मुख्य समाचार:
  1. प्रधानमंत्री आवास योजना: अब खरीदिए बड़े घर

प्रधानमंत्री आवास योजना: अब खरीदिए बड़े घर

देश में व्यापक विकास के लिए MIG-I और MIG-II ऐसे खंड हैं जिन्हें अपने बजट के भीतर आवास तक पहुंचने के लिए अधिकतम सरकारी सहायता की जरुरत है. इस कदम से देश भर में ऐसे खरीदारों को बहुत सहांयता मिलने की उम्मीद की जा रही है.

June 13, 2018 6:50 PM
मोदी सरकार की चर्चित योजनाओं में से एक प्रधानमंत्री आवास योजना को और प्रभावशाली बनाने के लिए सरकार ने इसमें कुछ बदलाव किए है. (PMAY)

मोदी सरकार की चर्चित योजनाओं में से एक प्रधानमंत्री आवास योजना को और प्रभावशाली बनाने के लिए सरकार ने इसमें कुछ बदलाव किए है. किफायती आवास के साथ-साथ निर्माण क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत मध्यम आय समूह (MIG) के लिए क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (सीएलएसएस) के अंतर्गत सब्सिडी के योग्य माने जाने वाले घरों के लिए कारपेट एरिया में बढ़ोतरी की है. MIG-I के अंतर्गत आने वाले लोगों के लिए पहले कारपेट एरिया 120 वर्ग मीटर तक मान्य था जिसे बढाकर 160 वर्ग मीटर तक कर दिया गया है. इसी प्रकार MIG-II के लिए कारपेट एरिया को ‘150 वर्ग मीटर तक’ से बढ़ाकर ‘200 वर्ग मीटर तक’ कर दिया गया है.

देश में व्यापक विकास के लिए MIG-I और MIG-II ऐसे खंड हैं जिन्हें अपने बजट के भीतर आवास तक पहुंचने के लिए अधिकतम सरकारी सहायता की जरुरत है. इस कदम से देश भर में ऐसे खरीदारों को बहुत सहांयता मिलने की उम्मीद की जा रही है. कोलिअर्स इंटरनेशनल इंडिया के सीनियर डायरेक्टर-वैल्यूएशन एंड एडवाइजरी सर्विसेज आशीष अग्रवाल कहते हैं, “क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम के तहत ब्याज लाभ के लिए कारपेट एरिया को बढ़ाने का निर्णय सरकारी योजनाओं के लाभार्थी आधार का विस्तार करने की दिशा में एक और कदम है.

MIG-1 (6-12 लाख रुपये) और MIG-2 (12 से 18 लाख रुपये) श्रेणियों के भीतर आय वाले ऐसे परिवार के लिए यह दुखद खबर है, जिन्होंने 120 और 150 वर्गमीटर से बड़ा घर खरीद लिया होगा तो क्योंकि वह लोग सरकार द्वारा मुहैया कराई जाने वाली सब्सिडी से वंचित रह गए होंगे. इसके अलावा, कम ब्याज दर पर घर देने की वजह से किराए पर रहने वाले लोगों को अपना घर खरीदने का बढ़ावा मिलेगा और बिल्डरों को अपने सेल्स बढ़ाने में भी मदद मिलेगी.

Go to Top