सर्वाधिक पढ़ी गईं

दबाव वाली संपत्तियों के लिए 23 मई के पहले RBI की गाइडलाइंस! चुनाव का नहीं होगा असर

दबाव वाली संपत्तियों के RBI की गाइडलाइंस जल्द

April 28, 2019 5:47 PM
RBI, RBI Guidelines For Stressed Assets, Supreme Court, 12 February Circular, Election Code Of Conduct, दबाव वाली संपत्तियों के RBI की गाइडलाइंसदबाव वाली संपत्तियों के RBI की गाइडलाइंस जल्द

RBI Revised Guidelines: भारतीय रिजर्व बैंक 23 मई के पहले स्ट्रेस्ड एसेट्स यानी दबाव वाली संपत्तियों के समाधान के लिए संशोधन के साथ दिशानिर्देश जारी कर सकता है. जानकारी के अनुसार लोकसभा चुनाव के दौरान आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू रहने के बावजूद दबाव वाली संपत्तियों के समाधान के लिए रिजर्व बैंक की ओर से संशोधित दिशानिर्देश जारी करने पर कोई असर पड़ने की संभावना नहीं है.

सूत्रों के अनुसार भारतीय रिजर्व बैंक दबाव वाली संपत्तियों के लिए संशोधित दिशानिर्देश 23 मई से पहले जारी कर सकता है और चुनाव की वजह से इस पर कोई असर नहीं पड़ेगा. उच्चतम न्यायालय ने 12 फरवरी, 2018 को रिजर्व बैंक द्वारा इस संबंध में जारी सर्कुलर को रद्द कर दिया था. उसके बाद से संशोधित दिशानिर्देशों पर काम चल रहा है और इन्हें जल्द जारी किया जा सकता है.

नहीं हो सकती कार्रवाई

शीर्ष न्यायालय ने इसी महीने रिजर्व बैंक के 2,000 करोड़ रुपये से अधिक के कर्जदारों की दबाव वाली संपत्तियों की पहचान और उनके समाधान संबंधी सर्कुलर को केंद्रीय बैंक के अधिकार क्षेत्र से बाहर बताते हुए इसे रद्द कर दिया था. सूत्रों ने बताया कि रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा आदर्श आचार संहिता के दायरे में नहीं आती. अगर रिजर्व बैंक संशोधित दिशानिर्देश जारी करता है तो उस पर कोई कार्रवाई नहीं हो सकती.

RBI: 12 फरवरी का क्या है सर्कुलर

रिजर्व बैंक के 12 फरवरी के सर्कुलर के अनुसार अगर किसी एनपीए खाते का निपटान 180 दिन के भीतर नहीं होता है तो बैंकों को उसे एक दिन की भी देरी किए बिना दिवाला प्रक्रिया के लिए भेजना होगा. यह निर्देश उन खातों के लिए दिया गया था जिनमें बकाया कम से कम 2,000 करोड़ रुपये का है. रिजर्व बैंक नियमों के अनुसार यदि किसी खाते में 90 दिन तक किस्त की अदायगी नहीं होती है तो उसे एनपीए में वर्गीकृत कर दिया जाता है.

सूत्रों ने बताया कि एनपीए ढांचे में बदलाव के लिए कई विकल्पों पर विचार किया जा रहा है. एक विकल्प यह भी है कि 90 दिन के अलावा 60 से 90 दिन का और समय दिया जाए और उसके बाद ही दिवाला प्रक्रिया शुरू की जाए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. दबाव वाली संपत्तियों के लिए 23 मई के पहले RBI की गाइडलाइंस! चुनाव का नहीं होगा असर

Go to Top