सर्वाधिक पढ़ी गईं

Covid-19 Vaccine: Pfizer ने मांगी इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी, लेकिन आसान नहीं है रख रखाव

Covid-19 Vaccine: फार्मा कंपनी फाइजर की भारतीय यूनिट ने कोविड-19 वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी के लिए आवेदन किया है.

December 6, 2020 11:16 AM
Pfizer corona vaccine emergency useCovid-19 Vaccine: फार्मा कंपनी फाइजर की भारतीय यूनिट ने कोविड-19 वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी के लिए आवेदन किया है.

Covid-19 Vaccine: फार्मा कंपनी फाइजर (Pfizer) की भारतीय यूनिट ने उसके द्वारा विकसित कोविड-19 (COVID-19) वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी के लिए भारतीय औषधि महानियंत्रक (DCGI) के समक्ष आवेदन किया है. फाइजर इंडिया ऐसी पहली कंपनी है, जिसने भारत में कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी DCGI से मांगी है. फाइजर ने उसके कोविड-19 टीके को ब्रिटेन और बहरीन में ऐसी ही मंजूरी मिलने के बाद यह अनुरोध किया है. वहीं, दवा कंपनी पहले ही अमेरिका में ऐसी ही मंजूरी के लिए आवेदन कर चुकी है. हालांकि इस वैक्सीन को -70 डिग्री सेल्सियस पर रखने की जरूरत को देखते हुए भारत में स्टोरेज एक बड़ी चुनौती होगी.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दवा नियामक को दायर किए गए अपने आवेदन में कंपनी ने देश में टीके के आयात एवं वितरण के संबंध में मंजूरी दिए जाने का अनुरोध किया है. इसके अलावा, दवा एवं क्लीनिकल परीक्षण नियम, 2019 के विशेष प्रावधानों के तहत भारत की आबादी पर क्लीनिकल परीक्षण की छूट दिए जाने का भी अनुरोध किया है.

4 दिसंबर को किया आवेदन

एक सूत्र का कहना है कि फाइजर इंडिया ने भारत में उसके कोविड-19 टीके के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी के लिए 4 दिसंबर को DCGI के समक्ष आवेदन किया है. ब्रिटेन ने बुधवार को फाइजर के कोविड-19 टीके को आपातकालीन उपयोग के लिए अस्थायी मंजूरी प्रदान की थी. ब्रिटेन के बाद बहरीन शुक्रवार को दुनिया का दूसरा देश बन गया है जिसने दवा निर्माता कंपनी फाइजर और उसके जर्मन सहयोगी बायोएनटेक द्वारा विकसित कोविड-19 टीके के आपात इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी दी है.

वैक्सीन का रख रखाव बड़ी चुनौती

वैसे फाइजर की इस वैक्सीन को -70 डिग्री सेल्सियस पर रखने की जरूरत पड़ रही है. ऐसे में भारतीय परिस्थितियों में किसी चुनौती से कम नहीं और यही कारण है कि भारत में अभी तक फाइजर के टीके का क्लिनिकल ट्रायल भी नहीं हुआ है. बता दें कि केंद्र सरकार ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका के टीके पर निगाहें टिकाए है. भारत में सीरम इंस्टिट्यूट इसकी लोकल पार्टनर है और चर्चा है कि इस वैक्‍सीन को अगले कुछ दिनों में इमर्जेंसी यूज की इजाजत भी मिल जाए.

रूस के मॉस्को में कोरोना वैक्सीनेशन शुरू

रूस की राजधानी मॉस्को में शनिवार को कोविड-19 के टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत हो गई है. जानकारी के अनुसार, यह टीका सबसे पहले उन लोगों को दिया जा रहा है, जिनके संक्रमित होने का खतरा सबसे ज्यादा है. रूस अपने ही देश में विकसित ‘स्पूतनिक वी’ नामक टीके का उपयोग कर रहा है. कोरोना वायरस संक्रमण टीकाकरण के लिए ज्यादा जोखिम वाले समूहों में शामिल हजारों की संख्या में चिकित्सकों, शिक्षकों एवं अन्य लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Covid-19 Vaccine: Pfizer ने मांगी इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी, लेकिन आसान नहीं है रख रखाव

Go to Top