सर्वाधिक पढ़ी गईं

Mann Ki Baat: 26 जनवरी के दिन तिरंगे का अपमान देख, देश बहुत दुखी भी हुआ- पीएम मोदी

Mann Ki Baat: बजट के एक दिन पहले और किसान आंदोलन के बीच आज 31 जनवरी को प्रधानमंत्री रेडियो पर 'मन की बात' करेंगे.

Updated: Jan 31, 2021 11:55 AM
PM Narendra Modi year 2021 first Mann Ki Baat live updates farm law budget covid vaccinationआज मन की बात का 73वां संस्करण है.

Mann Ki Baat:  2021 के पहले मन की बात का प्रसारण शुरू हो चुका है. पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा कि हम सभी की छोटी-मोटी बातें जो एक-दूसरे को कुछ सिखा जाएं और जीवन के अनुभव जो जी-भर के जीने की प्रेरणा बन जाए, यही ‘मन की बात’ है. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब मैं ‘मन की बात’ करता हूँ तो ऐसा लगता है, जैसे आपके बीच, आपके परिवार के सदस्य के रूप में उपस्थित हूं. कोरोना के खिलाफ लड़ाई पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत ने एक उदाहरण पेश किया है और देश का वैक्सीनेशन कार्यक्रम दुनिया में एक मिसाल बन चुका है. भारत में दुनिया का सबसे बड़ा कोविड वैक्सीन प्रोग्राम चला रहा है. पीएम मोदी ने जिक्र किया कि सिर्फ 15 दिन में भारत अपने 30 लाख से अधिक कोरोना वॉरियर का टीकाकरण कर चुका है जबकि अमेरिका जैसे समृद्ध देश को इसी काम में 18 दिन लगे थे और ब्रिटेन को 36 दिन.

कार्यक्रम में पीएम मोदी ने 26 जनवरी को राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा का जिक्र करते हुए दुख जताया. उन्होंने कहा कि दिल्ली में 26 जनवरी को तिरंगे का अपमान देख देश बहुत दुखी हुआ. पीएम मोदी ने कहा कि हमें आने वाले आने वाले समय को नई आशा और
नवीनता से भरना है. हमने पिछले साल असाधारण संयम और साहस का परिचय दिया. इस साल भी हमें कड़ी मेहनत करके अपने संकल्पों को सिद्ध करना है.

मन की बात की मुख्य बातें

  • पीएम मोदी ने अपने पास आए एक संदेश का जिक्र कार्यक्रम में किया. यह संदेश हिंदी साहित्य की छात्रा 23वर्षीय प्रियंका पांडेय ने भेजा था जो बिहार के सीवान में रहती हैं. प्रियंका ने नमो ऐप पर लिखा कि वो देश के 15 घरेलू पर्यटन स्थलों पर जाने के उनके सुझावों से प्रेरित होकर एक जनवरी को एक जगह के लिए निकली, उनके घर से 15 किमी दूर देश के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद का पैतृक निवास. पीएम मोदी ने कहा कि प्रियंका ने बहुत सुंदर बात लिखी कि अपने देश की महान विभूतियों को जानने की दिशा में उनका यह पहला कदम था.
  • नमो ऐप पर मुंगेर के जयराम विप्लव की एक टिप्पणी का भी पीएम मोदी ने जिक्र किया. विप्लव ने लिखा कि 15 फरवरी 1932 को देशभक्तों की एक टोली के कई वीर नौजवानों की अंग्रेजों ने ‘वंदे मातरम’ और ‘भारत मां की जय’ के नारे लगाने के कारण निर्ममता से हत्या कर दी. पीएम मोदी ने विप्लव को धन्यवाद दिया कि वे ऐसी घटना को देश के सामने लेकर आए जिस पर उतनी चर्चा नहीं हो पाई जितनी होनी चाहिए थी.
  • मैं सभी देशवासियों और खासकर युवा साथियों को आह्वान करता हूं कि वे देश के स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में लिखें. अपने इलाके में स्वतंत्रता संग्राम के दौर की वीरता की गाथाओं के बारे में किताबें लिखें. अब जबकि भारत अपनी आजादी के 75 वर्ष मनाएगा, तो आपका लेखन आजादी के नायकों के प्रति उत्तम श्रद्धांजलि होगी.
  • युवा लेखकों के लिए इंडिया 75 को लेकर एक नई शुरुआत की जा रही है. इसमें सभी राज्यों और भाषाओं के युवा लेखकों को प्रोत्साहन मिलेगा. देश में बड़ी संख्या में ऐसे विषयों पर लिखने वाले लेखक तैयार होंगे जिनका भारतीय विरासत और संस्कृति पर गहरा अध्ययन होगा. हमें ऐसी उभरती प्रतिभाओं की पूरी मदद करनी है. इससे भविष्य की दिशा निर्धारित करने वाले विचारक लेखकों का एक वर्ग भी तैयार होगा. मैं अपने युवा मित्रों को इस पहल का हिस्सा बनने और अपने साहित्यिक कौशल का अधिक से अधिक उपयोग करने के लिए आमंत्रित करता हूं.
  • पीएम मोदी ने हैदराबाद के बोयिनपल्ली की स्थानीय सब्जी मंडी के इनोवेशन का जिक्र किया. इस सब्जी मंडी के लोगों ने हर रोज बचने वाली सब्जियों को फेंकने की बजाय उससे बिजली बनाने की शुरुआत की. मंडी से हर दिन करीब 10 टन वेस्ट निकलता है जिससे हर दिन 500 यूनिट बिजली बन रही है और करीब 30 किलो जैविक ईंधन भी बन रहा है. इस बिजली से सब्जी मंडी में रोशनी होती है और उससे मंडी में खाना बनाया जाता है.
  • हरियाणा के पंचकूला की बड़ौत ग्राम पंचायत का भी जिक्र हुआ. पंचायत के क्षेत्र में पानी की निकासी की समस्या थी. इससे निपटने के लिए ग्राम पंचायत ने पूरे गांव से आने वाले पानी को इकट्ठा कर फिल्टर करना शुरू किया जिसे खेतों में सिंचाई के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि गांव वालों की इस पहल से न सिर्फ उन्हें प्रदूषण, गंदगी और बीमारियों से छुटकारा मिला बल्कि खेतों में सिंचाई भी हो रही है.
  • पीएम मोदी ने पर्यावरण की रक्षा से आमदनी के अवसर का भी जिक्र किया. उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के तवांग का उदाहरण दिया,
    जहां सदियों से मोन शुगु नामक पेपर बनाया जाता है. यह पैपर शुगु शेंग नामक पौधे की छाल से बनाया जाता है. इसे बनाने के लिए न तो पेड़ काटना पड़ता है और न ही केमिकल का इस्तेमाल होता है.
  • पीएम मोदी ने महिलाओं की बड़ी भूमिका का जिक्र किया. अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरू के लिए एक नॉन-स्टॉप फ्लाइट की कमान भारत की चार महिला पायलटों ने संभाली थी. इस बार 26 जनवरी की परेड में भी भारतीय वायुसेना की दो महिला अधिकारियों ने इतिहास रच दिया.
  • पीएम मोदी ने जबलपुर के चिचगांव का जिक्र किया. यहां एक राइस मिल में कोरोना महामारी के चलते काम रुक गया तो वहां दिहाड़ी पर काम करने वाली महिलाओं ने राइस मिल को ही खरीद लिया. मीना राहंगडाले ने सभी महिलाओं को जोड़कर स्वयं सहायता समूह बनाकर पैसे जुटाए और शेष पैसे आजीविका मिशन के तहत बैंक से कर्ज लिए. इन पैसों से राइस मिल खरीद लिया और इससे तीन लाख रुपये का मुनाफा भी कमा लिया.
  • पहाड़ों पर होने वाली स्ट्राबेरी के झांसी में उगाए जाने को लेकर पीएम मोदी ने झांसी की गुरलीन चावला का जिक्र किया. लॉ की छात्रा चावला ने अपने खेत में स्ट्रॉबेरी की खेती कर विश्वास जगाया कि झांसी में यह भी हो सकता है.
  • पीएम मोदी ने कहा कि खेती को आधुनिक बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है और अनेक कदम उठा भी रही है. सरकार के प्रयास आगे भी जारी रहेंगे.
  • पीएम मोदी ने झारखंड के दुमका के एक प्रयास का जिक्र करते हुए कहा कि आर्ट एंड कलर्स के जरिए बहुत कुछ नया सीखा जा सकता है और किया जा सकता है. झारखंड में मिडिल स्कूल के एक प्रिंसिपल ने बच्चों को पढ़ाने और सिखाने के लिए गांव की दीवरों को ही अंग्रेजी और हिंदी के अक्षरों से पेंट करवा दिया और अलग-अलग चित्र भी बनाए गए.
  • पीएम मोदी ने चिली की जिक्र किया जिसकी राजधानी सैंटियागो में 30 से अधिक योग विद्यालय हैं. वहां 4 नवंबर को राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया गया है.
  • पीएम मोदी ने सड़क पर सावधानी बरतने को लेकर लोगों से इनोवेटिव स्लोगन मंगाए हैं जिनका उपयोग अभियान में किया जाएगा.

पद्म पुरस्कारों से सम्मानितों की करें चर्चा- पीएम

पीएम मोदी ने कार्यक्रम में कहा कि राष्ट्र ने असाधारण कार्य कर रहे लोगों को उनकी उपलब्धियां और मानवता के प्रति उनके योगदान के लिए पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया. प्रधानमंत्री मोदी ने आग्रह किया कि पद्म सम्मान से सम्मानित जमीनी स्तर पर अनसंग हीरोज के बारे में और उनके योगदान के बारे में जानें और परिवार में उनके बारे में चर्चा करें.

बजट के एक दिन पहले और किसान आंदोलन के बीच आज 31 जनवरी को प्रधानमंत्री रेडियो पर Mann Ki Baat करेंगे. ‘मन की बात’ का यह इस साल 2021 का पहला प्रसारण होगा. इसका प्रसारण सुबह 11 बजे आकाशवाणी के सभी केंद्रों से किया जाएगा. पीएम मोदी की ‘मन की बात’ का यह 73वां संस्करण है. इसमें कृषि कानून, कोविड वैक्सीनेशन और बजट का जिक्र हो सकता है.
मन की बात का प्रसारण आकाशवाणी के साथ-साथ दूरदर्शन पर सुबह 11 बजे से होगा. इसके अलावा इस कार्यक्रम को नरेंद्र मोदी मोबाइल एप पर भी सुना जा सकेगा. पीएम मोदी के ट्विटर हैंडल और फेसबुक पेज के जरिए भी मन की बात को सुना जा सकता है.

2020 के आखिरी ‘मन की बात’ में ‘वोकल फॉर लोकल’ की अपील

पीएम मोदी पिछले साल 2020 के आखिरी मन की बात में लोगों से वोकल फॉर लोकल यानी देश में बनी चीजों के अधिक से अधिक इस्तेमाल की अपील की थी. देश के मैन्युफैक्चरर्स व इंडस्ट्री लीडर्स से आग्रह किया था कि वे प्रॉडक्ट की अच्छी क्वालिटी को सुनिश्चित करें. पीएम मोदी ने आग्रह किया था कि सभी देशवासी एक लिस्ट बनाएं, जिसमें दिन-भर हम जो चीजें काम में लेते हैं, उन सभी चीजों का एनालिसिस करें और देखें कि कि अनजाने में कौन सी विदेश में बनी चीजों ने हमारे जीवन में प्रवेश कर लिया है. इनके भारत में बने विकल्पों का पता करें और यह भी तय करें कि आगे से भारत में बने, भारत के लोगों के मेहनत से पसीने से बने उत्पादों का हम इस्तेमाल करें. आप हर साल न्यू ईयर रिजॉल्यूशन लेते हैं, इस बार एक रिजॉल्यूशन अपने देश के लिए भी जरूर लेना है.

यह भी पढ़ें- बजट के दिन सस्ता सोना खरीदने का मौका, 10 ग्राम के लिए तय हुआ ये प्राइस

अमेरिकी राष्ट्रपति भी हो चुके हैं शामिल

‘मन की बात’ कार्यक्रम में एक बार पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भी शामिल हो चुके हैं. उन्होंने 27 जनवरी 2015 को प्रसारित हुए ‘मन की बात’ में प्रधानमंत्री मोदी के साथ हिस्सा लिया था. 2015 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा भारतीय गणतंत्र दिवस के अवसर पर होने वाली रिपब्लिक परेड के चीफ गेस्ट के तौर पर भारत दौरे पर आए थे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Mann Ki Baat: 26 जनवरी के दिन तिरंगे का अपमान देख, देश बहुत दुखी भी हुआ- पीएम मोदी

Go to Top