मुख्य समाचार:

एशिया के सबसे बड़े सोलर प्लांट से दिल्ली मेट्रो को भी मिलेगी बिजली, 750 मेगावाट है क्षमता

PM मोदी ने रीवा स्थित सोलर पावर प्रोजेक्ट को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राष्ट्र को समर्पित किया.

Updated: Jul 10, 2020 12:22 PM
Delhi Metro to get power supply from 750 MW Solar Project set up at Rewa, MP PM Modi dedicates to the nationमध्य प्रदेश के रीवा में स्थित इस प्रोजेक्ट की उत्पादन क्षमता 750 मेगावाट है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शुक्रवार को एशिया का सबसे बड़े सोलर पावर प्रोजेक्ट राष्ट्र को समर्पित किया. मध्य प्रदेश के रीवा में स्थित इस प्रोजेक्ट की उत्पादन क्षमता 750 मेगावाट है. इस सोलर प्रोजेक्ट के शुरू होने से मध्य प्रदेश के लोगों और उद्योगों को बिजली मिलेगी. साथ ही दिल्ली में मेट्रो रेल को भी इसका लाभ होगा. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत कई अन्य मंत्रियों ने इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस सोलर परियोजना का उद्घाटकर कर कहा, ”आज रीवा ने वाकई इतिहास रच दिया है. रीवा की पहचान मां नर्मदा के नाम और सफेद बाघ से रही है. अब इसमें एशिया के सबसे बड़े सोलर पावर प्रोजेक्ट का नाम भी जुड़ गया है. इस सोलर प्लांट से मध्य प्रदेश के लोगों को, उद्योगों को तो बिजली मिलेगी ही,दिल्ली में मेट्रो रेल तक को इसका लाभ मिलेगा. मैं रीवा के लोगों को, मध्य प्रदेश के लोगों को, बहुत-बहुत बधाई देता हूं, शुभकामनाएं देता हूं. रीवा का ये सोलर प्लांट इस पूरे क्षेत्र को, इस दशक में ऊर्जा का बहुत बड़ा केंद्र बनाने में मदद करेगा.”

क्लीन एनर्जी का हब बनेगा मध्य प्रदेश

पीएम मोदी ने कहा कि रीवा की ही तरह शाजापुर, नीमच और छतरपुर में भी बड़े सोलर पावर प्लांट पर काम चल रहा है. ये तमाम प्रोजेक्ट जब तैयार हो जाएंगे, तो मध्य प्रदेश निश्चित रूप से सस्ती और साफ-सुथरी बिजली का हब बन जाएगा. इसका सबसे अधिक लाभ मध्य प्रदेश के गरीब, मध्यम वर्ग के परिवारों, किसानों, आदिवासियों को होगा.

सौर ऊर्जा Sure, Pure और Secure है

पीएम ने कहा कि सौर ऊर्जा आज की ही नहीं बल्कि 21वीं सदी की ऊर्जा ज़रूरतों का एक बड़ा माध्यम होने वाला है, क्योंकि सौर ऊर्जा, Sure है, Pure है और Secure है. पीएम ने कहा कि Sure इसलिए क्योंकि ऊर्जा के दूसरे स्रोत खत्म हो सकते हैं, लेकिन सूर्य सदा पूरे विश्व में चमकता रहेगा. Pure इसलिए, क्योंकि ये पर्यावरण को सुरक्षित रखने में मदद करता है. Secure इसलिए क्योंकि ये हमारी ऊर्जा जरूरतों को सुरक्षित करता है.

बिजली की आत्मनिर्भरता जरूरी

पीएम मोदी ने कहा कि जैसे-जैसे भारत विकास के नए शिखर की तरफ बढ़ रहा है, हमारी आशाएं-आकांक्षाएं बढ़ रही हैं, वैसे-वैसे हमारी ऊर्जा की, बिजली की जरूरतें भी बढ़ रही हैं. ऐसे में आत्मनिर्भर भारत के लिए बिजली की आत्मनिर्भरता बहुत आवश्यक है. जब हम रिन्युएबल एनर्जी के बड़े प्रोजेक्ट लॉन्च कर रहे हैं, तब हम ये भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि साफ-सुथरी ऊर्जा के प्रति हमारा संकल्प जीवन के हर पहलू में दिखे. हम कोशिश कर रहे हैं कि इसका लाभ देश के हर कोने, समाज के हर वर्ग, हर नागरिक तक पहुंचे.

रीवा सोलर पावर प्लांट

रीवा सोलर पावर प्लांट प्रोजेक्ट में 250 मेगावाट के तीन सोलर जेनरेटिंग यूनिट हैं. यह करीब 1500 हेक्टेयर के एक सोलर पार्क में 500 हेक्टेयर प्लाट पर स्थित है. सोलर पार्क को रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड (RUMSL) ने डेवपल किया है. यह कंपनी मध्य प्रदेश उर्जा विकास निगम लिमिटेड (MPUVN) और सेंट्रल पीएसयू सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन आफ इंडिया (SECI) की ज्वाइंट वेंचर है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. एशिया के सबसे बड़े सोलर प्लांट से दिल्ली मेट्रो को भी मिलेगी बिजली, 750 मेगावाट है क्षमता

Go to Top