मुख्य समाचार:
  1. रेल का सफर होगा आसान: जल्द लांच होंगी हमसफर, अंत्योदय एक्सप्रेस, ट्रेन 18 और उदय एक्सप्रेस की नई ट्रेनें

रेल का सफर होगा आसान: जल्द लांच होंगी हमसफर, अंत्योदय एक्सप्रेस, ट्रेन 18 और उदय एक्सप्रेस की नई ट्रेनें

New trains : हमसफर ट्रेन, अत्योदय एक्सप्रेस, ट्रेन 18, और उदय एक्सप्रेस की नई ट्रेन होंगी लॉन्च.

April 23, 2019 9:42 AM
new trains of indian railway launched in 2019 humsafar antyodaya and uday express trainsभारतीय रेल की 2019 में होंगी ये नई ट्रेन लॉन्च

New Trains : अब रेल का सफर और भी आरामदायक होने जा रहा है. इंडियन रेल 2019 में कई नई प्रीमियम ट्रेन लॉन्च होने जा रही हैं. भारतीय रेल पहले से लॉन्च हुई हमसफर ट्रेन अंत्योदय एक्सप्रेस और वंदे भारत जैसी ट्रेन की नई खेपें 2019 में पटरी पर उतारेगी. इन सभी ट्रेन की अपनी अलग खासियत है. अगले 2 साल में भारतीय रेल द्वारा 20 हमसफर एक्सप्रेस और 10 नई अंत्योदय एक्सप्रेस ट्रेन लॉन्च की जाएगी. आइये जानते हैं कि इन सभी ट्रेन की खासियत…..

हमसफर ट्रेन

9 मई 2018 को लॉन्च हुई हमसफर ट्रेन इलाहबाद से आनंद विहार के रूट पर चलती है. यह ट्रेन पूरी तरह से थर्ड एसी और एलएचबी कोच से युक्त है. इस हमसफर एक्सप्रेस में जीपीएस, सीसीटीवी कैमरा, ऑटोमेटिक स्मोक डिटेक्शन जैसी सुविधाएं हैं. हफ्ते में तीन दिन चलने वाली इस ट्रेन का एकमात्र ठहराव कानपुर स्टेशन पर होगा. इलाहबाद-आनंद विहार का शुरुआती किराया 1135 रुपये है.

इलाहबाद-आनंद विहार हमसफर एक्सप्रेस में सिर्फ थर्ड एसी के कोच हैं. सुरक्षा को देखते हुए हमसफर एक्सप्रेस के सभी कोच एलएचबी हैं. कोच में जीपीएस आधारित पैसेंजर इनफॉर्मेशन डिस्प्ले सिस्टम लगा हुआ है. हमसफर ट्रेन की 2019-20, 2020-21 में 10-10 नई खेपें पटरी पर उतारी जा सकती है.

अंत्योदय एक्सप्रेस

4 मार्च 2017 को लॉन्च हुई अंत्योदय एक्सप्रेस कोच्चि के एर्नाकुलम स्टेशन से हावड़ा स्टेशन के बीच शुरू हुई थी. यह पहली ऐसी सुपरफास्ट ट्रेन है, जो पूरी तरह अनरिजर्व्ड कैटेगरी में आती है. अंत्योदय एक्सप्रेस की रफ्तार 130 किमी प्रति घंटे है. इसका बेस फेयर मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों से महज 15 फीसदी ज्यादा बताया गया. 22 डिब्बों वाली यह ट्रेन 2,307 किलोमीटर की दूरी 37 घंटों में तय करती है. इस ट्रेन में सामान रखने के लिए गद्दीदार रैक हैं जिन्हें सीट की तरह भी इस्तेमाल किया जा सकेगा.

इस ट्रेन के हर कोच में आरओ लगा है. इसके अलावा मोबाइल चार्जिंग सुविधा, मॉड्यूलर टॉयलेट, टॉयलेट इस्तेमाल होने की जानकारी देने वाला डिस्प्ले, एलईडी लाइट जैसी सुविधाएं भी है.2019-20, 2020-21 में अंत्योदय एक्सप्रेस की में 10-10 नई खेपें पटरी पर उतारी जा सकती है.

उदय एक्सप्रेस

उदय एक्सप्रेस का ऐलान 2016 के रेल बजट में किया गया था. उदय एक्सप्रेस मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत भारत में तैयार की गई है. उदय एक्सप्रेस की अधिकतम स्पीड 110 किलोमीटर रहेगी. यह ट्रेन पूरी तरह से डबल डेकर एसी चेयरकार है सामान्य से 40 फीसदी अधिक यात्री ले जाने में सक्षम है. ट्रेन के एक कोच में 120 सीट रहेगी जिसमें खाने, चाय और कोल्ड ड्रिंक्स के लिए वेंडिंग मशीन की सुविधा है. ट्रेन में वाई-फाई, एलसीडी स्क्रीन और बायो टॉयलेट जैसी सुविधाएं दी गई हैं.

पहला उदय एक्स्प्रेस कोयम्बटूर और बंगलुरू के बीच चलेगी. कोयम्बटूर और बंगलुरू के बीच ट्रेन का ट्रायल पूरा हो चुका है. इन दोनों शहरों के बीच कारोबार के सिलसिले में बड़ी संख्या में लोगो यात्रा करते हैं. अगली उदय एक्सप्रेस किस रूट पर चलाई जाएगी इसकी अभी तक घोषणा नहीं की गई है. लेकिन नई उदय एक्सप्रेस आचार संहिता खत्म होने के बाद चालू की जा सकती है.

वंदे भारत एक्सप्रेस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 फरवरी 2019 को भारत की पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) -T18- को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था. यह ट्रेन दिल्ली से वाराणसी का सफर 8 घंटे में पूरा करती है. मेक इन इंडिया के तहत बनी ये ट्रेन देश की पहली इंजनलेस ट्रेन है और हफ्ते में 5 दिन चलती है. दिल्ली से वाराणसी जाने वाली इस ट्रेन की रफ्तार 160kmph है.

16 कोच वाली इस ट्रेन को केवल 18 महीनों में चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री ने तैयार किया है. इसकी लागत 97 करोड़ रुपये आई थी. वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की 10 नई खेप पटरी पर उतारी जाएंगी. इंटीग्रल कोच फैक्टरी (ICF) के अधिकारी के अनुसार, पहली वंदे भारत ट्रेन एक प्रोटोटाइप (सैंपल) थी. इस ट्रेन से जो भी फीडबैक आए हैं उनके आधार पर नई खेप को मॉडिफाई किया जाएगा. वंदे भारत की पहली खेप का ऑपरेशन मई में शुरू होगा. सूत्रों के मुताबिक, वंदे भारत की मई में पहली खेप चलने के बाद सिर्फ 3 और ट्रेन को इस साल लॉन्च किया जाएगा

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop