सर्वाधिक पढ़ी गईं

रघुराम राजन का वित्त मंत्री सीतारमण पर पलटवार, बोले- दो तिहाई कार्यकाल मोदी सरकार में था

रघुराम राजन ने गुरुवार को निर्मला सीतारमण को याद दिलाया कि आरबीआई के प्रमुख के रूप में उनका दो तिहाई कार्यकाल भाजपा सरकार के दौरान ही था.

Updated: Oct 31, 2019 8:13 PM
Image: Reuters

बैंकिंग क्षेत्र की परेशानियों को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की हाल की तीखी आलोचना झेलने के बाद रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने गुरुवार को उन्हें याद दिलाया कि RBI प्रमुख के रूप में उनका दो तिहाई कार्यकाल भाजपा सरकार के दौरान ही था. राजन ने CNBC को दिये इंटरव्यू में ये बात कही. वित्त मंत्री ने इस महीने की शुरुआत में न्यूयॉर्क में कहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राजन दोनों के कार्यकाल में देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को सबसे खराब दौर से गुजरना पड़ा था.

राजन ने कहा कि उनके कार्यकाल में ही बैंकों में फंसे कर्ज (NPA) की समस्या से छुटकारा पाने के लिये काम शुरू किये गये थे लेकिन उनके रहते वह काम पूरा नहीं हो पाया था. राजन 5 सितंबर 2013 से सितंबर 2016 के दौरान RBI के गवर्नर रहे. उन्होंने कहा कि आर्थिक वृद्धि को रफ्तार देने के लिये देश को नई पीढ़ी के सुधारों की जरूरत है और पांच फीसदी जीडीपी के साथ यह कहा जा सकता है कि भारत आर्थिक सुस्ती से गुजर रहा है. राजन ने इंटरव्यू में कहा कि पिछली (कांग्रेस) सरकार में उनका सिर्फ आठ महीने से कुछ ज्यादा का कार्यकाल था. वहीं इस (भाजपा) सरकार में उनका कार्यकाल 26 महीने का रहा.

राजनीतिक बहस में नहीं पड़ना चाहते

उन्होंने यह जवाब सीतारमण के न्यूयॉर्क में दिये गये बयान के बारे में पूछे गये सवाल पर दिया. हालांकि पूर्व गवर्नर ने तुंरत यह भी कहा कि वह इस मामले में राजनीतिक बहस में नहीं पड़ना चाहते. उनके मुताबिक वास्तविकता यह है कि बैंकों की स्थिति दुरुस्त करने के कदम उठाये गये थे. यह काम अभी चल रहा है और जिसे तेजी से पूरा करने की जरूरत है. बैंकों में पूंजी डाली जा चुकी है लेकिन यह काम गैर-बैंकिंग वित्तीय क्षेत्र में भी करना है जिसका काम ठप पड़ता जा रहा है. इसे दुरुस्त करने की जरूरत है. अगर मजबूत आर्थिक वृद्धि चाहते हैं, तो उसके लिए वित्तीय क्षेत्र में तेजी जरूरी है.

प्रमुख उद्योगों की हालत सितंबर में भी खस्ता, उत्पादन 5.2% घटा

मोदी सरकार अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर अच्छा काम नहीं कर सकी: राजन

सीतारमण ने कोलंबिया विश्वविद्यालय में राजन के बयान पर पूछे गये सवाल के जवाब में उन पर हमला किया था. पूर्व गवर्नर ने कहा था कि पहले कार्यकाल में नरेंद्र मोदी सरकार अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर पहले से अच्छा काम नहीं कर सकी क्योंकि सरकार पूरी तरह केंद्रीकृत थी और नेतृत्व में आर्थिक वृद्धि तेज करने का कोई दृष्टिकोण नहीं दिखा. उस पर वित्त मंत्री ने पलटवार करते हुए कहा था कि राजन के कार्यकाल में ही बैंक कर्ज के साथ बड़े मुद्दे आये थे.

उन्होंने कहा था कि विद्वान व्यक्ति के रूप में वह राजन का सम्मान करती हैं. उन्होंने रिजर्व बैंक का कार्यकाल संभालने का चयन ऐसे समय किया था जब भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी पर थी. गवर्नर के तौर पर राजन का ही कार्यकाल था जब फोन कॉल पर नेताओं के साथ साठगांठ कर कर्ज दिये जा रहे थे. उसी का नतीजा है कि भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक आजतक मुश्किल से बाहर आने के लिये सरकार पर निर्भर हैं.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. रघुराम राजन का वित्त मंत्री सीतारमण पर पलटवार, बोले- दो तिहाई कार्यकाल मोदी सरकार में था

Go to Top