मुख्य समाचार:

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत, 12 और 14 पैसे प्रति लीटर हुआ सस्ता

पेट्रोलियम मार्केटिंग कंपनियों ने वैश्विक कीमतों में गिरावट के रुख अनुरूप पेट्रोल-डीजल के दाम घटाए हैं.

Updated: Mar 15, 2020 3:21 PM
Petrol price cut by 12 paise/litre, diesel by 14 paiseImage: PTI

Petrol-Diesel Price: पेट्रोल कीमतों में रविवार को 12 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई. वहीं डीजल के दाम 14 पैसे प्रति लीटर घटाए गए. पेट्रोलियम मार्केटिंग कंपनियों ने वैश्विक कीमतों में गिरावट के रुख अनुरूप पेट्रोल-डीजल के दाम घटाए हैं. सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों की अधिसूचना के अनुसार दिल्ली में अब पेट्रोल का दाम 69.75 रुपये प्रति लीटर और डीजल 62.44 रुपये प्रति लीटर पर आ गया है.

उद्योग सूत्रों ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती कहीं ऊंची रहती, लेकिन सरकार ने शनिवार को ईंधन पर उत्पाद शुल्क में तीन रुपये प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी कर दी है. पेट्रोलियम कंपनियों का कहना है कि वे खुदरा कीमतों में कटौती कम रख रही हैं क्योंकि इन पर उत्पाद शुल्क बढ़ाया गया है. इन कंपनियों ने कहा कि उन्हें जो लाभ हुआ है, उसे मूल्य वृद्धि के साथ समायोजित किया गया है. उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी की वजह से ऐसा करना जरूरी है.

पेट्रोल-डीजल पर अब कितना हुआ उत्पाद शुल्क

सरकार ने शनिवार को पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में तीन-तीन रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की घोषणा की. इससे सरकार को 39,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त राजस्व मिलेगा. केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार पेट्रोल पर विशेष उत्पाद शुल्क दो रुपये बढ़ाकर आठ रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है. वहीं डीजल पर यह शुल्क दो रुपये बढ़कर अब चार रुपये प्रति लीटर हो गया है. इसके अलावा पेट्रोल और डीजल पर लगने वाला रोड सेस भी एक-एक रुपये प्रति लीटर बढ़ाकर 10 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है. इस वृद्धि के बाद पेट्रोल पर अब सेस सहित सभी तरह का उत्पाद शुल्क 22.98 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 18.83 रुपये प्रति लीटर हो गया है.

मोबाइल फोन खरीदना हो सकता है महंगा, GST 12% से बढ़ाकर 18% किया गया

मोदी कार्यकाल में कितना बढ़ा उत्पाद शुल्क

नरेंद्र मोदी सरकार ने जब पहली बार 2014 में सत्ता संभाली थी उस समय पेट्रोल पर कर की दर 9.48 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 3.56 रुपये प्रति लीटर थी. सरकार ने नवंबर 2014 से जनवरी 2016 के दौरान पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में नौ बार बढ़ोत्तरी की है. इन 15 माह की अवधि के दौरान पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 11.77 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 13.47 रुपये प्रति लीटर बढ़ाया गया. इससे 2016-17 में सरकार का उत्पाद शुल्क संग्रह 2014-15 के 99,000 करोड़ रुपये से दोगुना से अधिक होकर 2,42,000 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत, 12 और 14 पैसे प्रति लीटर हुआ सस्ता

Go to Top