मुख्य समाचार:

354 किलोमीटर का ‘पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे’ उत्तर प्रदेश में बनने को तैयार, जानिए 5 खास बातें

इस योजना में उत्तर प्रदेश के 9 जिले लखनऊ, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, आजमागढ़, बाराबंकी, अमेठी, मऊ और गाज़ीपुर शामिल होंगे.

Updated: Jul 12, 2018 4:15 PM
Purvanchal Expressway, Purvanchal Expressway route, Purvanchal Expressway route map, Purvanchal Expressway latest news, Purvanchal Expressway news, Purvanchal Expressway map, Purvanchal Expressway project, Purvanchal Expressway status, Purvanchal Expressway tender, Purvanchal Expressway progress, Purvanchal Expressway UP, Expressway, Expressway from Lucknow to Ghazipurइस योजना में उत्तर प्रदेश के 9 जिले लखनऊ, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, आजमागढ़, बाराबंकी, अमेठी, मऊ और गाज़ीपुर शामिल होंगे. (Representational Image: NHAI)

Purvanchal Expressway: 14 जुलाई, 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बड़ी बुनियादी ढांचा परियोजना का आधारशिला रखेंगे – पूर्वांचल एक्सप्रेसवे. पूर्वांचल एक्सप्रेसवे जो 354 किमी लंबा है, भारत का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे होगा. पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से लखनऊ और गाजीपुर जुड़ जाएंगे. 22 दिसंबर, 2016 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसी एक्सप्रेसवे के लिए आधारशिला रखी थी, लेकिन उस समय के दौरान परियोजना के लिए भूमि का आधा हिस्सा अधिग्रहण नहीं किया गया था. मौजूदा सरकार सत्ता में आने के बाद, पहले की परियोजना निविदा जमीन की कमी के कारण रद्द कर दी गई थी. अब इस परियोजना में कुछ बदलावों के साथ दोबारा पुनर्जीवित किया गया है. आइये पूर्वांचल एक्सप्रेस से संबंधित 5 ख़ास बातें जानते हैं:

  • पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे होगा. पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे जिला लखनऊ के चंदसराय से जिला गाज़ीपुर के हैदरिया को जोड़ेगा. इसके अतिरिक्त, एक्सप्रेस-वे को एक अलग लिंक रोड के माध्यम से वाराणसी से भी जोड़ा जाएगा.
  • पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से प्रदूषण स्तर, समय बचाने, ईंधन की बचत, दुर्घटनाओं में कमी के साथ-साथ कई लाभ प्रदान करने की संभावना है. इसके अलावा, यात्रा समय पांच घंटे तक कम होने की उम्मीद की जा रही है.
  • पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश के 9 जिलों- लखनऊ, गाज़ीपुर, अमेठी, आजामगढ़, फैजाबाद, बाराबंकी, मउ, अम्बेडकरनगर और सुल्तानपुर को निर्बाध कनेक्टिविटी प्रदान करेगा. इसके अतिरिक्त यह 165 किलोमीटर लंबे आगरा-ग्रेटर नोएडा यमुना एक्सप्रेसवे और 302 किमी लंबे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के माध्यम से राष्ट्रीय राजधानी में भी जोड़ देगा.
  • उत्तर प्रदेश में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, जिसे इंजीनियरिंग, खरीद और निर्माण (ईपीसी) मोड पर बनाया जा रहा है, आठ लेन तक विस्तार योग्य होगा.
  • मौजूदा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से जुड़ने के बाद पूर्वांचल एक्सप्रेसवे एक विशाल औद्योगिक गलियारा बन जाएगा. यह पूर्वी उत्तर प्रदेश को पश्चिमी सीमा से जोड़ देगा, जिसके परिणामस्वरूप राज्य के समग्र विकास होगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. 354 किलोमीटर का ‘पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे’ उत्तर प्रदेश में बनने को तैयार, जानिए 5 खास बातें

Go to Top