मुख्य समाचार:

निसर्ग चक्रवात: गुजरात, महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में अलर्ट, 100-125 किमी/घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं; PM की नजर

IMD का कहना है कि अरब सागर में गहरे दबाव दबाव का क्षेत्र सक्रिय है जो आगे चलकर तीव्र चक्रवाती तूफान में बदलने वाला है. उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात के तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है.

Updated: Jun 02, 2020 8:55 PM
Nisarga Cyclone to hit north Maharashtra and south Gujarat coasts including mumbai IMD NDRF latest updatesदो हफ्ते में ही देश में दूसरा चक्रवात भारतीय तटों की ओर बढ़ रहा है. इससे पहले, इससे पहले बंगाल की खाड़ी में उठे तूफान अम्फान ने पश्चिम बंगाल में भारी तबाही मचाई थी. (Image: PTI)

Nisarga Cyclone: भारत एक हफ्ते में दूसरे चक्रवात का सामना करने जा रहा है. इस बार अरब सागर से उठा चक्रवात ‘निसर्ग’ गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से टकराकर गुजरेगा. भारत मौसम विभाग (IMD) का कहना है कि अरब सागर में गहरे दबाव दबाव का क्षेत्र सक्रिय है जो आगे चलकर तीव्र चक्रवाती तूफान में बदलने वाला है. 3 जून को दोपहर में यह महाराष्ट्र के समुद्री तट को पार करेगा. उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात के तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग के अनुसार, चक्रवात का असर मुंबई में भी होगा.

IMD के अनुसार, चक्रवात का नाम निसर्ग बांग्लादेश की ओर से दिया गया है. मंगलवार रात यह चक्रवाती तूफान विकराल रूप धारण कर सकता है. आईएमडी ने रविवार को ऑरेंज अलर्ट जारी किया था लेकिन चक्रवात की तीव्रता को आंकते हुए सोमवार को इसे रेड अलर्ट में अपग्रेड कर दिया गया. दो हफ्ते में ही देश में दूसरा चक्रवात भारतीय तटों की ओर बढ़ रहा है. इससे पहले, इससे पहले बंगाल की खाड़ी में उठे तूफान अम्फान में पश्चिम बंगाल में भारी तबाही मचाई थी. अम्फान ने ओडिशा में भी नुकसान पहुंचाया था.

पीएम मोदी की है नजर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चक्रवात निसर्ग पर नजर है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”भारत के पश्चिमी तट के कुछ हिस्सों में चक्रवात की स्थिति के मद्देनजर स्थिति का जायजा लिया. मैं सभी की कुशलता के लिए प्रार्थना करता हूं. लोगों से हर संभव सावधानी और सुरक्षा उपाय बरतने का आग्रह भी करता हूं.”


निसर्ग की स्थिति को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की है और हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, पीएम ने दमन, दीव, दादरा व नागर हवेली के एडमिनिस्ट्रेटर से भी बात की है. नवसारी, गुजरात की जिला कलक्टर का कहना है कि भारत के मौसम विभाग द्वारा जारी अलर्ट के अनुसार संभावना है कि आज रात या 4 जून की सुबह तक चक्रवात निसर्ग नवसारी क्षेत्र में टकरा सकता है. सभी आवश्यक उपाय किए गए हैं.

125 किमी/घंटे तक की रफ्तार से हवाएं, भारी बारिश

IMD के डिप्टी डीजी आनंद शर्मा का कहना है कि दक्षिण गुजरात और उत्तरी महाराष्ट्र में निसर्ग का ज्यादा असर देखने को मिलेगा. 100-125 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. कुछ इलाकों में भारी और अत्यधिक भारी वर्षा की चेतावनी दी गई है. ये अम्फान से कम खतरनाक होगा. 3 तारीख को इसका ज्यादा असर दिखाई देगा. आईएमडी के अनुसार, चक्रवात इस वक्त मुंबई से 490 किमी और सूरत से 710 किमी दूर दक्षिण पश्चिम की ओर केंद्रित है. यह तीन जून को रायगढ़ जिले में हरिहरेश्वर और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और गुजरात तटों को पार करेगा.

गुजरात, महाराष्ट्र में NDRF की टीमें तैनात

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की 15 टीमों को महाराष्ट्र में निसर्ग चक्रवात के मद्देनजर तैनात किया गया है. मुंबई में 3 टीमें, रायगढ़ में 4 टीमें, पालघर, ठाणे और रत्नागिरी में 2-2 टीमें और सिंधुदुर्ग और नवी मुंबई में 1-1 टीम तैनात की गई हैं. गुजरात में कुल 16 टीमें तैनात होंगी और 2 टीमें स्टैंडबाय पर होंगी. महाराष्ट्र में 10 टीमें तैनात होंगी और स्टैंडबाय पर 6 टीमें होंगी. हर टीम की जरूरत के हिसाब से नाव दी गई हैं। पेड़ों को काटने के लिए और इमारतें गिरने पर हमारे पास बचाव के सारे औजार हैं।PPEकिट्स, सेनिटाइजर भी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. निसर्ग चक्रवात: गुजरात, महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में अलर्ट, 100-125 किमी/घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं; PM की नजर

Go to Top