिवस के पहले के कुछ ऐसे वीडियोज हैं जिसमें किसान नेता समर्थकों से अपने ट्रैक्टर को मोडिफाई करने और उसमें भारी मेटल लगाने को कहा था ताकि पुलिस बैरीकेड को हटाया जा सके. इसके अलावा चार्जशीट के मुताबिक पुलिस के पास ऐसे वीडियो क्लिप्स हैं जिसमें किसान नेता कह रहे हैं कि ट्रैक्टर रैली तय रास्तों पर नहीं किया जाएगा और अगर पुलिस रोकती है तो बैरीकोड को तोड़कर किसी भी कीमत पर दिल्ली में प्रवेश किया जाएगा. प्रदर्शनकारियों का मुख्य लक्ष्य लाल किला पर कब्जा करना था और इसे प्रदर्शन स्थल बनाना था और गणतंत्र दिवस पर यहां निशान साहिब और किसान झंडा फहराकर राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देशवासियों के लिए असहज की स्थिति बनाई जा सके.
  • दिल्ली पुलिस ने अपनी चार्जशीट में इकबाल सिंह के बयान का खुलासा किया है. इकबाल सिंह के मुताबिक अगर वह निशान साहिब को फहराने में सफल हो जाता है तो उसे सिख फॉर जस्टिस (SFI) ग्रुप नगद इनाम देती. यह ग्रुप भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित है. चार्जशीट में एक इकबाल सिंह की पुत्री और उनके एक संबंधी के बीच बातचीत का भी जिक्र है जिसके तहत 50 लाख रुपये के भुगतान की बात है. इसे लेकर अभी जांच हो रही है. पुलिस के मुताबिक सिंह ने इस साल 19 जनवरी को पंजाब के Tarn Taran को विजिट किया था और जिस फरार शख्स ने लाल किला पर निशान साहिब को फहराया था, वह यहीं से था. दिल्ली पुलिस के मुताबिक कॉल्स डिटेल्स से इसके संकेत मिलते हैं कि इस फरार शख्स के साथ इकबाल सिंह संपर्क में थे. सिंह के वकील जसदीप ढिल्लन ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि यह कहना गलत है कि गरीब किसानों नें लाल किला को कब्जा करने के लिए ट्रैक्टर खरीदे.
  • चार्जशीट में कथित रूप से अभिनेता दीप सिंधू के एक वीडियो क्लिप का जिक्र है जिसमें वह अन्य किसान संगठनों के नेताओं को लाल किला पहुंचकर इस पर कब्जा करने का आह्वान कर रहे हैं. सिंधू के वकील अभिषेक गुप्ता के वकील ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा कि पुलिस ने अपने दावे की पुष्टि के लिए कोई प्रमाण नहीं पेश किए हैं और यह कहना कि किसानों ने एक साजिश के तहत ट्रैक्टर की खरीदारी की, यह बिल्कुल बचकाना तर्क है. गुप्ता के मुताबिक दिल्ली पुलिस कानून के साथ खिलवाड़ कर रही है. बता दें कि इस साल गणतंत्र दिवस पर लाल किला और राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर 16 लोगों को चार्जशीट में शामिल किया गया है और इस मामले में सभी आरोपी अभी जमानत पर बाहर हैं.

चेन्नई से शुरू हुई स्टार्ट-अप ने की NASDAQ में लिस्टिंग की तैयारी, Freshworks लाएगी करीब 6715 करोड़ रुपये का IPO

नवंबर 2020 से जनवरी 2021 के बीच बिक्री का हवाला

चार्जशीट के मुताबिक पंजाब में नवंबर 2020-जनवरी 2021 के बीच ट्रैक्टर की बिक्री में जबरदस्त उछाल रही. दिसंबर 2020 में ट्रैक्टर की बिक्री में 94.30 फीसदी की उछाल रही. दिसंबर 2020 में 1535 ट्रैक्टर की बिक्री हुई जबकि एक साल पहले दिसंबर 2019 में 790 ट्रैक्टर्स की बिक्री हुई थी. इसी प्रकार जनवरी 2021 में एक साल पहले 1534 ट्रैक्टर की तुलना में 85.13 फीसदी अधिक 2840 ट्रैक्टर्स की बिक्री हुई. पंजाब में नवंबर 2019 में 1330 ट्रैक्टर्स की बिक्री हुई थी जबकि पिछले साल इसकी बिक्री 43.53 फीसदी बढ़कर 1909 ट्रैक्टर्स हो गई.
हरियाणा में नवंबर 2020 में इसकी बिक्री 31.81 फीसदी बढ़कर 3174 ट्रैक्टर्स, दिसंबर 2020 में 50.32 फीसदी बढ़कर 2312 ट्रैक्टर्स और जनवरी 2020 में एक साल पहले की तुलना में 48 फीसदी बढ़कर 3900 ट्रैक्टर्स हो गई.

ट्रैक्टर बिक्री को जोड़ा गया था ग्रामीण इकोनॉमी से

कोरोना के चलते जब देश की इकोनॉमी बुरे दौर में पहुंच गई थी तो कृषि सेक्टर से इकोनॉमी को सहारा मिला था. बढ़ते ट्रैक्टर बिक्री से एक्सपर्ट उत्साहित होकर इसे इकोनॉमी के लिए बड़ा सहारा बताया और कहा गया कि यह इकोनॉमी के पटरी पर लौटने के संकेत हैं. इस पूरे साल ट्रैक्टर बिक्री की बात करें तो पिछले महीने अगस्त को छोड़ लगातार ट्रैक्टर्स की बिक्री में तेज उछाल रही. नीचे आंकड़ों में इसे स्पष्ट रूप से देख सकते हैं.

Red Fort violence Delhi Police sees a conspiracy in rise of tractor sales
(सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Red Fort violence: ट्रैक्टर की बढ़ती बिक्री को दिल्ली पुलिस ने बताया साजिश, लाल किला पर कब्जे के लिए प्रदर्शनकारियों ने की थी खरीदारी?

Go to Top