सर्वाधिक पढ़ी गईं

RBI नहीं करेगा रेपो रेट में बदलाव! जानकारों ने कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी को बताया वजह

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा अगली मौद्रिक नीति समीक्षा में यथास्थिति बनाए रखने की उम्मीद है.

March 28, 2021 4:24 PM
RBI expected to not change repo rate in monetary policy review says expertsभारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा अगली मौद्रिक नीति समीक्षा में यथास्थिति बनाए रखने की उम्मीद है.

कोरोना वायरस मामलों में बढ़ोतरी की वजह से पैदा हुई अनिश्चित्ता के बीच, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा अगली मौद्रिक नीति समीक्षा में यथास्थिति बनाए रखने की उम्मीद है. आरबीआई द्वारा ग्रोथ को बढ़ाने के लिए कोई कदम उठाने से पहले थोड़ा समय इंतजार करेगा. आरबीआई वित्त वर्ष 2021-22 के लिए पहली द्विमासिक मौद्रिक नीति का एलान 7 अप्रैल 2021 को करेगी.

पिछली बैठक में नहीं हुआ था बदलाव

इससे पहले तीन दिनों की मौद्रिक नीति समीक्षा (MPC) की बैठक आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में होगी. 5 फरवरी को आखिरी मौद्रिक नीति समिति की बैठक के बाद, केंद्रीय बैंक ने मुद्रास्फीति की चिंताओं का जिक्र करते हुए, मुख्य ब्याज दर (रेपो) में कोई बदलाव नहीं किया था.

जानकारों के मुताबिक, आरबीआई द्वारा उदार मौद्रिक नीति रवैये को जारी रखने और मॉनेटरी कदम का एलान करने के लिए सही समय का इंतजार करने की उम्मीद है. यह ग्रोथ को बढ़ावा देने के लिए सबसे बेहतर संभावित आउटकम सुनिश्चित करने के लिए किया जाएगा, जिसमें मुद्रास्फीति को काबू में रखने के मुख्य उद्देश्य को छोड़ा नहीं जाएगा.

Coronavirus Update: भारत में कोरोना वायरस के 62,714 नए मामले, इस साल की रिकॉर्ड बढ़ोतरी

Dun और Bradstreet ने एक रिपोर्ट में कहा कि हाल ही में कोविड-19 केस में हुई बढ़ोतरी और कुछ राज्यों द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों से औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार में आगे अनिश्चित्ता और रूकावटें आएंगी. Dun & Bradstreet के चीफ इकोनॉमिस्ट अरुण सिंह ने कहा कि बढ़ते मुद्रास्फीति के दबावों के बावजूद, उन्हें आरबीआई के पॉलिसी रेपो रेट को आने वाली मॉनेटरी पॉलिसी रिव्यू में बदलाव नहीं करने की उम्मीद है, जिसकी वजह कोविड-19 केस में तेज बढ़ोतरी की वजह से सामने आई अनिश्चित्ता है.

अगली एमपीसी को लेकर उम्मीदों के बारे में पूछे जाने पर, एनरॉक प्रॉपर्टी कंसल्टेंट्स के चेयरमैन अनुज पुरी ने कहा कि उपभोक्ता मुद्रास्फीति के अस्थिर रहने और पॉलिसी रेपो रेट में फरवरी 2020 से 115 बेसिस प्वॉइंट्स यानी बड़े तौर पर घटने के बाद, आरबीआई दरों को होल्ड पर रख सकती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. RBI नहीं करेगा रेपो रेट में बदलाव! जानकारों ने कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी को बताया वजह

Go to Top