मुख्य समाचार:

भारतीय रेलवे ने चीनी कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट को किया रद्द, फर्म ने मामले में किया मुकदमा

भारतीय रेलवे ने हाल ही में आने वाले एक कॉरिडोर के सिग्नलिंग और टेलिकॉम्युनिकेशन प्रोजेक्ट के लिए चीनी कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया है.

Published: July 18, 2020 1:04 PM
piyush goyal led indian railways terminated contract of chinese company firm goes to court against itभारतीय रेलवे ने हाल ही में आने वाले एक कॉरिडोर के सिग्नलिंग और टेलिकॉम्युनिकेशन प्रोजेक्ट के लिए चीनी कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया है.

भारतीय रेलवे ने हाल ही में आने वाले एक कॉरिडोर के सिग्नलिंग और टेलिकॉम्युनिकेशन प्रोजेक्ट के लिए चीनी कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया है. शुक्रवार को पीयूष गोयल की अगुवाई वाले रेलवे मंत्रालय ने तहत एक पीएसयू ने DFCCIL के इस्टर्न डेडिकिटेड फ्राइट कॉरिडोर (DFC) पर सिग्नलिंग और टेलिकॉम्युनिकेशन के काम के लिए चीनी कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया. इसके लिए काम में खराब प्रगति का हवाला दिया गया.

2016 में जारी हुआ था कॉन्ट्रैक्ट

पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह काम कानपुर और मुगलसराय के बीच इस्टर्न DFC कॉरिडोर के 417 किलोमीटर लंबे सेक्शन पर होना था. DFC प्रोजेक्ट में दो कॉरिडोर इस्टर्न DFC और वेस्टर्न DFC शामिल हैं, इसे DFCCIL लिमिटेड द्वारा क्रियान्वित किया जा रहा था.

DFCCIL के मैनेजिंग डायरेक्टर अनुराग सचन ने कहा कि रद्द करने की चिट्ठी चीन के बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिजाइन इंस्टीट्यूट ऑफ सिग्नल एंड कॉम्युनिकेशन कंपनी को 14 दिन के नोटिस के बाद जारी की गई थी. कंपनी को 471 करोड़ रुपये का कॉन्ट्रैक्ट साल 2016 में मिला था.

COVID-19 India Lockdown Updates: उत्तराखंड में भी शनिवार-रविवार को लॉकडाउन, 24 घंटे में 34,884 नए मामले

2019 में शुरू हुई थी प्रक्रिया

इस बीच चीनी कंपनी इस कदम के बाद कोर्ट चली गई है. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है कि रेलवे के खिलाफ चीनी कंपनी कोर्ट गई है. रिपोर्ट के मुताबिक, चीनी कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट को खत्म करने का यह कदम दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने के बाद लिया गया है, जब पिछले महीने पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ टकराव के बाद 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे.

इससे पहले अधिकारियों ने कहा था कि चीनी कंपनी को DFC प्रोजेक्ट से हटाने की प्रक्रिया जनवरी 2019 में शुरू हो गई थी जब कंपनी दी गई समयावधि में काम को पूरा करने में असफल रही थी. उस समय तक चीनी कंपनी कने काम का केवल 20 फीसदी भाग ही पूरा किया था.

(Story: Devanjana Nag)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. भारतीय रेलवे ने चीनी कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट को किया रद्द, फर्म ने मामले में किया मुकदमा

Go to Top