मुख्य समाचार:

Moody’s ने भारत की GDP ग्रोथ का अनुमान घटाया, 2020 में 5.4% रहेगी विकास दर

रेटिंग एजेंसी Moody's का कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में रिकवरी उम्मीद से कम रही, जिसके चलते विकास दर का अनुमान घटाया गया है.

Updated: Feb 17, 2020 3:41 PM
Rating Agency Moodys cuts India growth projection to 5.4 percent for 2020 as slow recovery as expectedरेटिंग एजेंसी Moody’s का कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में रिकवरी उम्मीद से कम रही, जिसके चलते विकास दर का अनुमान घटाया गया है.

Moody’s on India’s GDP Growth: रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने सोमवार को भारत की विकास दर (GDP) का अनुमान 2020 के लिए 6.6 फीसदी से घटाकर 5.4 फीसदी कर दिया है. एजेंसी का कहना है कि उम्मीद से कम रहे आर्थिक सुधार की वजह से GDP ग्रोथ का अनुमान घटाया गया है. मूडीज ने अपने अपडेटेड ग्लोबल मैक्रो आउटलुक में कहा है कि पिछले दो साल में भारतीय अर्थव्यवस्था की रफ्तार तेजी से घटी है. हालांकि, उम्मीद है कि चालू तिमाही से इसमें रिकवरी दिखाई दे.

मूडीज के अनुसार, ”हमने पहले जो उम्मीद की थी रिकवरी की रफ्तार उससे कम रही. इसलिए हमने ग्रोथ का अनुमान संशोधित कर 2020 के लिए 5.4 फीसदी और 2021 के लिए 5.8 फीसदी कर दिया है. पहले यह अनुमान क्रमश: 6.6 फीसदी और 6.7 फीसदी था.” ग्रोथ का यह अनुमान कैलेंडर ईयर पर आधारित है और उस आकलन के अनुसार भारत की विकास दर 2019 में 5 फीसदी रही थी. अर्थव्यवस्था में कमजोरी और क्रेडिट ग्रोथ में गिरावट का असर एक दूसरे पर पड़ रहा है.

बता दें, चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट 4.5 फीसदी पर आ गई. जोकि छह साल में सबसे कम थी. सरकार के आर्थ‍िक सर्वेक्षण में वित्त वर्ष 2020-21 में GDP ग्रोथ रेट 6-6.5 फीसदी के बीच रहने का अनुमान लगाया गया है. वर्ल्ड बैंक ने तो वित्त वर्ष 2019-20 में सिर्फ 5 फीसदी जीडीपी ग्रोथ रखने का अनुमान जाहिर किया है.

AGR: एयरटेल ने DoT को चुकाए 10 हजार करोड़, SC ने वोडाफोन का 2500 करोड़ भुगतान का प्रस्ताव ठुकराया

बजट से नहीं मिली कोई राहत

मूडीज का कहना है कि राजकोषीय मोर्चे पर बात करें तो आम बजट 2020 में डिमांड को बूस्ट देने के लिए कोई बड़े कदम नहीं उठाए गए हैं. दूसरे देशों में भी इसी तरह की नीतियां अपनाई गई हैं. टैक्स में कटौती से कंज्यूमर और बिजनेस डिमांड में बढ़ोतरी हुई, ऐसा नहीं देखा गया है.

RBI से राहत की उम्मीद

मूडीज का कहना है कि रिजर्व बैंक की तरफ से अतिरिक्त राहत यानी ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद है. हालांकि, खुदरा महंगाई दर में जिस तरह का उछाल आया है, वो आगे भी बना रहता है तो RBI के लिए ब्याज दरें घटाना चुनौतीपूर्ण होगा.

ग्लोबल GDP ग्रोथ अनुमान भी घटा

रेटिंग एजेंसी ने ग्लोबल जीडीपी ग्रोथ का अनुमान भी घटा दिया है. अब G-20 देशों की कुल जीडीपी ग्रोथ 2020 में 2.4 फीसदी रहेगी. 2021 में यह 2.8 फीसदी हो सकती है. चीन के लिए हमने विकास दर का अनुमान 2020 के लिए घटाकर 5.2 फीसदी कर दिया है. हालांकि, 2021 के लिए चीन की ग्रोथ का अनुमान 5.7 फीसदी पर बरकरार रखा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Moody’s ने भारत की GDP ग्रोथ का अनुमान घटाया, 2020 में 5.4% रहेगी विकास दर

Go to Top