मुख्य समाचार:
  1. ‘कौन मंत्री ड्यूटी पूरी नहीं करता, शाम तक नाम बताओ’, PM मोदी की मंत्रियों पर सख्ती

‘कौन मंत्री ड्यूटी पूरी नहीं करता, शाम तक नाम बताओ’, PM मोदी की मंत्रियों पर सख्ती

पीएम मोदी किस बात को लेकर हुए केंद्रीय मंत्रियों पर सख्त

July 16, 2019 2:19 PM
PM Modi, Narendra Modi, BJP parliamentary committees, cabinet ministers, ministers, roster duty, roster for Parliament duty, attendance records of ministersपीएम मोदी किस बात को लेकर हुए केंद्रीय मंत्रियों पर सख्त

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को भाजपा सांसदों से कहा कि वे अपने संसदीय क्षेत्र के विकास में अग्रणी भूमिका निभाएं. साथ ही केंद्रीय मंत्रियों के काम को लेकर भी सख्ती दिखाई है. उन्होंने उन मंत्रियों के प्रति नाराजगी जाहिर की है जो अपनी ड्यूटी पूरी नहीं कर रहे हैं. मोदी ने ऐसे मंत्रियों का नाम बताने को कहा है. बता दें कि भाजपा की संसदीय बैठक मंगलवार को संसद की लाइब्रेरी बिल्‍डिंग में हुई, जिसमें पीएम खुद मौजूद थे.

‘रोस्टर ड्यूटी’ पूरी करें मंत्री

मोदी ने केन्द्रीय मंत्रियों से उनकी ‘रोस्टर ड्यूटी’ पूरा करने के लिए कहा. उन्होंने भाजपा संसदीय दल की बैठक में कहा कि जो मंत्री रोस्टर ड्यूटी में उपस्थित नहीं रहते हैं, उनके बारे में उसी दिन शाम तक उन्हें बताया जाए.

पहले प्रभाव का असर अंत तक

सूत्रों के अनुसार भाजपा संसदीय दल की बैठक में मोदी ने सांसदों से कहा कि पहली बार जो प्रभाव पड़ता है, उसका असर अंत तक बना रहता है. इसलिए पहला इंप्रेशन अच्छा होना चाहिए. इस बार भाजपा में अधिकतर सांसद पहली ही बार जीत कर आये हैं. उन्होंने कहा कि सांसदों को अपने क्षेत्रों के विकास के लिए दिल लगा कर काम करना चाहिए. उन्होंने सांसदों को कुष्ठ एवं तपेदिक (टीबी) रोगों के उन्मूलन जैसे मानवीय संवेदनाओं से जुड़े मुद्दे उठाने को कहा.

पहले भी जताई थी नाराजगी

संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने संवाददाताओं से कहा कि पीएम ने पहले भी इस बात पर कई बार नाराजगी जतायी थी कि जब संसद का सत्र चल रहा होता है तो कई बार सांसद सदन में उपस्थित नहीं रहते. इस बार उन्होंने अपना ध्यान मंत्रियों की ओर केंद्रित करते हुए कहा कि संसद में भाग लेना केवल सांसदों का ही काम नहीं है. मंत्रियों को भी इसमें हिस्सा लेना चाहिए.

सामाजिक विषयों को ‘मिशन’ के तौर पर लें

जोशी ने बताया कि प्रधानमंत्री ने सांसदों से कहा कि उन्हें मानवीय संवेदनाओं से जुड़े मुद्दों या सामाजिक विषयों को एक ‘मिशन’ के तौर पर लेना चाहिए और सांसद के रूप में अपना दायित्व निभाना चाहिए. जोशी ने बताया कि मोदी ने सांसदों से कहा कि वे अपने संसदीय क्षेत्र के विकास के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ काम करें. उन्होंने आकांक्षी जिलों का जिक्र करते हुए सांसदों से कहा कि वे उनकी प्रगति के लिए अधिकारियों के साथ समन्वय करें. अल्पविकसित जिलों को आधाकारिक रूप से आकांक्षी जिलों का नाम दिया गया है.

बैठक में कौन शामिल हुआ

भाजपा की संसदीय बैठक में पीएम मोदी के अलावा गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, संसदीय मामलों के मंत्री प्रहलाद जोशी, विदेश मंत्री एस जयशंकर और विदेश राज्‍य मंत्री वी मुरलीधरन के अलावा तमाम वरिष्‍ठ नेता शामिल हुए. 14 जुलाई को भाजपा ने लोकसभा व राज्‍यसभा सदस्‍यों को नोटिस जारी कर आज की इस बैठक के बारे में सूचित कर दिया था ताकि सभी इसमें मौजूद रहें.

Go to Top