मुख्य समाचार:

इंडिया ग्‍लोबल वीक में PM मोदी: आज का भारत रिफॉर्मिंग, परफॉर्मिंग और ट्रांसफॉर्मिंग

तीन दिनों तक चलने वाले इस आयोजन का विषय है- ‘‘बी द रिवाइवल: इंडिया एंड अ बैटर न्‍यू वर्ल्‍ड’’.

Updated: Jul 09, 2020 3:39 PM
Image: ANI

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज दोपहर ‘इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020’ के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया. ब्रिटेन द्वारा आयोजित तीन दिनों तक चलने वाले इस डिजिटल आयोजन का विषय है- ‘‘बी द रिवाइवल: इंडिया एंड अ बैटर न्‍यू वर्ल्‍ड’’. संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि यह ईवेंट इंडिया इंक द्वारा पिछले सालों में किए गए बेहतरीन कामों का हिस्सा है. ऐसे ईवेंट भारत में अवसरों को वैश्विक दर्शकों के सामने लेकर आते हैं. मौजूदा समय में रिवाइवल की बात होना स्वाभाविक है. ऐसा विश्वास है कि ग्लोबल रिवाइवल की कहानी में भारत बड़ी भूमिका निभाएगा.

आगे कहा कि ऐसा हुआ तो 2 फैक्टर प्रमुख होंगे. इनमें से एक होगा भारतीय टैलेंट. पूरी दुनिया ने भारत की टैलेंट फोर्स का योगदान देखा है. टेक इंडस्ट्री और टेक प्रोफेशनल्स को कौन भूल सकता है. वे दशकों से नए रास्ते दिखा रहे हैं. भारत ऐसे टैलेंट का पावर हाउस है, जो रिवाइवल में अपना योगदान देने के इच्छुक हैं.

दूसरा फैक्टर सुधार और फिर से जान फूंकने का गुण

पीएम मोदी ने आगे कहा कि दूसरा फैक्टर सुधार और फिर से जान फूंकने का भारत का गुण है. भारतीय नैचुरल रिफॉर्मर्स हैं. इतिहास गवाह है कि भारत ने हर चुनौती से पार पाया है, फिर चाहे वह सोशल हो या इकोनॉमिक. वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत मजबूती से जंग लड़ रहा है. लोगों के स्वास्थ्य पर अधिक फोकस तो है ही, साथ ही अर्थव्यवस्था की हेल्थ पर भी समान ध्यान दिया जा रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि जब भारत रिवाइवल की बात करता है तो वह देखभाल, करुणा के साथ रिवाइवल की होती है, ऐसे रिवाइवल की होती है जो ​पर्यावरण और अर्थव्यवस्था दोनों के लिए टिकाउ हो. पिछले 6 सालों में भारत ने कई क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं, जैसे- टोटल फाइनेंशियल इन्क्लूजन, रिकॉर्ड हाउसिंग और इंफ्रा कंस्ट्रक्चर, कारोबारी सुगमता, GST समेत टैक्स के क्षेत्र में साहसिक सुधार आदि. भारतीयों में असंभव को संभव कर दिखाने का जुनून है. इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि देश की आर्थिक रिकवरी के मोर्चे पर हमने आगे बढ़ना शुरू कर दिया है.

भारत अभी भी सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक

भारत अभी भी दुनिया की सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. हम सभी वैश्चिक कंपनियों का स्वागत करते हैं कि वे देश में आएं और खुद को स्थापित करें. भारत में कई उभरते सेक्टर्स में कई तमाम संभावनाएं और अवसर हैं. कृषि में हमारे सुधार बेहद आकर्षक निवेश अवसर मुहैया कराते हैं. हमने एमएसएमई सेक्टर में सुधार किए हैं. रक्षा सेक्टर में भी निवेश अवसर हैं. अब स्पेस सेक्टर में और प्राइवेट इन्वेस्टमेंट का अवसर मुहैया करा दिया गया है.

आत्मनिर्भर भारत का अर्थ अलग-थलग होना नहीं

पीएम मोदी ने आगे कहा कि कोरोना वायरस ने एक बार फिर दिखा दिया है कि भारत की फार्मा इंडस्ट्री केवल भारत के लिए ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के लिए एक एसेट है. इस इंडस्ट्री ने दवाइयों की कॉस्ट घटाने में अग्रणी भूमिका निभाई है, विशेषकर विकासशील देशों के लिए.  आत्मनिर्भर भारत को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि यह अलग-थलग होना या पूरी दुनिया के लिए बंद होना नहीं है. यह सेल्फ सस्टेनिंग और सेल्फ जनरेटिंग को लेकर है.

आज का भारत रिफॉर्मिंग, परफॉर्मिंग और ट्रांसफॉर्मिंग

पूरे विश्व के अच्छे और समृद्धि के लिए भारत जो कर सकता है, वह करने के लिए तैयार है. यह वह भारत है, जो रिफॉर्मिंग है, परफॉर्मिंग है और ट्रांसफॉर्मिंग है. कोविड19 की वैक्सीन को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय कंपनियां भी कोरोना की वैक्सीन विकसित करने की अंतरराष्ट्रीय कोशिशों में योगदान दे रही हैं. मुझे विश्वास है कि वैक्सीन मिल जाने पर भारत की इसे विकसित करने और इसका प्रॉडक्शन बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका होगी.

30 देशों के 5000 वैश्विक प्रतिभागी

इंडिया ग्‍लोबल वीक में 30 देशों के 5000 वैश्विक प्रतिभागियों को, 75 सत्रों में 250 वैश्विक वक्ता संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री मोदी ट्वीट कर कहा, ‘‘इंडिया इंक कॉर्प की ओर से आयोजित इंडिया ग्लोबल वीक को मैं गुरुवार दोपहर डेढ़ बजे संबोधित करूंगा. यह मंच वैश्विक सोच वाले नेताओं को और उद्योग जगत के कर्णधारों को एक साथ लाता है, जो कोविड-19 महामारी के बाद वैश्विक अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने और भारत की चुनौतियों के विभिन्न आयामों पर चर्चा करेंगे.’’

ये लोग भी होंगे शामिल

बयान में कहा गया कि इस आयोजन में भाग लेने वाले अन्य वक्ताओं में विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर; रेल, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल, जम्‍मू कश्‍मीर के उपराज्यपाल जी.सी. मुर्मू , ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरु और आध्यात्मिक नेता श्री श्री रविशंकर शामिल हैं. ब्रिटेन के विदेश मंत्री डॉमिनिक राब और गृह सचिव प्रीति पटेल, भारत में अमेरिकी राजदूत केन जस्टर भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे.

पंडित रविशंकर के 100वें जन्मदिन पर श्रद्धांजलि

इस कार्यक्रम में मधु नटराज की “आत्मनिर्भर भारत” पर एक शानदार प्रस्‍तुति होगी और सुप्रसिद्ध सितार वादक पंडित रविशंकर के 100वें जन्‍मदिन पर उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके तीन प्रतिष्ठित छात्र संगीत का एक कार्यक्रम प्रस्‍तुत करेंगे. लंदन में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, आयोजकों का अनुमान है कि इस कार्यक्रम में उद्योग और सामरिक विषयों के करीब 250 वक्ता भाग लेंगे और पूरे विश्व के 5000 से अधिक दर्शकों के समक्ष अपनी बात रखेंगे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. इंडिया ग्‍लोबल वीक में PM मोदी: आज का भारत रिफॉर्मिंग, परफॉर्मिंग और ट्रांसफॉर्मिंग

Go to Top