मुख्य समाचार:

India Ideas Summit: PM मोदी ने US को दिया विभिन्न क्षेत्रों में निवेश का न्यौता, कहा-अवसरों की भूमि के रूप में उभर रहा है भारत

इस वर्चुअल समिट में भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और उनके अमेरिकी समकक्ष माइक पॉम्पियो भी मौजूद हैं.

Updated: Jul 22, 2020 9:58 PM

 

PM Narendra Modi address India Ideas Summit organised by USIBC  Building a Better Future, US-India Business Council

PM Modi Address in India Ideas Summit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज भारत-अमेरिका बिजनेस काउंसिल (USIBC) के इंडिया आइडियाज समिट को संबोधित किया. अपने संबोधन की शुरुआत में पीएम मोदी ने कहा कि हम सभी इस बात से सहमत हैं कि दुनिया की एक बेहतर भविष्य की जरूरत है और हम सभी को मिलकर भविष्य को आकार देना है. मेरा मानना है कि भविष्य के लिए हमारी कोशिश मुख्य रूप से अधिक मानव केन्द्रित होनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि वैश्विक आर्थिक निर्भरता मजबूत घरेलू आर्थिक क्षमताओं के जरिए हासिल की जा सकती है. इसका अर्थ है मैन्युफैक्चरिंग के लिए बेहतर घरेलू क्षमता, वित्तीय प्रणाली की हेल्थ को फिर से कायम करना और इंटरनेशनल ट्रेड का डायवर्सिफिकेशन. इंडिया आइडियाज समिट की थीम ‘बिल्डिंग ए बैटर फ्यूचर’ है. इस वर्ष भारत-अमेरिका बिजनेस काउंसिल की स्थापना के 45 साल पूरे हो चुके हैं. इस वर्चुअल समिट में भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और उनके अमेरिकी समकक्ष माइक पॉम्पियो भी मौजूद हैं.

आगे कहा कि हाल के अनुभवों ने सिखाया है कि ग्लोबल इकोनॉमी भी इफीशिएंसी और ऑप्टिमाइजेशन पर फोकस्ड है. इफीशिएंसी अच्छी चीज है, लेकिन हम एक ऐसी चीज पर फोकस करना भूल गए हैं जो इसी के बराबर महत्वपूर्ण है. वह है एक्सटर्नल शॉक्स के खिलाफ रिजीलियन्स. पीएम मोदी ने कहा कि भारत आत्मनिर्भर भारत के आवाह्न के जरिए एक समृद्ध और रिजीलियन्ट दुनिया की दिशा में योगदान कर रहा है. इसक लिए हमें आपकी साझेदारी का इंतजार है.

भारत के लिए वैश्विक आशावाद

आगे कहा कि भारत के लिए वैश्विक आशावाद है. इसकी वजह है कि भारत खुलेपन, अवसरों और विकल्पों के परफेक्ट कॉम्बिनेशन की पेशकश करता है. भारत लोगों और गवर्नेंस में खुलेपन को सेलिब्रेट करता है. पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 6 सालों में हमने अपनी अर्थव्यवस्था को अधिक खुला और सुधारों भरा बनाने क लिए कई प्रयास किए. सुधारों ने प्रतिस्पर्धात्मकता में बढ़ोत्तरी, बेहतर पारदर्शिता, विस्तारित डिजिटाइजेशन, ग्रेटर इनोवेशन और अधिक नीतिगति स्थिरता को सुनिश्चित किया है.

भारत अवसरों की भूमि के रूप में उभर रहा है

पीएम मोदी ने कहा कि भारत अवसरों की भूमि के रूप में उभर रहा है. उन्होंने टेक्नोलॉजी सेक्टर का एक उदाहरण देते हुए कहा कि हाल ही में भारत में एक दिलचस्प रिपोर्ट सामने आई है. इसमें कहा गया है कि पहली बार देश में ग्रामीण इंटरनेट यूजर्स की संख्या, शहरी इंटरनेट यूजर्स की संख्या से अधिक है. टेक्नोलॉजी में अवसरों में 5जी, बिग डेटा एनालिटिक्स, क्वांटम कंप्यूटिंग, ब्लॉक चेन और इंटरनेट ऑफ थिंग्स जैसी फ्रंटियर टेक्नोलॉजीस में अवसर शामिल हैं.

कृषि और हेल्थकेयर में करें निवेश

समिट में पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने कृषि सेक्टर में हाल ही में ऐतिहासिक सुधार किए हैं. एग्रीकल्चरल इनपुट्स और मशीनरी, एग्रीकल्चर सप्लाई चेन मैनेजमेंट, रेडी टू ईट आइटम्स, फिशरीज और ऑर्गेनिक प्रॉड्यूस में निवेश के अवसर हैं. भारत आपको हेल्थकेयर में निवेश के लिए आमंत्रित करता है. भारत का हेल्थकेयर सेक्टर हर साल 22 फीसदी से अधिक की तेजी से बढ़ रहा है. हमारी कंपनियां भी मेडिकल टेक्नोलॉजी, टेलीमेडिसिन और डायग्नोस्टिक्स के प्रॉडक्शन में तरक्की कर रही हैं.

एनर्जी, इंफ्रा, सिविल एविएशन में भी अवसर

पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत आपको एनर्जी सेक्टर में निवेश के लिए आमंत्रित करता है. चूंकि भारत गैस बेस्ड इकोनॉमी वाला है, इसलिए अमेरिकी कंपनियों के लिए भारत के एनर्जी सेक्टर में निवेश के बड़े अवसर हैं. भारत आपको इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश के लिए आमंत्रित करता है. हमारा देश इतिहास की सबसे बड़ी इंफ्रास्ट्रक्चर क्रिएशन ड्राइव का गवाह बन रहा है. भारत के सिविल एविएशन में भी ग्रोथ की काफी संभावना है. अगले 8 सालों में हवाई यात्रियों की संख्या के दोगुने से अधिक हो जाने की उम्मीद है. आने वाले दशक में प्राइवेट इंडियन एयरलाइंस की योजना 1000 से अधिक विमान बेड़े में शामिल करने की है.

डिफेंस, स्पेस, फाइनेंस, इंश्योरेंस में करें निवेश

पीएम मोदी ने कहा कि भारत आपको डिफेंस और स्पेस सेक्टर में निवेश के लिए आमंत्रित करता है. हम डिफेंस सेक्टर में एफडीआई की सीमा को बढ़ाकर 74 फीसदी कर रहे हैं. भारत ने डिफेंस इक्विपमेंट और प्लेटफॉर्म्स के प्रॉडक्शन को प्रोत्साहित करने के लिए दो डिफेंस कॉरिडोर्स स्थापित किए हैं. भारत आपको फाइनेंस और इंश्योरेंस में निवेश के लिए आमंत्रित करता है. भारत ने इंश्योरेंस सेक्टर में एफडीआई की सीमा को बढ़ाकर 49 फीसदी किया है. अब इंश्योरेंस इंटरमीडियरीज में 100 फीसदी एफडीआई की मंजूरी है.

क्या है भारत के ग्रो करने का अर्थ

पीएम मोदी ने आगे कहा कि जब बाजार खुले होते हैं, अवसर उच्च होते हैं और विकल्प कई होते हैं तो क्या आशावाद पीछे रह सकता है. भारत ने प्रमुख बिजनेस रेटिंग्स में वृद्धि दर्ज की है, विशेषकर विश्व बैंक की कारोबारी सुगमता रैंकिंग में. यह भी कहा कि हर साल हम एफडीआई में नई ऊंचाइयों को छू रहे हैं. भारत में 2019-20 में 74 अरब डॉलर का एफडीआई आया. यह इससे पहले के वर्ष से 20 फीसदी अधिक था.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत के उठने का अर्थ है एक ऐसे देश में व्यापार अवसर बढ़ना, जिस पर आप भरोसा कर सकते हैं; अधिक खुलेपन के साथ ग्लोबल इंटीग्रेशन में बढ़ोत्तरी; स्केल की पेशकश करने वाले बाजार में एक्सेस के साथ आपकी प्रतिस्पर्धात्मकता में बढ़ोत्तरी.

भारत-अमेरिका नेचुरल पार्टनर्स

अमेरिका और भारत की दोस्ती पर पीएम मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका साझा मूल्यों वाली दो वाइब्रेंट डेमोक्रेसी हैं. हम नेचुरल पार्टनर्स हैं. अमेरिका-भारत की दोस्ती ने अतीत में कई ऊंचाइयों को छुआ है. अब वक्त आ गया है कि हमारी पार्टनरशिप दुनिया को महामारी के बाद तेजी से वापसी करने में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाए.

ट्रम्प की विदेश नीति का मजबूत स्तंभ है भारत

इससे पहले अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने अपने संबोधन में भारत को महत्वपूर्ण पार्टनर और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की विदेश नीति का मजबूत स्तंभ बताया. उन्होंने कहा कि भारत के पास ग्लोबल सप्लाई चेन को चीन से अपने यहां आकर्षित करने का और चीनी कंपनियों पर निर्भरता घटाने का मौका है. उन्होंने हाल ही में लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों की जान जाने पर दुख प्रकट किया और कहा कि यह घटना चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी के अस्वीकार्य व्यवहार का ताजा उदाहरण है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. India Ideas Summit: PM मोदी ने US को दिया विभिन्न क्षेत्रों में निवेश का न्यौता, कहा-अवसरों की भूमि के रूप में उभर रहा है भारत

Go to Top