सर्वाधिक पढ़ी गईं

PM मोदी 28 नवंबर को जाएंगे Serum Institute, कोविड19 वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग और उत्पादन की तैयारियों का लेंगे जायजा

कोविड-19 वैक्सीन के लिए SII ने ग्लोबल फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनका (AstraZeneca) और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय (Oxford University) के साथ साझेदारी की है.

Updated: Nov 26, 2020 4:01 PM
PM Modi to visit Serum Institute of India in Pune on November 28, COVID19 Vaccine, coronavirus vaccine, Oxford University, AstraZeneca vaccine, covishieldएक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) 28 नवंबर को पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) का दौरा करेंगे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. बता दें कि कोविड-19 की वैक्सीन के लिए SII ने ग्लोबल फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनका (AstraZeneca) और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय (Oxford University) के साथ साझेदारी की है. भारत में AstraZeneca वैक्सीन को कोविशील्ड नाम से बेचा जाएगा.

केंद्रीय औषध मानक नियंत्रण संगठन ने प्री-क्लीनिकल टेस्ट, परीक्षण और विश्लेषण के लिए सात कंपनियों को कोविड-19 वैक्सीन के निर्माण की इजाजत दी है. इनमें से दो कंपनियां सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और जेन्नोवा बायोफार्मास्युटिकल्स (Gennova Biopharmaceuticals) हैं. पुणे के मंडलायुक्त सौरभ राव ने कहा, “हमें शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया आने की पुष्ट जानकारी प्राप्त हुई है, लेकिन उनके कार्यक्रम का विस्तृत विवरण (मिनट दर मिनट कार्यक्रम) अभी नहीं मिला है.”

100 से ज्यादा देशों के प्रतिनिधि भी जल्द करेंगे दौरा

राव ने मंगलवार को कहा था कि प्रधानमंत्री के पुणे आने की संभावना है और अगर ऐसा होगा तो इसका उद्देश्य कोरोना वायरस संक्रमण की वैक्सीन की मैन्युफैक्चरिंग की स्थिति, उत्पादन और वितरण के मैकेनिज्म की समीक्षा करना होगा. राव ने यह जानकारी भी दी थी कि चार दिसंबर को 100 से भी ज्यादा देशों के राजदूत और दूत SII और जेन्नोवा बायोफार्मास्युटिकल्स का दौरा करेंगे.

Covid-19 Vaccination: जुलाई 2021 तक 25 करोड़ को लग जाएगा कोरोना का टीका! क्या है सरकार की तैयारी

ट्रायल्स में सामने आए हैं अच्छे नतीजे

हाल ही में AstraZeneca ने कहा था कि उसकी कैंडिडेट वैक्सीन AZD1222 महामारी की रोकथाम में 70 फीसदी कारगर है. ब्रिटेन और ब्राजील में वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल्स के अंतरिम विश्लेषण से सकारात्मक उच्च स्तरीय नतीजे मिले हैं. ट्रायल्स में वैक्सीन को अलग-अलग पैटर्न में दिया गया. एक पैटर्न के तहत जब AZD1222 की पहली डोज हाफ और दूसरी डोज कम से कम एक माह तक फुल दी गई तो वैक्सीन की प्रभावशीलता 90 फीसदी रही. वहीं दूसरे पैटर्न में वैक्सीन का 62 फीसदी कारगर होना सामने आया, जब कम से कम एक माह तक दो फुल डोज दी गईं. कंपनी का कहना है कि क्लीनिकल ट्रायल्स के कंबांइंड एनालिसिस से पता चलता है कि AZD1222 वैक्सीन कैंडिडेट की प्रभावशीलता 70 फीसदी है.

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. PM मोदी 28 नवंबर को जाएंगे Serum Institute, कोविड19 वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग और उत्पादन की तैयारियों का लेंगे जायजा

Go to Top