सर्वाधिक पढ़ी गईं

Farmers’ Protest: 5 दिसंबर को PM मोदी का पुतला फूंकने की चेतावनी, 8 दिसंबर को ‘भारत बंद’ का आह्वान

नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन तेज होता जा रहा है.

Updated: Dec 04, 2020 8:40 PM

Farmers’ Protest: नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन तेज होता जा रहा है. 3 दिसंबर को सरकार और किसान नेताओं के बीच हुई बातचीत किसी नतीजे पर नहीं पहुंची लेकिन दोनों ही पक्षों ने कुछ हद तक बात आगे बढ़ने की बात स्वीकारी. अगली बैठक 5 दिसंबर को होने वाली है. इस बीच सिंघू बॉर्डर (हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर) पर डटे भारतीय किसान यूनियन (BKU-लखवाल) के जनरल सेक्रेटरी, हरविंदर सिंह लखवाल ने कहा है कि 5 दिसंबर को पूरे भारत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पुतले जलाए जाएंगे. साथ ही 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया गया है.

लखवाल ने कहा कि हमने 3 दिसंबर को सरकार को बता दिया कि कृषि कानूनों को वापस लिया जाना चाहिए. लखवाल ने कहा, ‘‘आज की हमारी बैठक में, हमने आठ दिसंबर को ‘भारत बंद’ का आह्वान करने का फैसला किया है, जिस दौरान हम सभी टोल प्लाजा पर भी कब्जा कर लेंगे. यदि इन कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया गया तो हमने आने वाले दिनों में दिल्ली की शेष सड़कों को अवरूद्ध करने की योजना बनाई है.”

गाजीपुर-गाजियाबाद बॉर्डर पर जमा भारतीय किसान यूनियन के प्रमुख राकेश टिकैत का कहना है कि 8 दिसंबर को तीनों कृषि कानूनों के विरोध में एक दिवसीय भारत बंद का आह्वान किया गया है. 5 दिसंबर को हम सरकार के साथ बैठक में हिस्सा लेंगे. टिकैत ने कहा कि किसान आशा कर रहे हैं कि सरकार उनकी मांग अगली बैठक में मान लेगी. अगर ऐसा नहीं हुआ तो विरोध जारी रहेगा.

नहीं मानी मांगे तो तेज होगा आंदोलन

किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि अगर केंद्र सरकार शनिवार की बातचीत के दौरान उनकी मांगों को स्वीकार नहीं करती है, तो वे नए कृषि कानूनों के खिलाफ अपने आंदोलन को तेज करेंगे. दिल्ली के बॉर्डर प्वॉइंट्स पर पंजाब, हरियाणा और अन्य राज्यों के किसानों का प्रदर्शन लगातार नौ दिनों से जारी है.

कंगना को कानूनी नोटिस

वहीं बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के किसानों के आंदोलन को लेकर किए गए ट्वीट पर उन्हें दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (DSGMC) के एक सदस्य द्वारा कानूनी नोटिस भेजा गया है. कमेटी के सदस्य जस्मैन सिंह नोनी की ओर से वकील हरप्रीत सिंह होरा ने यह नोटिस भेजा है. कानूनी नोटिस के मुताबिक, कंगना ने एक ट्वीट साझा कर आरोप लगाया कि ‘शाहीन बाग की दादी’ भी नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के आंदोलन से जुड़ गई हैं. अभिनेत्री ने अपने उसी ट्वीट में कहा कि ‘टाइम’ पत्रिका में जगह बना चुकी वही दादी ‘100 रुपये में उपलब्ध’ हैं.

कानूनी नोटिस में कहा गया, ‘कई खबरों में दावा किया गया कि दोनों महिलाएं अलग-अलग हैं और अगर नहीं भी हैं तो उन्हें अपनी राजनीति चमकाने के लिए किसी बुजुर्ग महिला को अपमानित करने का अधिकार नहीं है. यह साफ तौर पर नफरत फैलाने वाला ट्वीट है और जल्द से जल्द इस पर कदम उठाए जाने की जरूरत है.’

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Farmers’ Protest: 5 दिसंबर को PM मोदी का पुतला फूंकने की चेतावनी, 8 दिसंबर को ‘भारत बंद’ का आह्वान

Go to Top