सर्वाधिक पढ़ी गईं

PM-Kisan, मनरेगा के फंड में नहीं हुई कटौती; वित्त मंत्री ने कहा- जितनी मांग आएगी, उतना देंगे पैसा

वित्त मंत्री ने कहा कि पीएम किसान हो, स्वास्थ्य क्षेत्र हो या शिक्षा क्षेत्र, कौशल विकास, आवास अथवा पानी उपलब्ध कराने की योजना हो किसी भी मद में आवंटन कम नहीं किया गया है.

Updated: Feb 03, 2020 7:21 PM
no cut in pm kisan mgnrega fund in budget 2020 to allocate as per demand says finance minister Nirmala Sitharamanवित्त वर्ष 2020- 21 में पीएम किसान के लिये पिछले साल के बराबर 75,000 करोड़ रुपये का ही प्रावधान किया गया है.

Budget 2020: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि बजट में कृषि और ग्रामीण विकास समेत किसी भी योजना के लिए आवंटित रकम में कोई कटौती नहीं की गई है. उन्होंने यह भी कहा कि जरूरत पड़ने पर कल्याणकारी योजनाओं के लिये राशि बढ़ाई जा सकती है. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के लिये बजट में अगले साल के लिये कम प्रावधान किए जाने से जुड़े सवाल के जवाब में वित्त मंत्री ने यह बात कही.

वित्त मंत्री ने स्पष्ट कहा, ‘‘चाहे मनरेगा हो या फिर पीएम किसान (प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि) योजना, कोई भी प्रमुख योजना है, हमने किसी भी योजना के लिये बजट कम नहीं किया है बल्कि कई योजनाओं में राशि बढ़ाई गई है.’’

बजट दस्तावेज के अनुसार मनरेगा के लिये 2020-21 में बजट आवंटन 61,500 करोड़ रुपये रखा गया है जबकि 2019-20 के संशोधित अनुमान में यह राशि 60,000 करोड़ रुपये के बजट अनुमान के मुकाबले बढ़कर 71,001.81 करोड़ रुपये तक पहुंच गई. सीतारमण ने कहा, ‘‘ये योजनाएं मांग आधारित है, इसमें कम ज्यादा आवंटन का सवाल नहीं है, जितनी मांग आएगी, उतना पैसा जारी किया जाएगा.’’

मनरेगा में बजट से ज्यादा खर्च

मनरेगा योजना में तय बजट के मुकाबले चालू वित्त वर्ष में अधिक खर्च होने के मद्देनजर यह पूछे जाने पर कि क्या ग्रामीण क्षेत्रों में मांग बढ़ रही है, क्या लोग शहरों से गांवों की तरफ जा रहे हैं? जवाब में वित्त मंत्री ने कहा कि यदि ऐसा है तो इसका अध्ययन करेंगे. इस मुद्दे पर गौर करेंगे.

Budget 2020: टैक्स छूट लेने का फैसला क्या करदाताओं पर छोड़ देना चाहिए?

दूसरी तरफ सरकार की महत्वकांक्षी योजना पीएम किसान के तहत चालू वित्त वर्ष के दौरान तय बजट के मुकाबले संशोधित अनुमान कम रहने के बावजूद 2020- 21 के लिये पिछले साल के बराबर 75,000 करोड़ रुपये का ही प्रावधान किया गया है. वर्ष 2019-20 में पीएम किसान योजना के तहत 75,000 करोड़ रुपये के बजट प्रावधान के मुकाबले संशोधित अनुमान 54,370.15 करोड़ रुपये रहा है. इस योजना के तहत पात्र किसानों को तीन समान किस्तों में कुल 6,000 रुपये सालाना दिये जाते हैं.

स्वास्थ्य, शिक्षा, ग्रामीण विकास सभी पर फोकस

वित्त मंत्री ने कहा कि पीएम किसान हो, स्वास्थ्य क्षेत्र हो या शिक्षा क्षेत्र, कौशल विकास, आवास अथवा पानी उपलब्ध कराने की योजना हो किसी भी मद में आवंटन कम नहीं किया गया है. कृषि और ग्रामीण विकास मंत्रालय के लिये 2.83 लाख करोड़ रुपये तय किये गये हैं. बजट में 2020-21 के लिए सभी घरों में नज से शुद्ध पेयजल सुलभ कराने की महत्वाकांक्षी जल जीवन मिशन योजना के लिए 11,500 करोड़ रुपये, स्वच्छ भारत मिशन के लिए 12,300 करोड़ रुपये, शिक्षा क्षेत्र के लिए 99,300 करोड़ रुपये और कौशल विकास के लिए 3000 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. बजट 2020
  3. PM-Kisan, मनरेगा के फंड में नहीं हुई कटौती; वित्त मंत्री ने कहा- जितनी मांग आएगी, उतना देंगे पैसा

Go to Top