मुख्य समाचार:

PM मोदी ने दिया रोजगार मंत्र- जॉब मार्केट में कैसे अपने को बनाए रखें प्रासंगिक

पीएम मोदी ने क​हा कि कोरोना संकट ने दुनिया की संस्कृति के साथ रोजगार की प्रकृति को भी बदल दिया है. रोज आ रही नई तकनीक का उस प्रभाव हुआ है.

Published: July 15, 2020 12:43 PM
PM Narendra Modi, Modi Mantra to stay relevant in job market, world youth skill day, PM Modi mantra' to stay relevant in times of coronavirus, covid19 pandemicपीएम ने वर्ल्ड यूथ स्किल डे पर देश के युवाओं को संबोधित किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने वर्ल्ड यूथ स्किल डे (विश्व युवा कौशल दिवस) के मौके पर बुधवार को इस कोरोना महामारी के दौर में युवाओं को रोजगार से जुड़े अहम मंत्र दिए. उन्होंने युवाओं से कहा कि आज के मौजूदा दौर में जॉब मार्केट में अपनी स्किल को अपडेट करना जरूरी हो गया है. कोरोना संकट ने दुनिया की संस्कृति के साथ रोजगार की प्रकृति को भी बदल दिया है. रोज आ रही नई तकनीक का उस प्रभाव हुआ है. पीएम ने world youth skill day पर देश के युवाओं को शुभकामनाएं दी. उन्होंने छोटी-बड़ी हर तरह स्किल को आत्मनिर्भर भारत की अहम शक्ति बताया.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना के इस संकट ने विश्व- संस्कृति के साथ ही काम की प्रकृति को भी बदलकर के रख दिया है और बदलती हुई नित्य नूतन प्रौद्योगिकी ने भी उस पर प्रभाव पैदा किया है. आज के दौर में बिजनेस और बाजार इतनी तेजी से बदलते हैं, कि समझ ही नहीं आता रेलिवेंट कैसे रहा जाए. कोरोना के इस समय में तो ये सवाल और भी अहम हो गया है. मैं इसका एक ही जवाब देता हूं, रेलिवेंट रहने का मंत्र है, स्किल, री-स्किल और अपस्किल.

ज्ञान और स्किल दोनों में अंतर है

मोदी ने कहा कि स्किल आपके काम की ही नहीं, आपकी भी प्रतिभा को, प्रभाव को, प्रेरक बना देती है और साथियों यहां एक और चीज समझनी बहुत जरूरी है. कुछ लोग ज्ञान और स्किल को लेकर के हमेशा भ्रम में रहते हैं, या भ्रम पैदा करते हैं. आज भारत में ज्ञान और स्किल, दोनों में जो अंतर है, उसे समझते हुए ही काम हो रहा है. आज से 5 साल पहले, आज के ही दिन स्किल इंडिया मिशन इसी सोच के साथ शुरू किया गया था.

COVID-19 Vaccine: भारत में कोरोना वायरस की वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू, दो कैंडिडेट को मिली मंजूरी

​आत्मनिर्भर भारत की शक्ति बनेगा स्किल

पीएम मोदी ने कहा कि छोटी-बड़ी हर तरह की ऐसी ही स्किल, आत्मनिर्भर भारत की भी बहुत बड़ी शक्ति बनेगी. चार-पांच दिन पहले देश में श्रमिकों की स्किल मैपिंग का एक पोर्टल भी शुरू किया गया है. यह पोर्टल स्किल्ड लोगों को, स्किल्ड श्रमिकों की मैपिंग करने में अहम भूमिका निभाएगा। इससे एम्प्लायर एक क्लिक में ही स्किल्ड मैप वाले वर्कर्स तक पहुंच पाएंगे. यही समझते हुए अब कौशल विकास मंत्रालय ने दुनिया भर में बन रहे इन अवसरों की मैपिंग शुरू की है. कोशिश यही है कि भारत के युवा को अन्य देशों की जरूरतों के बारे में, उसके संबंध में भी सही और सटीक जानकारी मिल सके.

5 करोड़ लोगों का स्किल डेवलपमेंट

पीए मोदी ने कहा कि तेजी से बदलती हुई आज की दुनिया में अनेक सेक्टरों में लाखों स्किल्ड लोगों की जरूरत है. विशेषकर स्वास्थ्य सेवाओं में तो बहुत बड़ी संभावनाएं बन रही हैं. इसके लिए देशभर में सैकड़ों प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्र खोले गए. ITIs की संख्या बढ़ाई गई, उसमें लाखों नई सीटें जोड़ी गई. इस दौरान 5 करोड़ से ज्यादा लोगों का स्किल डेवलपमेंट किया जा चुका है और यह अभियान निरंतर जारी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. करियर
  3. PM मोदी ने दिया रोजगार मंत्र- जॉब मार्केट में कैसे अपने को बनाए रखें प्रासंगिक

Go to Top