सर्वाधिक पढ़ी गईं

कर्ज सस्ता होने से पटरी पर लौटेगी अर्थव्यवस्था, सुस्ती के पीछे ग्लोबल गतिविधियां: शक्तिकांत दास

अर्थव्यवस्था में दिख रही नरमी बुनियादी कारणों से नहीं, बल्कि चक्रीय कारणों से है.

Updated: Aug 07, 2019 5:03 PM

RBI governor Shaktikanta Das expects economy to revive soon

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार को कर्ज सस्ता होने और सरकार की तरफ से संभवत: और कदम उठाये जाने से आर्थिक वृद्धि में जल्द तेजी आने का भरोसा जताया. उन्होंने यह भी कहा कि अर्थव्यवस्था में दिख रही नरमी बुनियादी कारणों से नहीं है बल्कि यह चक्रीय कारणों से है. उन्होंने उम्मीद जताई कि सरकार सुस्त पड़ रही आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिये और कदम उठाएगी. मौद्रिक नीति समिति ने फरवरी से लगातार चौथी बार रेपो रेट 0.35 प्रतिशत घटाकर 5.40 प्रतिशत कर दिया है.

मार्च तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर पांच साल के न्यूनतम स्तर 5.8 प्रतिशत पर रही और जून तिमाही में इसमें और गिरावट की आशंका है. मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने 2019-20 की आर्थिक वृद्धि दर के जून में लगाये गये 7 प्रतिशत के अनुमान को घटाकर 6.9 प्रतिशत कर दिया. इस बारे में दास ने साफ किया कि वृद्धि दर का अनुमान कम किया गया है लेकिन यह गिरावट के जोखिम के साथ नहीं है.

दूसरी छमाही में तेजी की उम्मीद

एमपीसी के नीतिगत दर में कटौती के बाद दास ने कहा, ‘‘RBI की समझ है कि वृद्धि दर में नरमी इसके चक्रीय प्रभाव की वजह से है, बुनियादी वजह नहीं है.’’ उन्होंने दूसरी छमाही में वृद्धि में तेजी की उम्मीद जताई.

कैश की कमी से जूझ रहे NBFCs को बड़ी राहत, RBI ने लिक्विडिटी बढ़ाने के लिए उठाए 2 बड़े कदम

बैंकों ने केवल 0.29% लाभ ग्राहकों तक पहुंचाया

शक्तिकांत दास ने कहा कि पिछली तीन मौद्रिक समीक्षाओं के दौरान नीतिगत ब्याज दरों में कुल 0.75 प्रतिशत की कटौती की गई लेकिन बैंकों ने इस दौरान अब तक ग्राहकों को कर्ज पर ब्याज में कुल 0.29 प्रतिशत की कमी का ही लाभ दिया है. उन्होंने बैंकों से सस्ते धन का और अधिक लाभ ग्राहकों तक पहुंचाने का आग्रह किया. नई 0.35 फीसदी की कटौती के बाद वर्ष 2019 में नीतिगत ब्याज दर में कुल 1.10 प्रतिशत की कमी की गयी है. RBI गवर्नर के अनुसार इस बार नीतिगत दर में अधिक कटौती से केंद्रीय बैंक को उम्मीद है कि बैंक आने वाले सप्ताहों में कर्ज की ब्याज दर में कटौती करेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि फरवरी से जो कटौती की गई है, मुद्रा बाजार उसका पूरा उपयोग कर चुका है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कर्ज सस्ता होने से पटरी पर लौटेगी अर्थव्यवस्था, सुस्ती के पीछे ग्लोबल गतिविधियां: शक्तिकांत दास

Go to Top