मुख्य समाचार:

PM Modi in USISPF: विदेशी निवेशकों के लिए पसंदीदा विकल्प बनकर उभर रहा है भारत- पीएम मोदी

PM Modi addresses USISPF: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यूएस-इंडिया स्ट्रैटेजिक पार्टन​रशिप फोरम को संबोधित किया.

Updated: Sep 03, 2020 10:17 PM

 

pm-modi-address-in-us-india-strategic-partnership-forum-speaking-on-the-theme-of-us-india-navigating-new-challenges USISPF 3rd annual leadership summit

PM Narendra Modi addresses 3rd US-India Strategic Partnership Forum (USISPF): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज तीसरी यूएस-इंडिया स्ट्रैटेजिक पार्टन​रशिप फोरम को संबोधित किया. इस फोरम की थीम ‘यूएस-इंडिया नेविगेटिंग’ न्यू चैलेंजेस रही. अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि मौजूदा स्थिति फ्रेश माइंडसेट की मांग करती है. एक ऐसा माइंडसेट जहां, विकास के लिए अप्रोच मानव केन्द्रित हो. जहां हर किसी के बीच सहयोग की भावना हो. पीएम ने कहा कि जब 2020 शुरू हुआ तो क्या किसी ने सोचा था कि यह ऐसा रहेगा. एक वैश्विक महामारी ने सभी को प्रभावित किया है. यह हमारी resilience, पब्लिक हेल्थ सिस्टम और इकोनॉमिक सिस्टम को टेस्ट कर रही है.

भारत 1.3 अरब लोगों की आबादी और ​सीमित संसाधनों वाला देश है. बहुत कम समय में हमने मेडिकल इंफ्रास्‍ट्रक्चर को तेजी से बढ़ाया, चाहे वो कोविड अस्‍पताल हों, आईसीयू, या कुछ भी. जनवरी में हमारे पास एक टेस्टिंग लैब थी, आज देश भर में 1600 के करीब कोविड टेस्टिंग लैब हैं. मेडिकल इंफ्रास्‍ट्रक्चर के क्षेत्र में किए गए प्रयासों के परिणाम ही हैं कि भारत में कोरोना से प्रति लाख व्यक्ति पर मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम है. रिकवरी रेट भी धीरे-धीरे बढ़ रही है. आगे कहा कि महामारी ने कई चीजों को प्रभावित किया लेकिन यह 1.3 अरब भारतीयों की इच्छाओं और महत्वाकाक्षांओं को प्रभावित नहीं कर पाई.

मुझे खुशी है कि हमारे यहां देश में व्‍यापार जगत के लोग, खास कर छोटे उद्योग से जुड़े लोग, बहुत प्रो-एक्टिव हैं. पीपीई किट के क्षेत्र में हम कहीं नहीं थे, आज हम इसके विनिर्माण में दुनिया में दूसरे स्‍थान पर हैं. पिछले कुछ महीनों से राष्‍ट्र कोविड के साथ-साथ प्राकृतिक आपदाओं से भी लड़ रहा है, बाढ़, लोकस्‍ट अटैक, एक के बाद एक, दो चक्रवात… इन सबके बीच हमारे देश के लोग और मजबूत होते गए.

क्षमता बढ़ाने पर होना चाहिए फोकस

भविष्‍य को देखते हुए हमारा फोकस अपनी क्षमता को बढ़ाने पर होना चाहिए. हमारा फोकस गरीबों को हर तरह की सुरक्षा प्रदान करने पर और नागरिकों के भविष्‍य को सुरक्षित बनाने पर होना चाहिए. यही वह पथ है, जिस पर भारत चल रहा है. भारत उन देशों में से एक है, जिन्‍होंने सबसे पहले कोविड से लड़ने के लिए लॉकडाउन का रिस्‍पॉनसिव सिस्‍टम तैयार किया. भारत उन देशों में से एक है, जिन्‍होंने सबसे पहले पब्लिक हेल्‍थ का ध्‍यान रखते हुए मास्क और मुंह को कवर करने पर जोर दिया. सोशल डिस्‍टेंसिंग के प्रति सबसे पहले पब्लिक अवेयरनेस कैम्‍पेन चलाने वाले देशों में से भी हम एक हैं.

आगे कहा कि पूरे कोविड19 काल और लॉकडाउन में भारत सरकार एक चीज को लेकर एकदम स्पष्ट थी कि गरीबों की रक्षा करनी है. गरीबों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना दुनिया में सामने आए सबसे बड़े सपोर्ट सिस्टम में से एक है. सरकार 80 करोड़ लोगों को फ्री अनाज इस संकट के काल में उपलब्ध करा रही है. यानी कि अमेरिका की जनसंख्‍या के दुगने से अधिक लोगों को मुफ्त अनाज दिया गया. इस दौरान 80 करोड़ परिवारों को मुफ्त रसोई गैस, 345 किसानों, जरूरतमंदों को कैश सपोर्ट, 20 करोड़ व्‍यक्ति दिवस कार्य देकर प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिया गया.

हाल के महीनों में कई सुधार

हाल के महीनों में कई सुधार हुए हैं. ये कारोबार करना आसान बना रहे हैं और लाल फीताशाही को कम कर रहे हैं. दुनिया के सबसे बड़े हाउसिंग प्रोग्राम को लेकर काम सक्रियता से आगे बढ़ रहा है. रिन्युएबल एनर्जी इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया जा रहा है. रेल, रोड व हवाई कनेक्टिविटी को बढ़ावा दिया जा रहा है. हमारा देश नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन को बनाने के लिए एक यूनीक डिजिटल मॉडल बना रहा है. हम लाखों लोगों को बैंकिंग, क्रेडिट, डिजिटल पेमेंट्स और इंश्योरेंस मुहैया कराने के लिए बेस्ट फिन टेक का इस्तेमाल कर रहे हैं. ये सभी पहलें वर्ल्ड क्लास टेक्नोलॉजी और ग्लोबल बेस्ट प्रैक्टिसेज का इस्तेमाल कर की जा रही हैं.

कंपनियां अब विश्वसनीयता और नीतिगत स्थिरता को भी देख रही हैं

पीएम मोदी ने कहा कि महामारी ने दुनिया को दिखा दिया कि ग्लोबल सप्लाई चेन को विकसित करने का फैसला केवल कॉस्ट पर बेस्ड नहीं होना चाहिए. यह भरोसे पर भी बेस्ड होना चाहिए. जियोग्राफी की अफोर्डेबिलिटी के साथ कंपनियां अब विश्वसनीयता और नीतिगत स्थिरता को भी देख रही हैं. भारत में ये सभी योग्यताएं हैं. इसके परिणामस्‍वरूप भारत विदेशी निवेशकों के लिए एक पसंदीदा विकल्प बनकर उभर रहा है, चाहे वो अमेरिका हो, या खाड़ी देश, यूरोप हो या ऑस्‍ट्रेलिया, पूरा विश्‍व हम पर विश्‍वास करता है. इस वर्ष हमारे यहां 20 अरब डॉलर से अधिक का विदेशी निवेश हुआ है, गूगल, अमेजॉन समेत कई कंपनियों ने भारत के लिए लॉन्ग टर्म प्लान्स का एलान किया है.

पारदर्शी टैक्स सिस्टम

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत एक पारदर्शी टैक्स सिस्टम की पेशकश करता है. हमारा सिस्टम ईमानदार टैक्सपेयर्स को प्रोत्साहित और सपोर्ट करता है. हमारा जीएसटी यूनिफाइड, फुली आईटी इनेबल इनडायरेक्ट टैक्स सिस्टम है. इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड ने पूरे वित्तीय सिस्टम के लिए जोखिम कम किया है. हमारे व्यापक श्रम सुधार इंप्लॉयर्स पर से अनुपालन के बोझ को घटाएंगे. साथ ही वर्कर्स को सोशल सिक्योरिटी उपलब्ध कराएंगे.

लोकल को ग्लोबल के साथ मर्ज करता है आत्मनिर्भर भारत अभियान

आत्मनिर्भर भारत अभियान को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि 130 करोड़ देशवासियों ने आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए आवाज बुलंद की है. आत्मनिर्भर भारत लोकल को ग्लोबल के साथ मर्ज करता है. यह सुनिश्चित करता है कि भारत ग्लोबल फोर्स मल्टीप्लायर के रूप में काम कर सकता है. एक बार फिर भारत ने दिखाया है कि हमारा उद्देश्य विश्व की भलाई है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत पूरी दुनिया को विभिन्न अवसरों की पेशकश करता है. ये अवसर पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर दोनों में हैं. हाल ही में जिन सेक्टर्स को खोला गया, उनमें कोयला, खनन, रेलवे, रक्षा, अंतरिक्ष और एटॉमिक एनर्जी शामिल हैं.

विकास के लिए निवेश के महत्व को हम अच्‍छी तरह समझते हैं. हम डिमांड और सप्‍लाई दोनों को बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं. हम मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट्स को बढ़ावा देने के लिए जरूरी प्रयास कर रहे हैं. 2019 में जब global FDI inflow एक प्रतिशत नीचे गिरा, तब भारत में एफडीआई 20 प्रतिशत बढ़ा, यह हमारी एफडीआई नीति की सफलता को दर्शाता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. PM Modi in USISPF: विदेशी निवेशकों के लिए पसंदीदा विकल्प बनकर उभर रहा है भारत- पीएम मोदी

Go to Top