सर्वाधिक पढ़ी गईं

पीएम आवास योजना-ग्रामीण के तहत सिर्फ 54 % घरों का हुआ निर्माण, 2022 तक सबको घर दिलाने का है लक्ष्य

पीएम आवास योजना-ग्रामीण के तहत चार साल में महज 54 फीसदी घरों का ही निर्माण पूरा हुआ है.

December 28, 2020 7:52 AM
pradhan mantri aawas yojna gramin pmay g too far to achieve goal every household have own home know here detailsकेंद्र सरकार द्वारा पीएम आवास योजना-ग्रामीण को 20 नवंबर 2016 से शुरू किया गया था.

पीएम आवास योजना-ग्रामीण (PMAY-G) को शुरू हुए करीब चार साल पूरे हो सके हैं. इस योजना के तहत अब तक 1,22,81,874 घरों का निर्माण किया जा चुका है जो इस योजना के करीब 54 फीसदी के बराबर है. केंद्र सरकार द्वारा यह योजना 20 नवंबर 2016 को शुरू की गई थी. योजना के तहत लक्ष्य निर्धारित किया गया कि 2022 तक ग्रामीण इलाकों में रहने वाले सभी लोगों के पास अपना एक खुद का पक्का घर हो. इस लक्ष्य के साथ 2022 तक 2,23,89,073 घरों का निर्माण किया जाना है जिसमें से 1,22,81,874 घरों का निर्माण हो चुका है. टार्गेट के सबसे अधिक करीब राज्य उत्तर प्रदेश है. एक खास बात और है कि योजना शुरू होने के बाद से किसी भी वित्त वर्ष में घरों के निर्माण का लक्ष्य नहीं पूरा हो पाया है और इस साल लक्ष्य से बहुत दूर हैं.

सबसे अधिक घरों का निर्माण पश्चिम बंगाल में

पीएमएवाई-जी के तहत देश भर में सबसे अधिक घरों का निर्माण पश्चिम बंगाल में हुआ है. मिनिस्ट्री ऑफ रूरल डिपार्टमेंट पर दिए गए आंकड़ों के मुताबिक पश्चिम बंगाल में इस योजना के तहत 20 लाख से अधिक घरों का निर्माण हो चुका है. पश्चिम बंगाल के बाद इस योजना के तहत सबसे अधिक घरों का निर्माण मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में हुआ है. मध्य प्रदेश में 17 लाख से अधिक और उत्तर प्रदेश में 14 लाख से अधिक घरों का निर्माण हुआ है.

1.95 लाख लाभार्थियों का हो चुका है नामांकन

पीएमएवाई-जी के तहत 2.23 करोड़ घरों का निर्माण किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. इसमें अब तक 1,95,38,491 लाभार्थियों का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है और 1,89,24,004 घरों की जियो टैगिंग भी की जा चुकी है. मिनिस्ट्री की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक पीएमएवाई-जी के तहत अब तक 1,83,25,535 घरों का सैंक्शन किया जा चुका है और इसमें से 1,22,81,874 घरों का निर्माण पूरा हो चुका है. इस योजना के तहत 2.8 लाख करोड़ रुपये का फंड एलोकेट किया गया है जिसमें से 1.7 लाख करोड़ रुपये रिलीज किए जा चुके हैं.

वित्त वर्ष 2020-21 में 1 लाख घरों का निर्माण

पीएमएवाई-जी के तहत इस वित्त वर्ष 99,827 घरों का निर्माण किया जा चुका है. इस वित्त वर्ष के लिए 64,40,157 घरों के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है जिसके लिए अब तक 32,46,816 लाभार्थियों का रजिस्ट्रेशन भी किया जा चुका है. चालू वित्त वर्ष में अभी तक 29,99,214 घरों का सैंक्शन हुआ है जिसमें से महज 1 लाख के करीब ही पूरे हो सके हैं.

किसी भी साल नहीं पूरा हुआ लक्ष्य

पीएमएवाई-जी को 2016 में शुरू किया गया था और तब से हर साल कुछ घरों के निर्माण का लक्ष्य निर्धारित किया जाता है. हालांकि किसी भी वर्ष टार्गेट पूरा नहीं किया जा सका है. 2016-17 में 42,64,470 घरों के निर्माण का लक्ष्य रखा गया था लेकिन सिर्फ 38,34,612 घरों का ही निर्माण हो पाया. 2017-18 में 31,70,117 घरों के निर्माण का लक्ष्य था जबकि 28,44,398 घरों का ही निर्माण हो पाया. 2018-19 में 25,14,493 घरों के निर्माण का लक्ष्य था लेकिन 23,73,446 ही पूरे हो सके. पिछले वित्त वर्ष में घरों का जितना लक्ष्य निर्धारित किया गया, उससे बहुत कम ही निर्माण हो पाया. पिछले वित्त वर्ष 2019-20 में 59,99,836 घरों के निर्माण का लक्ष्य निर्धारित किया गया था जबकि सिर्फ 31,29,391 घरों का ही निर्माण हो पाया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. पीएम आवास योजना-ग्रामीण के तहत सिर्फ 54 % घरों का हुआ निर्माण, 2022 तक सबको घर दिलाने का है लक्ष्य

Go to Top