मुख्य समाचार:
  1. PNB Scam: नीरव मोदी की बहन कई फर्जी कंपनियों की थी मालकिन, भाई के लिए कराई मनी लॉन्ड्रिंग

PNB Scam: नीरव मोदी की बहन कई फर्जी कंपनियों की थी मालकिन, भाई के लिए कराई मनी लॉन्ड्रिंग

मनी लॉन्ड्रिंग के अलावा, पूर्वी मोदी ने अपने स्वामित्व वाली फर्जी कंपनियों के नाम पर विदेशों में संपत्तियां भी खरीदी.

September 11, 2018 12:48 PM
Nirav Modi sister purvi modi, PNB Scam, Mehul Chouksi, Purvi Modi fraud, PNB Fraud, PNB Scam Updates, PNB Scam latest newsमनी लॉन्ड्रिंग के अलावा, पूर्वी मोदी ने अपने स्वामित्व वाली फर्जी कंपनियों के नाम पर विदेशों में संपत्तियां भी खरीदी. (Image: Nirav Modi website)

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की बहन पूर्वी दीपक मोदी कई फर्जी कंपनियों की मालकिन और निदेशक थीं, जिसका मकसद मनी लॉन्ड्रिंग करना था और अपराध के दौरान उसे इसका सीधा फायदा हुआ. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. इंटरपोल ने पूर्वी मोदी के खिलाफ करीब 14,000 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले में सोमवार को नोटिस जारी किया. इस मामले में नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी इस मामले में मुख्य आरोपी हैं.

Nirav Modi sister purvi modi, PNB Scam, Mehul Chouksi, Purvi Modi fraud, PNB Fraud, PNB Scam Updates, PNB Scam latest newsइंटरपोल ने पूर्वी मोदी के खिलाफ करीब 14,000 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले में सोमवार को नोटिस जारी किया. (ANI)

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के एक अधिकारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, “पूर्वी मोदी ने पीएनबी घोटाले के जरिए किए जाने वाले अपराध के दौरान मनी लॉन्ड्रिंग करने में बड़ी भूमिका निभाई. उसे घोटाले की राशि का लगभग 13.3 करोड़ डॉलर का फायदा हुआ.” मनी लॉन्ड्रिंग के अलावा, पूर्वी मोदी ने अपने स्वामित्व वाली फर्जी कंपनियों के नाम पर विदेशों में संपत्तियां भी खरीदी.

उन्होंने कहा, “वह कंपनियों के जरिए अपराध की प्रक्रिया के दौरान मनी लॉन्ड्रिंग करने वाली कंपनियों की मालकिन/निदेशक थी. कंपनी का नाम फाइन क्लासिक एफजीई(यूएई), लिली माउंटेन इंवेस्टमेंट, प्रिस्टन होल्डिंग लिमिटेड, नोवेलार इंटरनेशनल होल्डिंग्स लिमिटेड, इस्लंगटन इंटरनेशनल होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड और बेलवेडरे ग्रुप होल्डिंग्स है.”

ये भी पढ़ें… PNB घोटाला: फंस गई नीरव मोदी की बहन, ‘रेड कॉर्नर नोटिस’ जारी

अधिकारी ने कहा, “इन कंपनियों में आपराधिक तरीके से इकट्ठे किए गए पैसे को बहुत ही जटिल तरीके से मैनेज किया गया था.” ईडी के अधिकारी ने यह बयान इंटरपोल द्वारा पूर्वी मोदी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में रेड कार्नर नोटिस जारी करने के तुरंत बाद दिया है. ईडी ने इंटरपोल से यह आग्रह किया था.

कोर्ट ने जारी किया है समन

इस साल अगस्त में, मुंबई की एक विशेष अदालत ने नीरव मोदी की बहन पूर्वी और भाई निशल को अदालत के समक्ष 25 सितंबर तक पेश होने के लिए समन जारी किया था. दोनों बेल्जियम के नागरिक हैं. अदालत ने यह भी कहा था कि अगर दोनों अदालत के समक्ष पेश होने में विफल रहते हैं तो नए भगोड़ा अपराधी अधिनियम के तहत उनकी संपत्ति जब्त की जा सकती है.

मोदी के सहयोगी खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस

इंटरपोल ने बीते सप्ताह नीरव मोदी के करीबी सहयोगी मिहिर भंसाली के विरुद्ध इसी मामले में रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था. ईडी ने खुलासा किया कि पूर्वी के नाम और उनके कंपनियों के नाम से बारबाडोस, मॉरीशस, स्विट्जरलैंड, सिंगापुर, ब्रिटेन और हांगकांग जैसे देश में बैंक खाते खोले गए. उन्होंने कहा, “पीएनबी से गबन किए गए 500 करोड़ रुपये की राशि उपर्युक्त कंपनियों के माध्यम से विदेश प्रत्यक्ष निवेश(एफडीआई) के जरिए फायरस्टार इंडिया में निवेश किए गए।”

Go to Top