मुख्य समाचार:
  1. RBI का प्लान: 2021 तक 50 लाख होंगे PoS टर्मिनल, कार्ड पेमेंट को मिलेगा बढ़ावा

RBI का प्लान: 2021 तक 50 लाख होंगे PoS टर्मिनल, कार्ड पेमेंट को मिलेगा बढ़ावा

RBI देशभर में बढ़ाएगा PoS टर्मिनल

May 19, 2019 4:20 PM
RBI, PoS, Point Of Sales, PoS Terminal, Cashless Economy, Debit Card Transaction, Card Transaction, ATM, Credit Card, Card PaymentRBI देशभर में बढ़ाएगा PoS टर्मिनल

RBI Plan: देश में कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) लगातार काम कर रहा है. इसी क्रम में RBI का अनुमान है कि अगले 2 साल में यानी 2021 के अंत तक व्यापारी प्रतिष्ठानों में PoS मशीनों की संख्या में 34 फीसदी इजाफा किया जाएगा. इसके साथ ही 2021 के अंत तक PoS की संख्या 50 लाख हो जाएगी. अभी इनकी संख्या 37.22 लाख के करीब है.
बता दें कि PoS में मुख्य रूप से कुल डेबिट कार्ड लेनदेन का 44 फीसदी शामिल है.

50 लाख होंगे PoS टर्मिनल

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक आरबीआई ने हालिया रिपोर्ट में कहा है कि मौजूदा विकास की प्रवृत्ति को देखते हुए 2021 के अंत तक 50 लाख सक्रिय PoS होने की उम्मीद है. डिजिटल PoS (QR कोड) में भी काफी बढ़ोत्तरी होने की उम्मीद है और 2021 के अंत तक कुल कार्ड स्वीकृति बुनियादी ढांचे को 6 गुना वर्तमान स्तर तक बढ़ा दिया जाएगा. RBI ने पेमेंट एंड सेटलमेंट सिस्टम इन इंडिया: विजन 2019-2021′ नाम से जारी रिपोर्ट में ये बातें कहीं.

PoS से कुल कितना ट्रांजैक्शन

देश में अब तक 37.22 लाख PoS टर्मिनल हैं. मार्च 2019 में डेबिट कार्ड के जरिए PoS से कुल ट्रांजैक्शन की वैल्यू करीब 593,475 करोड़ रुपये रही, पिछले साल में 460,070 करोड़ रुपये थी. यानी इसमें करीब 29 फीसदी का इजाफा हुआ है. मार्च 2017 में डेबिट कार्ड के जरिए PoS से ट्रांजैक्शन महज 329,907 करोड़ रुपये था. मार्च 2019 में क्रेडिट कार्ड के जरिए PoS से कुल 603,348 करोड़ रुपये का ट्रांजैक्शन हुआ.

RBI: कैश की मांग में आएगी कमी

केंद्रीय बैंक ने कहा कि पीओएस टर्मिनल में इजाफा से बुनियादी ढांचे में नकदी की मांग में कमी आएगी. RBI के अनुसार डेबिट कार्ड आधारित PoS ट्रांजैक्शन कुल डेबिट कार्ड लेनदेन (PoS और ATM सहित) का कम से कम 44 फीसदी होने की उम्मीद है. वैल्यू के टर्म में 2018-19 में यह 15.2 फीसदी है, जो 2014-15 में 5.2 फीसदी था. 2021 तक यह 22 फीसदी होने की उम्मीद है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop