उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट 2018 शुरू, PM मोदी बोले- इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश और रोजगार की अपार संभावनाएं

इस आयोजन से राज्य को फूड प्रोसेसिंग, हॉर्टीकल्चर, फ्लोरीकल्चर, टूरिज्म और हॉस्पिटैलिटी जैसे सेक्टर्स में लगभग 20,000 करोड़ रुपये का निवेश आने की उम्मीद है.

PM modi inaugurates destination uttarakhand investors summit 2018 updates
Image: BJP Uttarakhand twitter

उत्तराखंड में आज से ‘डेस्टिनेशन उत्तराखंड: इन्वेस्टर्स समिट 2018’ शुरू हो गया. इस ​समिट का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया. इस आयोजन से उत्तराखंड राज्य को फूड प्रोसेसिंग, हॉर्टीकल्चर, फ्लोरीकल्चर, टूरिज्म और हॉस्पिटैलिटी जैसे सेक्टर्स में लगभग 20,000 करोड़ रुपये का निवेश आने की उम्मीद है.

उद्घाटन के बाद अपने भाषण के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि देश के इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में निवेश और रोजगार की अपार संभावनाएं हैं. पिछले वर्ष ही भारत में करीब-करीब 10 हजार किलोमीटर नेशनल हाईवेज का निर्माण हुआ है. यानि करीब-करीब 27 किलोमीटर प्रतिदिन की गति से काम चला है. यह पहले की सरकारों के मुकाबले लगभग दोगुना है. अनेक शहरों में नई मेट्रो, हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट, डेडिकेटेड प्रेट-कॉरिडोर, के लिए भी काम चल रहा है. सरकार 400 रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण भी कर रही है.

उत्तराखंड में आॅर्गेनिक स्टेट बनने की पूरी संभावना

उत्तराखंड को लेकर पीएम ने कहा कि राज्य में ऑर्गेनिक स्टेट बनने की पूरी संभावनाएं हैं. मुझे खुशी है कि क्लस्टर बेस्ड ऑर्गेनिक फार्मिंग के तहत राज्य को ऑर्गेनिक स्टेट बनाने की दिशा में काम शुरू कर दिया गया है. उत्तराखंड देश के उन राज्यों में हैं, जो न्यू इंडिया और जनसांख्यिकीय विभाजन का प्रतिनिधित्व करते हैं.

फूड प्रोसेसिंग पर किया जा रहा फोकस

पीएम ने कहा कि फूड प्रोसेसिंग को भी महत्व दिया जा रहा है. फूड प्रोसेसिंग सेक्टर को मजबूत करने के लिए सरकार ने फूड प्रोसेसिंग में 100 फीसदी FDI को भी मंजूरी दी है. चाहे अन्न का उत्पादन हो, फल और सब्जी का उत्पादन हो, दूध का उत्पादन हो, अनेक क्षेत्रों में भारत दुनिया में पहले तीन स्थानों में है.

रिन्युएबल एनर्जी में भारत वर्ल्ड लीडर बनने की ओर अग्रसर

पीएम ने अपने भाषण में रिन्युएबल एनर्जी पर दिए जा रहे जोर का भी उल्लेख किया. उन्होंने कहा कि दुनिया की ऊर्जा जरूरतें पूरी हों और पर्यावरण भी सुरक्षित रहे, इसके लिए भारत का एक ही मंत्र है- वन वर्ल्ड, वन सन, वन ग्रिड. आज रिन्युएबल एनर्जी के मामले में भारत वर्ल्ड लीडर बनने की तरफ अग्रसर है. हमने तय किया है कि 2030 तक हमारी 40% बिजली की क्षमता नॉन फॉसिल फ्यूल बेस्ड संसाधनों से पैदा हो. इतना ही नहीं 2022 तक 175 गीगावाट रिन्युएबल एनर्जी का लक्ष्य लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं.

दिया नया 4P फॉर्मूला

इस दौरान पीएम ने 4P फॉर्मूले का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि भारत वैश्विक ग्रोथ का प्रमुख चालक बनने की दिशा में अग्रसर है. Potential (क्षमता या संभावना) , Policy (नीति) और Performance (प्रदर्शन), यही Progress (प्रगति) का सूत्र है.

आयुष्मान योजना से मेडिकल सेक्टर में निवेश की संभावना

पीएम ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना की वजह से भी भारत में मेडिकल सेक्टर में निवेश की बहुत बड़ी संभावना बनी है. इसकी वजह से आने वाले दिनों में टायर-टू टायर-थ्री शहरों में नए अस्पताल बनेंगे और पूरा मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत होगा.

देश में लगभग सौ नए एयरपोर्ट और हेलीपैड बनाने पर हो रहा काम

पीएम ने यह भी कहा कि भारत में एविएशन सेक्टर भी रिकॉर्ड गति से आगे बढ़ रहा है. इस गति को और तेज करने के लिए देश में लगभग सौ नए एयरपोर्ट और हेलीपैड बनाने पर काम किया जा रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News