मुख्य समाचार:

नोटबंदी नहीं NPA पर रघुराम राजन के नए सिस्टम से गिरी भारत की GDP ग्रोथ: Niti Aayog वाइस चेयरमैन राजीव कुमार

राजीव कुमार ने कहा कि पूर्व गवर्नर राजन की नई प्रणाली से बैंकों का एनपीए बढ़ा और इसकी वजह से बैंकिंग सेक्टर ने इंडस्ट्री को उधार देना बंद कर दिया. मझोली और छोटी इंडस्ट्री की क्रेडिट ग्रोथ निगेटिव में चली गई.

September 3, 2018 6:45 PM
Raghuram Rajan, NPA recognition process, India GDP, demonetisation, Niti Aayog Vice Chairman Rajiv Kumar, Banking NPA, Credit Growth, Niti Aayog latest newsराजीव कुमार ने कहा कि पूर्व गवर्नर राजन की नई प्रणाली से बैंकों का एनपीए बढ़ा और इसकी वजह से बैंकिंग सेक्टर ने इंडस्ट्री को उधार देना बंद कर दिया. मझोली और छोटी इंडस्ट्री की क्रेडिट ग्रोथ निगेटिव में चली गई. (PTI)

नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार ने कहा कि पूर्व RBI गवर्नर रघुराम राजन की NPA पहचानने की नई प्रणाली से बैंकों ने नया लोन देना बंद कर दिया. नतीजा यह रहा कि नोटबंदी के बाद के दौर में अर्थव्यवस्था मंदी में चली गई. कुमार ने सोमवार को एएनआई से बातचीत में कहा कि नोटबंदी की वजह से विकास दर में गिरावट का ट्रेंड नहीं आया था, जिसकी वजह से अर्थव्यवस्था में सुस्ती आई.

राजीव कुमार ने कहा कि पूर्व गवर्नर राजन की नई प्रणाली से बैंकों का एनपीए बढ़ा और इसकी वजह से बैंकिंग सेक्टर ने इंडस्ट्री को उधार देना बंद कर दिया. मझोली और छोटी इंडस्ट्री की क्रेडिट ग्रोथ निगेटिव में चली गई. बड़ी इंडस्ट्री लिए भी यह 1 से 2.5 फीसदी तक गिर गया. भारतीय अर्थव्यवस्था के इतिहास में क्रेडिट में आई यह सबसे बड़ी गिरावट थी.

कुमार ने कहा कि 2015-16 की आखिरी तिमाही से विकास दर में गिरावट शुरू हुई और यह लगातार छह तिमाही तक बनी रही. नोटबंदी और विकास दर में गिरावट का सीधे तौर पर उन दिनों कोई संबंध नहीं था. उन्होंने कहा कि इस अवधि में बैंकों का एनपीए 4 लाख करोड़ से बढ़कर 2017 के मध्य तक 10.5 लाख करोड़ तक पहुंच गया. तब एनडीए सरकार 2014 में सत्ता में आई थी.

हाल ही में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की तरफ से चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 8.2 फीसदी की विकास दर के पीछे आठ तिमाहियों में सबसे कम कम लोअर बेस (5.6) को वजह बताया गया था. इस बयान पर राजीव कुमार ने कहा कि वह अपने ‘विपक्ष धर्म’ के चलते ऐसा बयान दे रहे हैं. यह पूरी तरह गलत व्याख्या है.

उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि उन्हें यह स्वीकार कर लेना चाहिए इस सरकार की तरफ से लागू किए गए आर्थिक सुधारों को असर दिखाई दे रहा है और इसके अच्छे नतीजे आ रहे हैं. क्योंकि आगे भी विकास दर की यह रफ्तार बनी रहेगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. नोटबंदी नहीं NPA पर रघुराम राजन के नए सिस्टम से गिरी भारत की GDP ग्रोथ: Niti Aayog वाइस चेयरमैन राजीव कुमार

Go to Top