मुख्य समाचार:

सीमा शुल्क बढ़ाने के फैसले से पाकिस्तान को आर्थिक चोट, भारत में आयात 92% घटा

दोनों देशों के बीच बुरे संबंधों से सिर्फ पाकिस्तान के कारोबारी ही नहीं प्रभावित हुए बल्कि इसका प्रभाव भारत पर भी पड़ा है.

Updated: Jun 09, 2019 5:18 PM
भारत पाकिस्तान, भारत पाकिस्तान कारोबार, भारतीय निर्यात, पाकिस्तानी निर्यात, pakistan export, pakistan import, india pakistan trade, pakistan tariff, india tariff, india against pakistan, import from pakistan, import goods from pakistan, export goods to pakistan, border tax,मार्च में भारतीय निर्यात भी 32 फीसदी घटा है लेकिन पूरे साल में यह बढ़ा है.

पाकिस्तान से भारत में आयात इस साल मार्च में 92 प्रतिशत घटकर सिर्फ 19.70 करोड़ रुपये (28.4 लाख डॉलर) का रहा. आतंकी हमले के बाद इस साल 16 फरवरी को पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी आर्थिक कार्रवाई करते हुए भारत ने पड़ोसी देश से आयातित सभी वस्तुओं पर सीमा शुल्क बढ़ाकर 200 प्रतिशत कर दिया था. इसकी वजह से पाकिस्तान से होने वाले आयात में भारी कमी आई है. इन वस्तुओं में कपास, ताजा फल, सीमेंट, पेट्रोलियम उत्पादन तथा खनिज शामिल हैं.

पिछले साल मार्च में 240 करोड़ का आयात

कॉमर्स मिनिस्ट्री के आंकड़ों के मुताबिक पड़ोसी देश पाकिस्तान से पिछले साल मार्च में करीब 240 करोड़ रुपये (3.46 करोड़ डॉलर) का आयात हुआ था. इस साल मार्च में कुल 19.70 करोड़ रुपये (28.4 लाख डॉलर) में से 8.25 करोड़ रुपये (11.9 लाख डॉलर) का कपास आयात किया गया. पड़ोसी देश से मार्च महीने में मुख्य रूप से जो जिंस आयात किये गये, उसमें प्लास्टिक, बुने कपड़े, परिधान के सामाल, कपड़ा, मसाला, रसायन आदि शामिल हैं. वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान पाकिस्तान से आयात 47 प्रतिशत घटकर 372 करोड़ रुपये (5.36 करोड़ डॉलर) रहा.

मार्च में भारतीय निर्यात भी 32 फीसदी घटा

ऐसा नहीं है कि दोनों देशों के बीच बुरे संबंधों से सिर्फ पाकिस्तान के कारोबारी प्रभावित हुए बल्कि इसका प्रभाव भारत पर भी पड़ा है. मार्च में भारतीय निर्यात भी करीब 32 प्रतिशत घटकर 1188 करोड़ रुपये (17.13 करोड़ डॉलर) रहा. हालांकि पूरे वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान निर्यात 7.4 प्रतिशत बढ़कर 13.9 हजार करोड़ रुपये (200 करोड़ डॉलर) रहा. भारत से निर्यात किये जाने वाले जिंसों में जैविक रसायन, कपास, परमाणु रिएक्टर, बॉयलर, प्लास्टिक उत्पाद, अनाज, चीनी, कॉफी, चाय, लौह और स्टील के सामाल तथा तांबा आदि शामिल हैं.

विशेषज्ञों के अनुसार कुछ घरेलू विनिर्माता निर्यातक पाकिस्तान से उत्पादों खासकर कच्चे माल के आयात के लिये अग्रिम अनुज्ञप्ति योजना (एडवांस ऑथराइजेशन स्कीम) के तहत शून्य आयात शुल्क का लाभ ले सकते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. सीमा शुल्क बढ़ाने के फैसले से पाकिस्तान को आर्थिक चोट, भारत में आयात 92% घटा

Go to Top